Hindi News »National »Latest News »National» Defence Council Cleared Rs 3,547 Cr Fund For Purchase Of Assault Guns

आर्मी को मिलेंगी 1.66 लाख असॉल्ट राइफल और कारबाइन, साढ़े तीन हजार करोड़ का फंड मंजूर

भारत सरकार बॉर्डर पर तैनात जवानों के लिए एक लाख 66 हजार नई राइफलें और कारबाइन खरीदेगी।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 16, 2018, 09:55 PM IST

  • आर्मी को मिलेंगी 1.66 लाख असॉल्ट राइफल और कारबाइन, साढ़े तीन हजार करोड़ का फंड मंजूर, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    डिफेंस एक्वजिशन पैनल ने 3,547 करोड़ का फंड मंजूर किया। -फाइल

    नई दिल्ली.भारत सरकार बॉर्डर पर तैनात आर्मी जवानों के लिए एक लाख 66 हजार नई असॉल्ट राइफल और कारबाइन खरीदेगी। इसके लिए रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में डिफेंस काउंसिल ने मंगलवार को 3.5 हजार करोड़ के रक्षा सौदे को मंजूरी दी। नए हथियार अगले 7 साल में जवानों को मुहैया कराए जाएंगे। इसके बाद लंबी दूरी से भी LoC पर घुसपैठियों को निशाना लगाकर ढेर किया जा सकेगा। बता दें कि आर्मी ने पिछले साल भारत में बनी एक्सकैलिबर राइफल को रिजेक्ट कर दिया था।

    रक्षा मंत्री की अध्यक्षता में हुई मीटिंग

    - न्यूज एजेंसी के मुताबिक, डिफेंस एक्वजिशन पैनल ने 3,547 करोड़ का फंड मंजूर किया। इससे भारतीय सेना के जवानों के लिए 72,400 राइफल और 93,895 कारबाइन खरीदी जाएंगी। मीटिंग में हथियारों की कमी को जल्द से जल्द पूरा करने का फैसला लिया गया।

    रक्षा सौदे में आगे क्या होगा?

    - अब डिफेंस कमेटी गन्स को शॉर्टलिस्ट करने के लिए ट्रायल कराएगी। इसमें डीआरडीओ समेत दुनिभर की कंपनियों की गन्स की कैपिसिटी देखी जाएगी। इसके बाद रक्षा सौदे के लिए संबंधित कंपनियों से कॉन्ट्रैक्ट होगा। माना जा रहा है कि आने वाले 7 साल में जवानों के हाथों में नई राइफल होंगी।

    11 साल से महसूस की जा रही थी जरूरत

    - बता दें कि भारतीय सेना में 11 साल पहले जवानों के लिए नए हथियार खरीदने की जरूरत महसूस की गई थी। इसके लिए केवल एक ही बार पिछले साल कोशिश हुई, लेकिन इस दौरान सिर्फ एक कंपनी ने बोली लगाई और प्रोसेस यहीं खत्म हो गई।

    आर्मी ने इस राइफल को रिजेक्ट किया था

    - पिछले साल आर्मी ने ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड के द्वारा बनाई असॉल्ट राइफल, एक्सकैलिबर को रिजेक्ट कर दिया था। इसे इंसास राइफल (5.56mm) का रिप्लेसमेंट समझा जा रहा था।

    जवानों के पास कौन-कौन सी राइफल हैं?

    - फिलहाल, आर्मी जवानों के पास AK-47 और भारत में बनीं इंसास या स्मॉल आर्म्स सिस्टम राइफल हैं। इनमें से कुछ राइफल 1988 में जवानों को मिली थीं।

    - इन्हें जल्द ही असॉल्ट राइफल और हाई कैपिसिटी की कारबाइन से रिप्लेस किया जाना है, ताकि जवान घुसपैठ के वक्त लंबी दूरी तक निशाना साध सकें।

  • आर्मी को मिलेंगी 1.66 लाख असॉल्ट राइफल और कारबाइन, साढ़े तीन हजार करोड़ का फंड मंजूर, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    आर्मी जवानों के लिए 72,400 राइफल और 93,895 कारबाइन खरीदी जाएंगी। -फाइल
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Defence Council Cleared Rs 3,547 Cr Fund For Purchase Of Assault Guns
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×