Hindi News »National »Latest News »National» Don Dawood Ibrahim Plan To Kill Chhota Rajan In Tihar Jail

डी कंपनी ने तिहाड़ जेल में छोटा राजन को मारने के लिए दिल्ली के डॉन को दी सुपारी

गैंगस्टर नीरज बवाना को छोटा राजन को मारने की सुपारी दी गई है। फिलहाल वह दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Dec 28, 2017, 09:35 AM IST

डी कंपनी ने तिहाड़ जेल में छोटा राजन को मारने के लिए दिल्ली के डॉन को दी सुपारी, national news in hindi, national news

नई दिल्ली.अपने दुश्मन अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन को खत्म करने के लिए डी कंपनी ने दिल्ली के डॉन नीरज बवाना से हाथ मिला लिया है। इसकी पुष्टि खुफिया एजेंसी ने तिहाड़ एडमिनिस्ट्रेशन को अलर्ट जारी करते हुए की है। इसके बाद होम मिनिस्ट्री ने तिहाड़ प्रशासन की अापातकालीन बैठक ली है। उधर, खुफिया एजेंसी ने जानकारी मिलने के बाद तिहाड़ में छोटा राजन की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

डी कंपनी ने दी सुपारी

- पैसा लेकर हत्या करने, रंगदारी और जमीन पर कब्जे के लिए मशहूर नीरज को अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम ने छोटा राजन को मारने की सुपारी दी है। छोटा राजन की सुपारी लेने के बाद से ही नीरज और उसके साथी तिहाड़ में बंद छोटा राजन पर हमला करने की साजिश रच रहे थे।
- यह जानकारी खुफिया एजेंसी को मिल गई। नीरज को सुपारी देने की एक खास वजह यह बताई जा रही है कि तिहाड़ में बंद दुश्मनों को नीरज ने सजा के दौरान ही खत्म कर दिया था, जिससे डी कंपनी बहुत खुश है।

अब दिल्ली का सबसे बड़ा गैंगस्टर बन गया है नीरज

- 2004 में पहला कत्ल करने वाला नाबालिग नीरज बवाना अब दिल्ली का सबसे बड़ा गैंगस्टर बन चुका है। बवानिया अमेरिकी ऑटोमेटिक हथियार रखने के लिए मशहूर है। यही नहीं, नीरज को दिल्ली में फिरौती का किंग भी कहा जाता है। वह हत्या, किडनैपिंग और जबरन उगाही सहित 100 से ज्यादा मामलों में वांटेड था। - पुलिस ने उस पर एक लाख का इनाम घोषित करते हुए मकोका लगाया था। नीरज से डरकर दिल्ली के कई कांग्रेसी विधायकों ने तब सीएम शीला दीक्षित से सुरक्षा की गुहार लगाई थी। जिसके बाद दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने उसे गिरफ्तार लिया। नीरज फिलहाल तिहाड़ में बंद है।

छोटा राजन की सुरक्षा बढ़ाई, लोगों की पहुंच से दूर रखा

- जेल प्रवक्ता की मानें तो राजन का बैरक जेल नंबर 2 के अंत में है। राजन को दाऊद और उसके लोगों की पहुंच से दूर रखने के लिए ही दिल्ली की तिहाड़ जेल में रखा गया है, जिससे उसकी सुरक्षा पुख्ता रहे। तिहाड़ जेल के अधिकारियों का कहना है कि राजन की सिक्युरिटी बेहद टाइट है और बवाना का उसे टारगेट बनाना आसान नहीं होगा। बावजूद इसके राजन की सुरक्षा के लिए जांचे-परखे गार्ड और खाना बनाने वाले हैं। जिनकी नियमित रूप से दूसरे गार्ड जांच करते हैं।
- उधर, नीरज बवाना को हाई-रिस्क वार्ड में अकेले रखा गया है, जिससे न तो वह अपने किसी साथी से मिल सके और न ही वह डी कंपनी की साजिश को कामयाब कर सके।

बवाना के फोन से हुआ

- प्लान का खुलासा कुछ दिन पहले ही बवाना की बैरक से तलाशी के दौरान मोबइल फोन मिले थे। जिनकी जांच और बवाना के एक सहयोगी द्वारा शराब के नशे में दोस्त काे नीरज का प्लान बताने के चलते इस बात की सूचना खुफिया एजेंसी तक जा पहुंची। सूचना पुख्ता होते ही खुफिया एजेंसी ने तिहाड़ प्रशासन को उसकी जानकारी दी।
- जानकारी के बाद गृह मंत्रालय ने बुलाई बैठक तिहाड़ प्रशासन के अलर्ट की जानकारी के बाद गृह मंत्रालय ने तिहाड़ के अधिकारियों की बैठक बुलाई। बुधवार शाम करीब सात बजे शुरू हुई बैठक में गृह मंत्रालय के आलाअधिकारियों ने छोटा राजन की सुरक्षा से संबंधित सभी जानकारी जेल अफसरों से पुख्ता की। बैठक करीब दो घंटे चली।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: तिहाड़ à¤à¥à¤² मà¥à¤ à
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×