--Advertisement--

हमने चीन को रंगे हाथ पकड़ा, वह नॉर्थ काेरिया तक तेल सप्लाई होने दे रहा है: डोनाल्ड ट्रम्प

यूएस ने कहा कि चीन को नॉर्थ कोरिया के साथ अपने इकोनॉमिक रिलेशन खत्म कर उसके वर्कर्स को अपने यहां से निकला देना चाहिए।

Dainik Bhaskar

Dec 29, 2017, 01:18 PM IST
ट्रम्प ने ट्वीट कर कहा कि अगर ये सब जारी रहता है तो नॉर्थ कोरिया समस्या का हल नहीं निकाला जा सकता। (फाइल) ट्रम्प ने ट्वीट कर कहा कि अगर ये सब जारी रहता है तो नॉर्थ कोरिया समस्या का हल नहीं निकाला जा सकता। (फाइल)

फ्लोरिडा. डोनाल्ड ट्रम्प ने चीन पर आरोप लगाया कि वह नॉर्थ कोरिया को ऑयल सप्लाई कर रहा है। ऐसा करते हुए हमने चीन को रंगे हाथ पकड़ा है। इससे पहले साउथ कोरिया ने सैटेलाइट इमेज के हवाले से कहा था कि चीन के शिप्स नॉर्थ कोरियाई जहाजों में ऑयल ट्रांसफर कर रहे थे।


नॉर्थ कोरिया समस्या का हल नहीं निकल पाएगा

- सीएनएन की खबर के मुताबिक गुरुवार को ट्रम्प ने कई ट्वीट किए।
- ट्रम्प ने ट्वीट किया, "हमने चीन को रंगे हाथ पकड़ा। चीन नॉर्थ कोरिया को तेल दे रहा है तो ये िचंताजनक है। अगर ये सब जारी रहता है तो नॉर्थ कोरिया समस्या का हल नहीं निकाला जा सकता।''
- हालांकि अमेरिका के नेशनल सिक्युरिटी काउंसिल और व्हाइट हाउस अफसरों ने ट्रम्प के ट्वीट पर कोई भी कमेंट करने से मना कर दिया।

चीन को लेकर सख्त रुख अपनाएगा चीन

- विदेश विभाग के एक सीनियर अफसर के मुताबिक, "ट्रम्प के ट्वीट से एडमिनिस्ट्रेशन के भीतर ही डिबेट शुरू हो गई है कि कैसे चीन के नॉर्थ कोरिया को तेल देने को लेकर कड़ा रुख अपनाया जा सकता है।''
- "यूएन ने जिन गतिविधियों पर रोक लगाई है, हम उन पर नजर रखे हुए हैं। इनमें शिप टू शिप रिफाइंड पेट्रोलियम ट्रांसफर और नॉर्थ कोरिया की तरफ से से आने वाला कोयला है। हमारे पास सबूत हैं कि जिन कंपनियों के जहाजों से ये काम हो रहा है, उनकी कई देशों में कंपनियां हैं।''
- "अमेरिका इन कामों की निंदा करता है। हम उम्मीद करते हैं कि चीन समेत यूएन सिक्युरिटी काउंसिल का कोई भी मेंबर स्मगलिंग सरीखी गतिविधियों को बंद करेगा।''
- "चीन को नॉर्थ कोरिया के साथ अपने टूरिज्म, इकोनॉमिक रिलेशन खत्म कर उसके वर्कर्स को अपने यहां से निकला देना चाहिए।''

नवंबर में सामने आया था मामला

- यूएस ट्रेजरी डिपार्टमेंट ने नवंबर में घोषणा की थी कि नॉर्थ कोरिया की शिपिंग और ट्रेडिंग कंपनियों ने शिप टू शिप ट्रांसफर किया था, जिसमें संभवत: तेल था।
- यूएस के ट्रेजरी मिनिस्टर स्टीव नूचिन ने कहा, "नॉर्थ कोरिया से दुनिया को लगातार खतरा बना हुआ है। हम तेजी से कोशिश कर रहे हैं कि बाहर से दबाव डालकर नॉर्थ कोरिया को मिलने वाले रेवेन्यू और ट्रेड को रोका जा सके।''

क्या बोला चीन?

- चीन की फॉरेन मिनिस्ट्री की स्पोक्सपर्सन हुआ चुनयिंग ने कहा, "क्या बातें हो रही हैं, इसकी मुझे कोई जानकारी नहीं है। ये जरूर है कि चीन सरकार सिक्युरिटी काउंसिल के नॉर्थ कोरिया को लेकर लगाए गए रेजोल्यूशन पर भरोसे के साथ अमल कर रही है। हमारी कथनी-करनी में कोई अंतर नहीं है।''
- "अगर हमारे खिलाफ सिक्युरिटी काउंसिल रेजोल्यूशन वॉयलेशन के कोई पक्के सबूत हैं तो हम नियम-कानून के तहत ही डील करेंगे। अगर ऐसा एक भी मामला सामने नहीं आता तो सभी को इस पर खामोश हो जाना चाहिए।''

नॉर्थ कोरिया 6 न्यूक्लियर टेस्ट कर चुका है। चीन के उसे मदद देने की बात कही जाती है। (फाइल) नॉर्थ कोरिया 6 न्यूक्लियर टेस्ट कर चुका है। चीन के उसे मदद देने की बात कही जाती है। (फाइल)
X
ट्रम्प ने ट्वीट कर कहा कि अगर ये सब जारी रहता है तो नॉर्थ कोरिया समस्या का हल नहीं निकाला जा सकता। (फाइल)ट्रम्प ने ट्वीट कर कहा कि अगर ये सब जारी रहता है तो नॉर्थ कोरिया समस्या का हल नहीं निकाला जा सकता। (फाइल)
नॉर्थ कोरिया 6 न्यूक्लियर टेस्ट कर चुका है। चीन के उसे मदद देने की बात कही जाती है। (फाइल)नॉर्थ कोरिया 6 न्यूक्लियर टेस्ट कर चुका है। चीन के उसे मदद देने की बात कही जाती है। (फाइल)
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..