--Advertisement--

मनी लॉन्ड्रिंग केस: लालू यादव की बेटी मीसा और दामाद के खिलाफ ED ने चार्जशीट दाखिल की

8000 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग केस में ईडी मीसा भारती और उनके पति शैलेष से पूछताछ कर चुकी है।

Dainik Bhaskar

Dec 23, 2017, 12:17 PM IST
मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ही ईडी ने मीसा भारती और शैलेष के दिल्ली स्थित 3 ठिकानों पर 8 जुलाई को छापे मारे थे। - फाइल मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ही ईडी ने मीसा भारती और शैलेष के दिल्ली स्थित 3 ठिकानों पर 8 जुलाई को छापे मारे थे। - फाइल

नई दिल्ली/पटना. ईडी (इन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट) ने शनिवार को लालू यादव की बेटी मीसा भारती, उनके पति शैलेष से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में चार्जशीट फाइल की। अब दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में इस केस की सुनवाई शुरू होगी। बता दें कि 8000 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग केस में ईडी ने मीसा और शैलेष से पूछताछ की थी। सितंबर में जांच एजेंसी ने दिल्ली के बिजवासन इलाके में स्थित मीसा के फार्महाउस को सील किया था। मीसा-शैलेष की फर्म ने इसे 8 साल पहले में 1.2 करोड़ में खरीदा था।

8 जुलाई को ईडी ने मारे थे छापे

- मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ही ईडी ने मीसा-शैलेष के दिल्ली स्थित 3 ठिकानों पर 8 जुलाई को छापे मारे थे। अफसरों ने शैलेष से करीब 8 घंटे पूछताछ की थी। ईडी के अफसर शैलेष को पूछताछ के लिए अपने साथ भी ले गए थे।

- इसके बाद दिल्ली के पॉश इलाके में मेसर्स मिशेल पैकर्स एंड प्रिंटर्स प्राइवेट लिमिटेड के नाम से रजिस्टर्ड फार्महाउस को सील किया गया। आरोप है कि मीसा-शैलेष इस फर्म के डायरेक्टर हैं।

जैन ब्रदर्स के ठिकानों पर भी चलाया था सर्च ऑपरेशन

- ईडी ने मीसा भारती के जिन ठिकानों पर छापा मारा था, उनमें दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट के पास बिजवासन फार्महाउस, सैनिक फार्म और घिटोरनी के ठिकाने शामिल थे। ये छापे मनी लॉन्ड्रिंग केस में मारे गए थे।
- इनके अलावा ईडी के अफसरों ने जैन ब्रदर्स बीरेंद्र और सुरेंद्र कुमार के ठिकानों पर भी सर्च ऑपरेशन चलाया था। जैन ब्रदर्स के खिलाफ भी मनी लॉन्ड्रिंग के तहत जांच की गई।

मीसा का जैन ब्रदर्स से क्या है कनेक्शन?

- ईडी को शक है कि कारोबारी बीरेंद्र जैन और सुरेंद्र कुमार जैन ने करीब 8000 करोड़ की मनी लॉन्ड्रिंग की है। जैन ब्रदर्स ने ही मीसा को मनी लॉन्ड्रिंग के जरिए दिल्ली के बिजवासन में करीब डेढ़ करोड़ का फार्म हाउस दिलाया।
- मई में मनी लॉन्ड्रिंग केस में मीसा भारती के चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीएम) राजेश अग्रवाल को इन्फोर्समेंट डिपार्टमेंट ने अरेस्ट कर किया था। शेल कंपनियों के कारोबारी बीरेंद्र जैन और सुरेंद्र कुमार जैन की पहले ही गिरफ्तारी हो चुकी है। फिलहाल वो जेल में हैं। उन पर कई हाई-प्रोफाइल लोगों की ब्लैकमनी को व्हाइट करने का आरोप है।

जैन ब्रदर्स पर क्या है आरोप?

- जैन ब्रदर्स पर आरोप है कि उन्होंने मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार की बंद पड़ी कंपनी मीशैल पैकर्स के 10 रुपए मूल्य के 1 लाख 20 हजार शेयर 90 रुपए प्रीमियम पर खरीदे। फिर इस पैसे का इस्तेमाल दिल्ली के बिजवासन में 1.41 करोड़ रुपए में 3 एकड़ का फार्म हाउस खरीदने में किया गया।
- ईडी के मुताबिक जैन ब्रदर्स पर नेताओं और उनके परिवार वालों की ब्लैकमनी को शेल कंपनियों के जरिए लीगल करने के एवज में कमीशन लेने का आरोप है। ईडी ने इस फार्म हाउस को भी जब्त कर लिया है।

ईडी 8000 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग के मामले की जांच कर रहा है। -फाइल ईडी 8000 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग के मामले की जांच कर रहा है। -फाइल
X
मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ही ईडी ने मीसा भारती और शैलेष के दिल्ली स्थित 3 ठिकानों पर 8 जुलाई को छापे मारे थे। - फाइलमनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ही ईडी ने मीसा भारती और शैलेष के दिल्ली स्थित 3 ठिकानों पर 8 जुलाई को छापे मारे थे। - फाइल
ईडी 8000 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग के मामले की जांच कर रहा है। -फाइलईडी 8000 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग के मामले की जांच कर रहा है। -फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..