• Home
  • National
  • farooq abdullah says India equally responsible for Pakistan tragedies
--Advertisement--

पाकिस्तान की त्रासदियों के लिए भारत भी दोषी: फारुख अब्दुला

फारुख अब्दुला ने कहा है कि पाकिस्तान की त्रासदियों के लिए भारत बराबर का दोषी है।

Danik Bhaskar | Jan 15, 2018, 03:03 PM IST

फारुख अब्दुला ने कहा है कि पाकिस्तान की त्रासदियों के लिए भारत बराबर का दोषी है। उन्होंने पीएम मोदी से दोनों देशों के बीच सेतु बनने की बात कही।

-पाकिस्तान और पाक अधिकृत कश्मीर को लेकर लगातार विवादित बयान देने वाले जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुला ने इस बार पाकिस्तान की त्रासिदयों के लिए भारत को दोषी ठहरा दिया है। उन्होंने भारत-पाक समस्या को हल करने के कुछ नुस्खे भी सुझाए हैं।

क्या कहा फारूख ने?

-अब्दुला ने कहा कि हमारा पड़ोसी सोचता है कि बांग्लादेश को अलग कर हमने पाकिस्तान को बांटा है। हम लोग बांटने वाले नहीं हैं। यह त्रासदी तो उसी देश (पाकिस्तान) में मौजूद है। यह हमारा पैदा किया हुआ नहीं है, लेकिन इस संकट से हम आज भी जूझ रहे हैं।

-उन्होंने कहा कि ऐसा बिल्कुल न कहें कि हम उनके संकट में शामिल नहीं रहे हैं। जितना वे हमारी त्रासदी में शामिल हैं, उतना ही हम उनके संकट में जुड़े हुए हैं। यह एकतरफा नहीं है।

अटल बिहारी बाजेपई को किया याद

-पूर्व पीएम अटल बिहारी बाजपेई का जिक्र भी उन्होंने किया। उन्होंने कहा कि मुझे पाकिस्तान में वाजपेयी द्वारा कहे गए शब्द आज भी याद हैं। उन्होंने कहा था कि हम दोस्त बदल सकते हैं, लेकिन पड़ोसियों को कभी नहीं बदला जा सकता है।

-आप पड़ोसियों के साथ शांति के साथ रहें या फिर दुश्मनी निभाते हुए एक-दूसरे को नुकसान पहुंचाएं। पीएम मोदी से अपील करते हुए उन्होंने कहा कि मैं यही बात वर्तमान पीएम से भी कहना चाहूंगा कि वह एक-दूसरे के बीच सेतु बनें।

कहा दुश्मन इसी मुल्क में हैं

-इस बयान के एक दिन पहले ही फारुख अब्दुला ने कहा था कि देश के दुश्मन सीमा के उस पार नहीं बल्कि इस पार ही हैं। उन्होंने दोनों देशों को मिलकर इस समस्या को हल करने का नुस्खा सुझाया था।

पीओके को बताया पाकिस्तान का

-फारूक हाल के दिनों में कश्मीर मामले को लेकर विवादित बयान के लिए चर्चा में रहे हैं। नवंबर 2017 में फारूक ने कहा कि पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) पाकिस्तान का हिस्सा है और उसे पाकिस्तान से कोई छीन नहीं सकता। उन्होंने साथ ही ये भी कहा कि कश्मीर का जो हिस्सा भारत के पास है, वह भारत का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि चाहे कितनी भी जंग क्यों न हो जाए, ये नहीं बदलने वाला है।

फारुख अब्दुला चाहते हैं कि पीएम मोदी इस मामले में सेतु की तरह काम करें।