Hindi News »National »Latest News »National» Film Padmawat Dispute Rajasthan Tourism Hike News And Updates

'पद्मावत' पर विवाद से बढ़ा राजस्थान का टूरिज्म, दिसंबर में पिछले साल से दोगुना टूरिस्ट पहुंचे

'पद्मावत' पर विवाद से आगे बढ़ा राजस्थान का टूरिज्म, पिछले साल से 100% ज्यादा टूरिस्ट पहुंचे

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 15, 2018, 12:32 PM IST

  • 'पद्मावत' पर विवाद से बढ़ा राजस्थान का टूरिज्म, दिसंबर में पिछले साल से दोगुना टूरिस्ट पहुंचे, national news in hindi, national news
    +6और स्लाइड देखें
    पद्मावत राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश और हिमाचल प्रदेश में रिलीज नहीं की जाएगी।

    जयपुर.'पद्मावत' फिल्म पर हुआ विवाद राजस्थान के टूरिज्म के लिए फायदेमंद साबित होता नजर आ रहा है। राज्य का मेवाड़ इलाका जो रानी पद्मिनी के किस्से-कहानियों का घर है, वहां दिसंबर 2017 में पिछले साल से दोगुना टूरिस्ट पहुंचे हैं। ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर बनी फिल्म 'पद्मावती' का नाम बदलकर 'पद्मावत' करने और कुछ बदलाव करने के बाद आखिरकार सेंसर बोर्ड ने फिल्म को हरी झंडी दिखा दी। बता दें कि यह फिल्म 25 जनवरी को रिलीज की जा रही है।

    चित्तौड़गढ़ में 40000 से बढ़कर 80000 हुए टूरिस्ट

    - न्यूज एजेंसी के मुतबिक, चित्तौड़गढ़ के असिस्टेंट टूरिज्म अफसर शरद व्यास ने बताया कि पद्मिनी के गृह नगर चित्तौड़गढ़ में आने वाले टूरिस्ट की तादाद में दोगुना इजाफा हुआ है। दिसंबर 2017 में 81,009 टूरिस्ट आए, जबकि पिछले साल इसी अवधि में 40,733 टूरिस्ट पहुंचे थे।

    टूरिस्ट रानी पद्मिनी के बारे में जानने को बेताब

    - व्यास के मुताबिक, "टूरिस्ट रानी पद्मिनी से संबंधित जगहों के बारे में जानने के लिए बेताब हैं। फिल्म पद्मावत को लेकर इतना कुछ होने के बाद चित्तौड़गढ़ को देश में अचानक से इतनी पॉपुलैरिटी मिल गई।"
    - सरकारी गाइड सुनील सेन के मुताबिक, टूरिस्ट इतिहास की पूरी जानकारी के साथ पहुंच रहे हैं और जिन जगहों के बारे में पढ़ा है उन्हें देखने की मंशा जाहिर करते हैं। वे उस आईने के बारे में पूछते हैं, जिसमें अलाउद्दीन को रानी पद्मिनी का चेहरा दिखाया गया था। लोग यह भी जानना चाहते हैं कि रानी पद्मिनी ने 16000 महिलाओं के साथ किस तरह जौहर किया था।

    इतनी भीड़ उमड़ी कि किला बंद करना पड़ा

    - गाइड सुनील सेन ने बताया कि 31 दिसंबर को तो इतनी भीड़ उमड़ी कि टिकट खत्म हो गए। किले के दरवाजे वक्त से पहले बंद करने पड़े।
    - उदयपुर के एक गाइड अरुण कुमार रेमतिया ने कहा कि झीलों के शहर उदयपुर आने वाले पर्यटक चित्तौड़गढ़ और रानी पद्मिनी के बारे में भी पूछ रहे हैं। कई लोग यहां चित्तौड़गढ़ होते हुए आ रहे हैं।
    - उदयपुर के लेक पिछोला होटल की सेल्स मैनेजर श्रुति ने भी इस बात की पुष्टि की है कि शहर में अब तक ज्यादातर विदेशी पर्यटक ही बड़ी संख्या में आते थे, लेकिन इस बार घरेलू पर्यटकों की संख्या में भी वृद्धि देखने को मिली है।

    फिल्म पद्मावती को लेकर क्या आपत्ति है?
    - राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया। राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची। फिल्म में रानी पद्मावती को भी घूमर नृत्य करते दिखाया गया है। जबकि राजपूत राजघरानों में रानियां घूमर नहीं करती थीं।
    - हालांकि, भंसाली साफ कर चुके हैं कि ड्रीम सीक्वेंस फिल्म में है ही नहीं।


    रानी पद्मावती ने किया था जौहर
    - कहा जाता है कि महाराजा रतन सिंह दिल्ली के सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी के हाथों पराजित हो गए थे। इसके बाद महारानी पद्मिनी ने अपनी इज्जत की रक्षा के लिए चित्तौड़गढ़ किले में ही रानी जौहर (कुंड में आग लगाकर उसमें कूद जाना) कर लिया था।

    फिल्म पद्मावती को लेकर क्या आपत्ति है?
    - राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया। राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची। फिल्म में रानी पद्मावती को भी घूमर नृत्य करते दिखाया गया है। जबकि राजपूत राजघरानों में रानियां घूमर नहीं करती थीं।
    - हालांकि, भंसाली साफ कर चुके हैं कि ड्रीम सीक्वेंस फिल्म में है ही नहीं।

    आगे की स्लाइड में पढ़ें, रिलीज को लेकर अभी कहां-क्या हालात...

  • 'पद्मावत' पर विवाद से बढ़ा राजस्थान का टूरिज्म, दिसंबर में पिछले साल से दोगुना टूरिस्ट पहुंचे, national news in hindi, national news
    +6और स्लाइड देखें
    पद्मावत को लेकर करणी सेना देश भर में विरोध जता चुकी है।

    रिलीज को लेकर अभी कहां-क्या हालात

    1. राजस्थान में शुरू से था विरोध, रिलीज भी नहीं होगी


    - फिल्म जब से बननी शुरू हुई, तभी से राजस्थान में इस फिल्म के रिलीज होने पर संशय था। राजपूत करणी सेना के विरोधी सुरों में राज्य सरकार ने सुर में सुर मिलाए थे।
    - अब सेंसर बोर्ड से पास होने, कई कट लगने और नाम बदलने के बाद भी राजस्थान सरकार इस फिल्म की रिलीज के लिए तैयार नहीं है।
    - राजस्थान के गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया ने कहा है कि राजस्थान में पद्मावत रिलीज नहीं होगी।
    - इससे पहले मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी को लेटर लिखकर कहा था कि वह पद्मावती विवाद में हस्तक्षेप करें। इसमें मुख्यमंत्री ने लिखा था कि फिल्म को रिलीज करने से पहले उसके विवादित अंश हटा दिए जाएं।

    2. गुजरात में भी बैन
    - राजस्थान के बाद गुजरात सरकार ने भी इस फिल्म को रिलीज न करने का फैसला लिया है। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि संजय लीला भंसाली की 'पद्मावत' गुजरात में रिलीज नहीं की जाएगी।
    - एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में रूपाणी ने कहा कि यह कानून-व्यवस्था से जुड़ा मामला है और मौजूदा हालात में फिल्म को गुजरात में रिलीज नहीं किया जाएगा।

    3. मध्य प्रदेश में भी नहीं दिखेगी
    - शिवराज सिंह ने एलान किया कि मध्‍य प्रदेश में पद्मावत नहीं दिखाई जाएगी। शिवराज ने भी इसे कानून-व्यवस्था के साथ जोड़ा।
    - चौहान ने कहा कि हम फिल्म को नहीं दिखाने के अपने स्टैंड पर कायम हैं। राज्य में यह फिल्म रिलीज नहीं होगी।

    4. गोवा में सरकार राजी, पुलिस तैयार नहीं
    - गोवा पुलिस ने राज्य में पद्मावत रिलीज नहीं करने की बात कही। इसको लेकर पुलिस ने राज्य सरकार को लेटर लिखा। इस पर सीएम मनोहर पर्रिकर ने कहा कि कानून-व्यवस्था ठीक रखने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएंगे।
    - पर्रिकर ने कहा कि अगर फिल्म को सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट मिल गया है तो उसकी रिलीज रोकी नहीं जाएगी। गोवा पुलिस ने सरकार को लेटर लिखा कि राज्य में टूरिस्ट सीजन चल रहा है। अगर फिल्म रिलीज की जाती है तो पुलिस पर सुरक्षा को लेकर दबाव बढ़ जाएगा।

    5. यूपी में सस्पेंस बरकरार
    - फिल्म का विवाद जब अपने चरम पर था, तब यूपी सरकार ने कहा था कि यह फिल्म एेतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ करने वाली है, लिहाजा इसे नहीं रिलीज करना ही सही फैसला होगा।
    - सेंसर बोर्ड से पास होने के बाद जब यह फिल्म बदले नाम के साथ रिलीज को तैयार है, तब यूपी सरकार की तरफ से इसे दिखाने या न दिखाने से जुड़ा कोई बयान अब तक नहीं आया। यूपी सरकार की ये चुप्पी फिल्म की रिलीज को लेकर सस्पेंस बनाए हुए है।

  • 'पद्मावत' पर विवाद से बढ़ा राजस्थान का टूरिज्म, दिसंबर में पिछले साल से दोगुना टूरिस्ट पहुंचे, national news in hindi, national news
    +6और स्लाइड देखें
    सेंसर बोर्ड के मुताबिक, फिल्म के नाम के अलावा इसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है। इसमें कोई कट नहीं लगाया गया है।
  • 'पद्मावत' पर विवाद से बढ़ा राजस्थान का टूरिज्म, दिसंबर में पिछले साल से दोगुना टूरिस्ट पहुंचे, national news in hindi, national news
    +6और स्लाइड देखें
    चित्तौड़गढ़ में दिसंबर 2017 में 81,009 टूरिस्ट आए, जबकि पिछले साल इसी अवधि में 40,733 टूरिस्ट पहुंचे थे। -फाइल
  • 'पद्मावत' पर विवाद से बढ़ा राजस्थान का टूरिज्म, दिसंबर में पिछले साल से दोगुना टूरिस्ट पहुंचे, national news in hindi, national news
    +6और स्लाइड देखें
    चितौड़गढ़ के एक गाइड के मुताबिक, 31 दिसंबर को इतनी भीड़ हुई कि किले के दरवाजे वक्त से पहले बंद करने पड़े। -फाइल
  • 'पद्मावत' पर विवाद से बढ़ा राजस्थान का टूरिज्म, दिसंबर में पिछले साल से दोगुना टूरिस्ट पहुंचे, national news in hindi, national news
    +6और स्लाइड देखें
    चित्तौड़गढ़ आने वाले टूरिस्ट रानी पद्मिनी के बारे में ज्यादा से ज्यादा बातें जानना चाहते हैं। -फाइल
  • 'पद्मावत' पर विवाद से बढ़ा राजस्थान का टूरिज्म, दिसंबर में पिछले साल से दोगुना टूरिस्ट पहुंचे, national news in hindi, national news
    +6और स्लाइड देखें
    चितौड़गढ के बाद उदयपुर पहुंचने वाले टूरिस्ट भी वहां रानी पद्मिनी के बारे में पूछते हैं। -फाइल
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Film Padmawat Dispute Rajasthan Tourism Hike News And Updates
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×