• Home
  • National
  • Gujarat BJP candidate controvercial remark on Muslim population
--Advertisement--

गुजरात चुनाव: BJP कैंडिडेट का विवादित बयान, कहा- दाड़ी-टोपी वालों को आबादी घटाने की जरूरत

दाभोई में दूसरे फेज यानी 14 दिसंबर को वोटिंग होगी। पहले फेज में 9 तारीख को वोट डाले जाएंगे। नतीजे 18 को आएंगे।

Danik Bhaskar | Dec 07, 2017, 08:18 PM IST
शैलेष सोट्टा बीजेपी के टिकट पर शैलेष सोट्टा बीजेपी के टिकट पर

अहमदाबाद. गुजरात विधानसभा चुनाव में पहले फेज की वोटिंग से पहले एक बीजेपी कैंडिडेट का विवादित बयान सामने आया। वडोदरा की डभोई सीट से चुनाव लड़ रहे शैलेष सोट्टा ने कथित तौर पर कहा कि टोपी और दाढ़ी वालों की आबादी बढ़ रही है, इसे कम करने की जरूरत है। कुछ दिन पहले एक रैली में दी गई उनकी स्पीच का वीडियो वायरल हो रहा है। सोट्टा की ओर से इस बारे में अब तक कोई रिएक्शन नहीं आया। इस बीच, कुछ सामाजिक संगठनों ने इसकी शिकायत इलेक्शन कमीशन से की है। बता दें कि डभोई में दूसरे फेज यानी 14 दिसंबर को वोटिंग होगी। पहले फेज में 9 तारीख को वोट डाले जाएंगे। नतीजों का एलान 18 दिसंबर को होगा।

ये भी पढ़े - Live Updates - गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 वोटिंग जारी

हिंसा नहीं रुकी तो माकूल जवाब देंगे: बीजेपी कैंडिडेट
- डभोई की रैली में सोट्टा ने कहा कि वो 'डर पैदा करने' के लिए आए हैं और अगर छिटपुट सांप्रदायिक हिंसा नहीं रुकी तो 'माकूल जवाब' दिया जाएगा। अगर कोई 'टोपी-दाढ़ीवाला' यहां बैठा है तो मुझे माफ करना, लेकिन इनकी आबादी घटाने की जरूरत है।

- सोट्टा ने आगे कहा- कई नेताओं ने मुझसे कहा कि ऐसा मत कहना, यह तुम्हारे खिलाफ जा सकता है। लेकिन अगर 90% लोग मेरे साथ हैं तो सिर्फ 10% के लिए बोलने से क्यों रुकूं? लोगों ने कहा कि तुम हिंदू हो, इसलिए इस कम्युनिटी के बारे में मत बोलो। अगर ऐसा ही करना है तो फिर चुनाव मत लड़ो। लेकिन उस धर्म के लिए इलेक्शन लड़ना चाहता हूं, जिसमें जन्म लिया।

असामाजिक तत्वों को डराने आया हूं

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, बीजेपी कैंडिडेट ने कहा कि मुस्लिमों को सांप्रदायिक हिंसा की घटनाओं पर लगाम लगानी चाहिए, नहीं तो ईंट का जवाब पत्थर से मिलेगा।

- पीस कमेटी की मीटिंग में एक तड़ीपार ने कहा था कि वह बीजेपी कैंडिडेट (सोट्टा) से डरा हुआ है। इसमें कोई बुराई नहीं। लोगों को डराने के लिए ही डभोई आया हूं। अगर असामाजिक तत्व डरे हुए हैं तो उन्हें और डराने आया हूं। यहां ये बहुत जरूरी है।

कौन हैं शैलेष सोट्टा?

- सोट्टा वडोदरा के पार्षद हैं, जो इस बार के बीजेपी के टिकट पर असेंबली इलेक्शन लड़ रहे हैं। डभोई सीट पर उनका मुकाबला कांग्रेस कैंडिडेट सिद्धार्थ पटेल से है।

- चुनाव आयोग को दिए हलफनामे के मुताबिक, सोट्टा ने अपनी प्रॉपर्टी 17.93 करोड़ रुपए बताई है। उनके खिलाफ वसूली, जालसाजी और धमकी देने के 10 मुकदमे दर्ज हैं।

- बता दें कि पिछले साल नोटबंदी के बाद सोट्टा ने 30 नवंबर को शादी की 27 सालगिरह पर पत्नी को मर्सडीज बेंज गिफ्ट की थी। वह पेशे से बिल्डर हैं।

बीजेपी कैंडिडेट के खिलाफ शिकायत

- शैलेष का वीडियो मीडिया में आने के बाद अहमदाबाद के सामाजिक कार्यकर्ता निशांत वर्मा ने राज्य चुनाव आयोग से शिकायत की है। उन्होंने कहा कि सोट्टा मुसलमानों को टोपी-दाढ़ीवाला कह रहे हैं जो पूरी तरह से गलत है। यह आचार संहिता और कानून का वॉयलेशन है।