देश

  • Home
  • National
  • gujarat election bjp gave only 11 women candidates tickets
--Advertisement--

गुजरात: BJP ने महिलाओं के काटे टिकट; 11 को उतारा मैदान में, 4 को किया रिपीट

2012 में भाजपा ने 19 महिलाओं को मैदान में उतारा था, जिसमें 12 महिलाएं जीती थीं चुनाव।

Danik Bhaskar

Dec 02, 2017, 09:33 AM IST
गुजरात में 9 और 14 दिसंबर को चुना गुजरात में 9 और 14 दिसंबर को चुना

अहमदाबाद. महिलाओं को समान अधिकार देने और पर्याप्त रिप्रेजेंटेशन देने की बात करने वाली बीजेपी ने जीत की संभावना न होने के कारण विधानसभा चुनाव में महिलाओं के टिकट काट दिए हैं। पार्टी ने 2012 के विधानसभा चुनाव में 19 महिलाओं को कैंडिडेट बनाया था, जिनमें से 12 चुनाव जीत गई थीं। इस बार उसने केवल 11 महिलाओं काे ही मैदान में उतारा है। चार महिला विधायक फिर से टिकट पाने में कामयाब रहीं। पिछले चुनाव में जीतीं पूर्व सीएम आनंदी बेन पटेल और उनकी एक रिश्तेदार निर्मला बेन को इस बार टिकट नहीं मिला। गुजरात में 9 और 14 दिसंबर को चुनाव हैं। नतीजे 18 दिसंबर को आएंगे।

Live Updates - गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 वोटिंग जारी

4 महिला विधायकों को टिकट
- इस चुनाव में भाजपा की मनीषाबेन वकील (वडोदरा शहर), नीमाबेन आचार्य (भुज), संगीताबेन पाटिल (लिंबायत) और विभावरीबेन दवे (भावनगर पूर्व ) से इस बार भी कैंडिडेट बनने में कामयाब रहीं।
- पिछले चुनाव में मनीषाबेन वकील ने एक लाख से अधिक मत लेकर कांग्रेस की जयश्रीबेन सोलंकी को 50 हजार से ज्यादा वोटों से हराया था।

बीजेपी की महिला उम्मीदवार और कांग्रेस में कांटे की टक्कर
- नीमाबेन आचार्य भुज से फिर से चुनाव मैदान में हैं और इस बार उनका मुकाबला कांग्रेस के चाकी आदमभाई से हो रहा है। पिछले चुनाव में नीमाबेन ने कांग्रेस के अमीर अली को लगभग नौ हजार वोटों से हराया था।
- संगीता पाटिल ने पिछले चुनाव में लिंबायत में कांग्रेस के सुरेश मोहन सोनवने को लगभग 30 हजार से अधिक मतों से हराया था। इस बार उनका मुकाबला कांग्रेस के रविन्द्र पाटिल से हो रहा है। यहां आम आदमी पार्टी ने राजू रासा को प्रत्याशी बनाया है।
- विभावरी दवे ने पिछले चुनाव में भावनगर पूर्व विधानसभा क्षेत्र 85 हजार से ज्यादा वोट से कांग्रेस के राजेशभाई जोशी को हराया था। वे लगभग 40 हजार मतों के अंतर से जीती थीं। इस बार उनका मुकाबला कांग्रेस की नीतबेन राठौर से हो रहा है। यहां कुल चार उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।

बीजेपी ने खेड़ब्रह्मा और गांधीनगर में बदले कैंडिडेट
- बीजेपी ने खेड़ब्रह्मा क्षेत्र से रामिला बेन को कैंडिडेट बनाया है, जहां से पिछले चुनाव में कांग्रेस के अश्विन कोतवाल चुने गए थे। उन्होंने बीजेपी के भेजभाई मकवाणा को लगभग 50 हजार वोटों से हराया था।

- पिछले चुनाव में गांधीधाम (सुरक्षित) सीट पर बीजेपी ने रमेश माहेश्वरी काे कैंडिडेट बनाया था और उन्होंने कांग्रेस की जयश्री बेन को करीब 20 हजार वोटों से हराया था, लेकिन इस बार उन्हें टिकट नहीं देकर मालतीबेन माहेश्वरी को चुनाव मैदान में उतारा है।

कलोल और अंकलाव में कड़ा मुकाबला
- बीजेपी ने कलोल विधानसभा क्षेत्र मेें मौजूदा विधायक अरविंद सिंह राठौड़ को टिकट नहीं देकर सुमन चौहाण को चुनाव मैदान में उतारा है। 2012 के चुनाव में राठौड़ ने कांग्रेस उम्मीदवार को हराया था।
- सुमन का इस चुनाव में कांग्रेस के बलदेवजी ठाकोर से मुकाबला है।

- अंकलाव क्षेत्र से बीजेपी ने हंसा पूर्वा को टिकट दिया है। पिछले चुनाव में यहां कांग्रेस के अमित चावड़ा ने जीत दर्ज की थी।
- 2012 में चावड़ा ने बीजेपी के जसवंत सिंह सोलंकी को हराया था। इस बार भी कांग्रेस ने अमित चावड़ा को कैंडिडेट बनाया है।

मौजूदा विधायक की जगह महिला को टिकट
- बीजेपी ने इस बार में चोर्यासी सीट से जंखनाबेन पटेल को टिकट दिया है। पिछले चुनाव में यहां से बीजेपी के राजेन्द्र भाई पटेल ने एक लाख 19 हजार से ज्यादा वोट कांग्रेस के सतीशभाई पटेल को हराया था। कांग्रेस ने इस बार यहां से योगेशभाई पटेल को चुनाव मैदान में उतारा है।
- अकोटा सीट पर बीेजेपी ने पिछले चुनाव में जीते सौरभ पटेल की जगह इस बार सीमाबेन मोहिले को उतारा है। पटेल ने कांग्रेस के ललितभाई पटेल को हराया था। मोहिले का कांग्रेस के रणजीत रावल से मुकाबला है।

Click to listen..