--Advertisement--

मोदी ने विक्ट्री साइन बनाकर जताया जीत का भरोसा, राजनाथ बोले- दोनों राज्यों में सरकार बनना तय

बीजेपी को भरोसा- हिमाचल और गुजरात दोनों जगह बहुमत के साथ सरकार बनेगी।

Dainik Bhaskar

Dec 18, 2017, 11:38 AM IST
मोदी ने गुजरात में 36 जगहों पर र मोदी ने गुजरात में 36 जगहों पर र

नई दिल्ली. गुजरात में बीजेपी को बहुमत से ज्यादा सीटों पर स्थायी बढ़त मिलते ही पार्टी के खेमे में खुशी की लहर दौड़ गई। इसी बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संसद के शीतकालीन सत्र में पहुंचे। वहां उन्होंने सदन में जाने से पहले मीडिया के सामने हाथ हिलाकर अभिवादन किया और विक्ट्री साइन बनाकर पार्टी की जीत का भरोसा जताया। बाद में ट्वीट कर कहा- गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत गुड गवर्नेंस और विकास का नतीजा है। मैं बीजेपी कार्यकर्ताओं को सैल्यूट करता हूं जिन्होंने अथक मेहनत की। राजनाथ सिंह ने राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद पहला ही चुनाव हारने पर पूछे गए एक सवाल पर कहा- सिर मुंडाते ही ओले पड़े। वहीं, गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर ने कहा- वो पहली ही इनिंग में जीरो पर आउट हो गए।

मोदी ने क्या कहा

- गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत गुड गवर्नेंस और विकास का नतीजा है। मैं बीजेपी कार्यकर्ताओं को सैल्यूट करता हूं जिन्होंने अथक मेहनत की। इनकी वजह से ही जीत हासिल हुई। मैं दोनों राज्यों की जनता को नमन करता हूं कि उन्होंने बीजेपी के लिए प्रेम और भरोसा दिखाया। मैं उनको ये यकीन दिलाना हूं कि इन राज्यों के विकास के लिए हम कोई कोर कसर बाकी नहीं रखेंगे।

दोनों राज्यों में बनाएंगे सरकार: राजनाथ

- इस बीच राजनाथ सिंह ने कहा गुजरात और हिमाचल प्रदेश दोनों जगह बीजेपी की सरकार बनने का भरोसा जताया।

- उन्होंने कहा, "हिमाचल और गुजरात दोनों जगह बहुमत के साथ सरकार बनेगी।"
- गुजरात के डिप्टी सीएम नितिन भाई पटेल ने कहा, "आखिरकार बीजेपी जीत दर्ज करने जा रही है। शुरुआत में कुछ विपरीत रुझान आने के बाद अब बीजेपी हर जगह बढ़त बनाए हुए है।"

योगी आदित्यनाथ ने क्या कहा

मोदी जी रणनीति की वजह से गुजरात और हिमाचल प्रदेश में जीत हासिल हुई है। अमित शाह जी की रणनीति को बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने जमीन पर उतार दिया। विकास का विकल्प नहीं है। विपक्ष को संदेश दे दिया है। अब वो 2019 के बजाए 2024 की तैयारी करें। सच्चाई तो ये है कि मोदी जी का कोई विकल्प नहीं है।

आनंदीबेन ने माना- मुश्किल थे हालात

- पूर्व सीएम आनंदी बेन पटेल ने कहा, "गुजरात में बीजेपी छठी बार सरकार बनाने जा रही है। सभी कार्यकर्ता और खुद पीएम इसमें लगे थे। बहुत कठिन परिस्थिति थी।"

- "2012 में हम विकास का मुद्दा लेकर चले थे। इस बार भी हमारे लिए विकास का मुद्दा अहम था। चुनाव प्रचार के आखिरी दिनों में गाली-गलौच भी हुई।"

- "बीजेपी के शासन में स्थिति बेहतर हुई है। सिंचाई के लिए कैनाल बनी हैं, एजुकेशन की स्थिति बेहतर हुई है। सरकार बनने के बाद इस बारे में जरूर सोचा जाएगा कि कहां कमी रह गई और उसमें सुधार किया जा सकता है।"

- उन्होंने कहा, "2019 के लोकसभा चुनाव होने हैं। इसको लेकर विचार करना जरूरी है।''

नतीजे जो भी हों, कांग्रेस ही असली विजेता: गहलोत

- गुजरात में कांग्रेस के प्रभारी अशोक गहलोत ने कहा, "बीजेपी ने भावात्मक मुद्दों पर चुनाव लड़ा। मोदी ने वोटर्स से कहा कि वह गुजरात के बेटे हैं। उनकी प्रतिष्ठा दांव पर है। लेकिन कांग्रेस ने हकीकत में चुनाव प्रचार किया और किसानों, दलितों, जनजातियों और कारोबारियों से से जुड़े मुद्दों पर बात की। हमने लोगों से बात करने के बाद गुजरात के लोगों के लिए अपने घोषणापत्र को औपचारिक रूप दिया...नतीजे जो भी हों कांग्रेस और राहुल गांधी ही असली विजेता हैं।"

मोदी-राहुल ने जमकर किया था प्रचार, ये मुद्दे गरमाए
- गुजरात में मोदी की 36 जगहों पर रैलियां हुईं। राहुल ने 57 जगहों पर रैलियां कीं। साथ ही, नवसृजन यात्रा भी निकाली।

- आठ बार राहुल गांधी गुजरात आए। मोदी ने सात बार गुजरात दौरा कर प्रचार किया।

- चुनाव कैम्पेन के दौरान राहुल 27 बार और मोदी 5 बार मंदिर गए।
- पहले 60 दिनों के 4 बड़े मुद्दे थे जीएसटी, नोटबंदी, गुजरात में विकास और आरक्षण। आखिरी 11 दिनों के 4 बड़े मुद्दे- हिंदुत्व, मंदिर, गुजराती अस्मिता, पाकिस्तान रहे। इन पर विवाद भी हुआ।

- मणिशंकर अय्यर का मोदी को नीच किस्म का बताने वाला बयान इस चुनाव का सबसे बड़ा विवाद बन गया।

X
मोदी ने गुजरात में 36 जगहों पर रमोदी ने गुजरात में 36 जगहों पर र
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..