--Advertisement--

मेरी पार्टी अगले साल चुनाव लड़ेगी, 2018 कश्मीर की आजादी मांगने वालों के नाम: हाफिज सईद

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2017, 09:23 AM IST

आतंकी हाफिज सईद ने पाकिस्तान में अगले साल होने वाले आम चुनाव में भाग लेने का एलान किया है।

सईद ने कहा कि मिल्ली मुस्लिम लीग अगले साल आम चुनाव में उतरने का प्लान बना रही है। -फाइल सईद ने कहा कि मिल्ली मुस्लिम लीग अगले साल आम चुनाव में उतरने का प्लान बना रही है। -फाइल

लाहौर. मुंबई आतंकवादी हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद की पार्टी जमात-उद-दावा अगले साल पाकिस्तान में होने वाले आम चुनाव में शामिल होगी। खुद सईद ने इसका एलान किया है। उसने यह भी कहा है कि 2018 कश्मीर की आजादी की मांग करने वालों के नाम है।

मिल्ली मुस्लिम लीग के बैनर तले लड़ेगा चुनाव

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, सईद ने कहा कि उसकी पार्टी जमात-उद-दावा 2018 में होने वाले आम चुनाव में मिल्ली मुस्लिम लीग के बैनर तले भाग लेगी।

- उसने यहां यहां चाउबुर्जी में जमात-उद-दावा के हेड ऑफिस में कहा, "मिल्ली मुस्लिम लीग अगले साल आम चुनाव में उतरने का प्लान बना रही है। मैं भी 2018 को उन कश्मीरियों के नाम करता हूं जो आजादी के लिए संघर्ष कर रहे हैं।"

PAK को भी हिदायत
- सईद ने कहा कि मैं भारत को बताना चाहता हूं कि मैं कश्मीरियों का सपोर्ट करना जारी रखूंगा। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि वहां

क्या परेशानियां हैं। भारत चाहता है कि हम कश्मीरियों के लिए आवाज उठाना बंद कर दें। वह पाकिस्तान सरकार पर दबाव बना रहा है।

मैं पाकिस्तान को बताना चहता हूं कि पर्दे के पीछे से जारी डिप्लोमैसी ने सिर्फ कश्मीर के मुद्दे को नुकसान पहुंचाया है।

EC का पार्टी को मान्यता देने से इनकार
- बता दें कि जमात-उद-दावा ने अगस्त में मिल्ली मुस्लिम लीग पार्टी बनाई थी। हालांकि, पाकिस्तान के इलेक्शन कमीशन (ईसी) इसे पॉलिटिकल पार्टी के तौर पर मान्यता देने से दो बार इनकार कर चुका है।
- हालांकि, कहा जा रहा है कि सईद की पार्टी को मान्यता नहीं भी मिली तो वह निर्दलीय या किसी दूसरी पार्टी से चुनाव लड़ सकता है।

24 नवंबर को रिहा गया था सईद
- सईद को पाकिस्तान सरकार ने इस साल जनवरी से नजरबंद किया था।
- उसे आगे किसी दूसरे मामले में नजरबंद न करने का फैसला किया गया था। इसके बाद सईद को 24 नवंबर को नजरबंदी से रिहा कर दिया गया था।

सईद UN की ब्लैक लिस्ट में शामिल
- सईद मुंबई में नवंबर 2008 में किए गए आतंकी हमले का मास्टरमाइंड है। इस हमले में 166 लोगों की मौत हो गई थी।
- उसे यूनाइटेड नेशंस ने यूएन सिक्युरिटी काउंसिल रिजोल्यूशन 1267 के तहत दिसंबर 2008 में ब्लैक लिस्टेड किया था।
- अमेरिका ने भी उसे ग्लोबल टेररिस्ट डिक्लेयर किया है और उसके सिर पर एक करोड़ डॉलर का इनाम रखा है।

मुंबई में नवंबर 2008 में हुए आतंकी हमले में 166 लोग मारे गए थे। -फाइल मुंबई में नवंबर 2008 में हुए आतंकी हमले में 166 लोग मारे गए थे। -फाइल
X
सईद ने कहा कि मिल्ली मुस्लिम लीग अगले साल आम चुनाव में उतरने का प्लान बना रही है। -फाइलसईद ने कहा कि मिल्ली मुस्लिम लीग अगले साल आम चुनाव में उतरने का प्लान बना रही है। -फाइल
मुंबई में नवंबर 2008 में हुए आतंकी हमले में 166 लोग मारे गए थे। -फाइलमुंबई में नवंबर 2008 में हुए आतंकी हमले में 166 लोग मारे गए थे। -फाइल
Astrology

Recommended

Click to listen..