• Home
  • National
  • hafiz saeed Plan for general election in pakistan US concerns
--Advertisement--

पाकिस्तान में आतंकी हाफिज सईद के चुनावी मैदान में उतरने से बढ़ी अमेरिका की चिंता

टेरर एक्टिविटीज में शामिल होने की वजह से अमेरिका ने सईद पर एक करोड़ डॉलर का इनाम रखा है।

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 10:33 AM IST
हाफिज सईद को 24 नवंबर को नजरबंदी से रिहा किया गया था। -फाइल हाफिज सईद को 24 नवंबर को नजरबंदी से रिहा किया गया था। -फाइल

वाशिंगटन. जमात-उद-दावा चीफ हाफिज सईद एलान कर चुका है कि उसकी पार्टी पाकिस्तान में 2018 में होने वाले आम चुनाव में हिस्सा लेगी। इस खबर ने अमेरिका की चिंता बढ़ा दी है। उसका कहना है कि यह नहीं भूलना चाहिए कि सईद मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड है और उस पर एक करोड़ डॉलर का इनाम है। बता दें कि यूनाइटेड नेशन्स और अमेरिका, दोनों ने सईद को आतंकी घोषित किया है।

'वो मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड है'

- अमेरिका के स्टेट डिपार्टमेंट की स्पोक्सपर्सन हीदर नॉर्ट ने कहा, "नवंबर में नजरबंदी से सईद की रिहाई पर अमेरिका ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। वह मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड और लश्कर-ए-तैयबा का नेता है।"

- उन्होंने यहां रिपोर्टर्स से कहा, "यह ऐसा ग्रुप है, जिसे अमेरिकी सरकार आतंकी गुट मानती है। हमारी पाकिस्तान सरकार से कई बार बात हुई है। हालिया घटनाओं में से एक है कि इस शख्स को नजरंबद किया गया था। पाकिस्तान ने उसे नरजबंदी से रिहा कर दिया और अब खबर मिल रही है कि वह चुनाव लड़ेगा।"


'याद दिला दूं उस पर एक करोड़ डॉलर का इनाम है'
- नॉर्ट ने कहा, "मैं याद दिलाना चाहती हूं कि उसे कानून की जद में लाने लायक खबर देने वाले को एक करोड़ डॉलर का इनाम देने का प्लान है। मैं यह साफ कर देना चाहती हूं कि सभी को पता होना चाहिए कि इस शख्स पर एक करोड़ डॉलर का इनाम घोषित है। हम उसके चुनाव लड़ने को लेकर चिंतित हैं।"

MML के बैनर तले चुनाव लड़ने का एलान

- सईद ने कुछ दिन पहले कहा था कि उसका संगठन जमात-उद-दावा पाकिस्तान में अगले साल होने वाले चुनावों में हिस्सा लेगा। वह मिल्लि मुस्लिम लीग (एमएमएल) के बैनर तले चुनाव लड़ेगा। हालांकि, एमएमएल का इलेक्शन कमीशन के तहत रजिस्ट्रेशन नहीं हुआ है।

हीदर नॉर्ट ने कहा कि हाफिज मुंबई हमले का मास्टरमाइंड है। -फाइल हीदर नॉर्ट ने कहा कि हाफिज मुंबई हमले का मास्टरमाइंड है। -फाइल