• Home
  • National
  • Admiral Lamba Says India to build 6 Nuclear Powered attack Submarines
--Advertisement--

समुद्र में अपनी ताकत बढ़ाने के लिए 6 न्यूक्लियर सबमरीन बना रहा है भारत

इंडो-पैसिफिक रीजन में अपनी ताकत बढ़ाने के लिए लाॅन्च किया गया प्रोजेक्ट।

Danik Bhaskar | Dec 01, 2017, 06:08 PM IST
अपनी नेवी को भी मजबूत बनाने के लिए 6 न्यूक्लियर सबमरीन बनाने का प्रोजेक्ट लाॅन्च कर चुका है भारत।- सिम्बॉलिक अपनी नेवी को भी मजबूत बनाने के लिए 6 न्यूक्लियर सबमरीन बनाने का प्रोजेक्ट लाॅन्च कर चुका है भारत।- सिम्बॉलिक

नई दिल्ली. इंडियन नेवी को ज्यादा माॅडर्न और पावरफुल बनाने के लिए 6 न्यूक्लियर सबमरीन बनाने का प्रोजेक्ट देश में शुरू हो चुका है। नेवी चीफ एडमिरल सुनील लांबा ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। हालांकि, उन्होंने इसे एक क्लासिफाइड प्रोजेक्ट बता कर ज्यादा जानकारी देेने से इनकार कर दिया। बता दें कि चीन काफी लंबे समय से समुद्र में अपनी ताकत बढ़ाता जा रहा है, जिसके चलते कई देश अपनी सिक्युरिटी को लेकर परेशानी में पड़ चुके हैं। भारत का नया प्रोजेक्ट चीन की तैयारियों का जवाब माना जा रहा है।

भारत की सिक्युरिटी के लिए खतरा है चीन
- नेवी डे (4 दिसंबर) से पहले रखी गई एक प्रेस काॅन्फ्रेंस में लांबा ने बताया कि नेवी हर वक्त दुश्मन की गतिविधियों पर नजर रखती है।
- नेवी चीफ ने पाकिस्तान के ग्वादर पोर्ट पर चीन की मौजूदगी पर चिंता जताई। उन्होंने कहा- आने वाले समय में ये भारत के लिए बड़ी परेशानी बन सकती है।
- लांबा ने कहा कि ये भारत की सिक्युरिटी के लिए खतरा हो सकता है और हमें इससे निपटने के लिए तैयार रहना होगा।

भारत में ही बन रहा है एयरक्राफ्ट कैरियर

- भारतीय नौसेना के पास अभी दो न्यूक्लियर सबमरीन हैं। इनमें एक देश में ही बनी अरिहंत और दूसरी रूस की चक्र है।

- एडमिरल लांबा ने बताया कि अभी अलग-अलग कैटेगरी के 34 शिप बनाए जा रहे हैं। फख्र की बात ये है कि सभी भारत में ही बन रही हैं। एयरक्राफ्ट कैरियर बनाने का काम भी तेजी से चल रहा है और 2020 तक इसके नेवी में शामिल होने की उम्मीद है।

नेवी के पास पहले से दो न्यूक्लियर सबमरीन - आईएनएस अरिहंत और चक्र मौजूद हैं।- सिम्बॉलिक नेवी के पास पहले से दो न्यूक्लियर सबमरीन - आईएनएस अरिहंत और चक्र मौजूद हैं।- सिम्बॉलिक