• Home
  • National
  • US Designated Indian-origin ISIS militant siddarth dhar global terrorist
--Advertisement--

US ने भारतीय मूल के सिद्धार्थ धर को ग्लोबल टेररिस्ट डिक्लेयर किया, मोसुल में है IS का कमांडर

सिद्धार्थ धर को नए जिहादी जॉन के नाम से भी जाना जाता है।

Danik Bhaskar | Jan 24, 2018, 09:16 AM IST
2016 में यूके के लिए जासूसी करने वाले कई कैदियों की आईएस ने गला काटने का वीडियो जारी किया था। इसमें धर भी नजर आया था। -फाइल 2016 में यूके के लिए जासूसी करने वाले कई कैदियों की आईएस ने गला काटने का वीडियो जारी किया था। इसमें धर भी नजर आया था। -फाइल

नई दिल्ली. अमेरिका ने इस्लामिक स्टेट (आईएस) के भारतीय मूल के ब्रिटिश आतंकी सिद्धार्थ धर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित किया है। इसके अलावा बेल्जियम मूल के मोरक्को के रहने वाले अब्दुल लतीफ गनी को भी ग्लोबल टेररिस्ट घोषित किया है। धर एक ब्रिटिश नागरिक है, जिसने इस्लाम अपना लिया है और वह अबू रुमायशाह के नाम से जाना जाता है। वह ब्रिटेन से जमानत के दौरान 2014 में अपनी पत्नी आयशा और बच्चों के साथ फरार होकर सीरिया मोसुल चला गया था। वहां वह आईएस का कमांडर बन गया।

UK में लागू करना चाहता था शरिया कानून

- बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में धर ने कहा था, ''90 साल से दुनिया में खलीफा का शासन नहीं है। कुरान के कई नियम नहीं अपनाए जा रहे हैं। मेरी तमन्ना है कि यूके में शरिया का कानून लागू हो। वह डैमोक्रेसी से काफी बेहतर है। मैं एक मुसलमान के तौर पर ब्रिटेन के कायदों को अपने हिसाब से नहीं पाता। मैं पहले एक मुस्लिम हूं, बाद में एक मुस्‍लिम हूं और आखिर में भी एक मुस्लिम हूं।''

धर को नया जिहादी जॉन कहा जाता है

- रिपोर्ट में कहा गया है कि धर आईएस का सीनियर कमांडर है और उसे "नया जिहादी जॉन" कहा जाता है।

- बता दें कि जनवरी 2016 में यूके के लिए जासूसी करने वाले कई कैदियों की आईएस ने गला काटने का वीडियो जारी किया था। उसमें मास्क पहने जो शख्स था वह कथित तौर पर धर था।

- धर कुख्यात आतंकी गुट रहे अल-मुहाजिरौं का मेंबर रहा है।

जिहादी जॉन कौन है?

- अरब मूल का ब्रिटिश शख्स मोहम्‍मद एमवाजी को 'जेहादी जॉन' के नाम से जाना जाता था। नवंबर 2015 में अमेरिकी मीडिया ने दावा किया था कि वह सीरिया के अल रक्का शहर के किए गए ड्रोन अटैक में मारा गया।

- एमवाजी को ब्रिटिश मीडिया ने 'जेहादी जॉन' नाम दिया‌ था। सिद्घार्थ धर को भी ब्रिटिश मीडिया ने‌ ही यह नाम दिया है।

जमानत से छूटकर हुआ था फरार

- 2016 में इंडिपेंडेंट ने आईएस द्वारा सेक्स स्लैव बनाई गई यजीदी टीनएजर निहाद बराकत के हवाले से लिखा था कि उसे धर ने किडनैप किया था। धर उस वक्त आईएस के गढ़ रहे ईराक के मोसुल में था।

ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने से क्या होगा?

ग्लोबल टेररिस्ट घोषित किए जाने के बाद अब अमेरिका में स्थित धर और गनी की प्रॉपर्टी जब्त हो जाएगी और वहां का कोई भी शख्स उनसे किसी तरह का लेन-देन नहीं कर पाएगा।

सिद्धार्थ यूके में शरिया का कानून लागू करना चाहता था। -फाइल सिद्धार्थ यूके में शरिया का कानून लागू करना चाहता था। -फाइल
सिद्धार्थ धर 2014 में ब्रिटेन से फरार हो गया था और इराक के शहर मोसुल चला गया था। -फाइल सिद्धार्थ धर 2014 में ब्रिटेन से फरार हो गया था और इराक के शहर मोसुल चला गया था। -फाइल