Hindi News »National »Latest News »National» Indian American Congresswoman Pramila Jayapal Announced To Skip Trump State Of The Union Address

ट्रम्प के स्टेट ऑफ द यूनियन में शामिल नहीं होंगी भारतीय-अमेरिकी सांसद, इमिग्रेंट्स की पॉलिसी के खिलाफ प्रोटेस्ट

जयपाल ने कहा कि ट्रम्प का देश को एक बनाए रखने में कोई इंटरेस्ट नहीं है। वे ओछे शब्दों का इस्तेमाल करते हैं।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 17, 2018, 10:37 AM IST

  • ट्रम्प के स्टेट ऑफ द यूनियन में शामिल नहीं होंगी भारतीय-अमेरिकी सांसद, इमिग्रेंट्स की पॉलिसी के खिलाफ प्रोटेस्ट, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    स्टेट ऑफ द यूनियन से अमेरिकी प्रेसिडेंट यूएस कांग्रेस को देश के बारे में जरूरी जानकारी देते है। (फाइल)

    वॉशिंगटन. भारतीय मूल की अमेरिकी सांसद प्रमिला जयपाल (52) डोनाल्ड ट्रम्प के स्टेट ऑफ द यूनियन एड्रेस में शरीक नहीं होंगी। प्रमिला ने इसकी वजह ट्रम्प की इमिग्रेंट्स को लेकर पॉलिसीज को जिम्मेदार बताया है। 30 जनवरी को ट्रम्प का स्टेट ऑफ द यूनियन एड्रेस फंक्शन है।


    प्रमिला के साथ कई डेमोक्रेटिक सांसद भी शामिल होंगे

    - न्यूज एजेंसी के मुताबिक प्रमिला के साथ कई डेमोक्रेटिक सांसद भी ट्रम्प की स्पीच में शामिल नहीं होंगे। इसमें दिग्गज रिपब्लिकन सांसद जॉन लेविस भी मौजूद रहेंगे।
    - प्रमिला ने कहा, "मैं इस बार स्टेट ऑफ द यूनियन में शामिल नहीं हो रही हूं। लेविस भी मेरे साथ हैं।''
    - प्रमिला ये भी कहती है, "मेरा मानना है कि हमारे प्रेसिडेंट अपने पद का इस्तेमाल रेसिज्म (नस्लवाद), सेक्सिज्म और नफरत फैलाने के लिए कर रहे हैं। हाल ही में उन्होंने हैती और अफ्रीकी लोगों के लिए भद्दे शब्द कहे।''

    - "ट्रम्प की संकीर्ण और खुद को प्रमोट करने की वाली मानसिकता से मैं इत्तेफाक नहीं रखती।''

    प्रेसिडेंट का देश को एक रखने में कोई इंटरेस्ट नहीं

    - जयपाल ने कहा कि ट्रम्प का देश को एक बनाए रखने में कोई इंटरेस्ट नहीं है। वे वोटरों के छोटे समूह को लुभाने के लिए ओछे शब्दों का इस्तेमाल करते हैं।
    - "उनका (ट्रम्प का) रास्ता खतरनाक है। उनके रास्ते पर चलकर देश को नुकसान उठाना पड़ेगा। हम उनकी सोच को बदल नहीं सकते। लिहाजा हमने विरोध करने का ये अहिंसक तरीका अख्तियार किया है।''
    - "देशभर के लोग ट्रम्प से डरे हुए हैं, उनका मनोबल टूट रहा है।''
    - "एक ब्राउन इमिग्रेंट सांसद होने के नाते मुझे लगता है कि मेरी बातों का व्यक्तिगत और सामूहिक दोनों तरीके से असर पड़ेगा।''

    अकेली सांसद जो स्टेट ऑफ द यूनियन में हिस्सा नहीं लेंगी

    - प्रमिला जयपाल अकेली भारतीय अमेरिकी सांसद हैं जो ट्रम्प के स्टेट ऑफ द यूनियन एड्रेस में हिस्सा नहीं लेंगी।
    - अन्य अहम भारतीय अमेरिकी सांसदों में डॉ. एमी बेरा, रो खन्ना और राजा कृष्णमूर्ति, सीनेटर कमला हैरिस हैं।

    क्या है स्टेट ऑफ द यूनियन?

    - अमेरिकी संविधान में स्टेट ऑफ द यूनियन स्पीच का जिक्र है। US कॉन्स्टीट्यूशन के आर्टिकल II में सेक्शन 3 है।
    - इसके Clause 1 में बताया गया है कि स्टेट ऑफ द यूनियन स्पीच के क्या मायने हैं और ये क्यों जरूरी है।
    - इसके मुताबिक, वक्त-वक्त पर प्रेसिडेंट यूएस कांग्रेस को देश के बारे में जरूरी जानकारी देते है। इसके अलावा वो ये भी बताते हैं कि देश की बेहतरी के लिए सरकार क्या फैसले ले रही है। क्या फैसले जरूरी हैं और इनसे क्या हासिल होगा।
    - यह भारत के राष्ट्रपति द्वारा संसद में दिए गए अभिभाषण की तरह होता है। जिसमें सरकार के कामकाज की जानकारी और प्राथमिकताओं के बारे में बताया जाता है।

  • ट्रम्प के स्टेट ऑफ द यूनियन में शामिल नहीं होंगी भारतीय-अमेरिकी सांसद, इमिग्रेंट्स की पॉलिसी के खिलाफ प्रोटेस्ट, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    प्रमिला जयपाल कहती है कि देशभर के लोग ट्रम्प से डरे हुए हैं, उनका मनोबल टूट रहा है। (फाइल)
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Indian American Congresswoman Pramila Jayapal Announced To Skip Trump State Of The Union Address
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×