Home | National | Latest News | National | Karnataka voters cast votes in Assembly election 12 may 2018

कर्नाटक में 70% मतदान, 46 साल में तीसरी बार इतनी वोटिंग; 2013 में इतने मतदान पर बदली थी सरकार

सिद्धारमैया और एचडी कुमारस्वामी ने 2-2 सीटों पर चुनाव लड़ा। येदियुरप्पा शिकारीपुरा से मैदान में हैं।

DainikBhaskar.com| Last Modified - May 13, 2018, 10:01 AM IST

1 of

बेंगलुरु.   कर्नाटक विधानसभा चुनाव की 224 में से 222 सीटों के लिए शनिवार को मतदान खत्म हो गया। राज्य के 70% वोटर्स ने अपने मत का इस्तेमाल किया। पिछली बार की तुलना में मतदान 1.5 फीसदी कम रहा। तब सरकार बदल गई थी। 46 साल में तीसरी बार इतनी वोटिंग हुई। इससे पहले 1978 में 71.90% और 2013 में 71.45% मत पड़े। बता दें कि मतदान सुबह 7 बजे शुरू हुआ था और कई जगह लंबी कतार होने की वजह से शाम 6 बजे तक वोट डाले गए। इसके साथ करीब 2655 उम्मीदवार की किस्मत ईवीएम में कैद हो गई। वोटों की गणना 15 मई को सुबह 8 बजे से शुरू होगी।

 

 

 

कर्नाटक में 1978 में सबसे ज्यादा वोटिंग हुई

साल वोटिंग नतीजा
1978 विधानसभा चुनाव 71.90% कांग्रेस को 149 और जनता पार्टी को पहली बार 59 सीटें मिलीं
2013 विधानसभा चुनाव 71.45% कांग्रेस को 224 में से 122 सीटें मिलीं
2018 विधानसभा चुनाव 70% मतगणना 15 मई को।
2014 लोकसभा चुनाव 67.20% भाजपा को 28 में से 17 सीटें मिलीं
 

भाजपा और कांग्रेस दोनों का सरकार बनाने का दावा 

- भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार येदियुरप्पा ने कहा- चुनाव में 150 से अधिक सीटें मिलेंगी और मैं 17 मई को सरकार बनाने जा रहा हूं। मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने कहा- "कांग्रेस कम से कम 120 सीटें जीतेगी।" 

 

मतदान से पहले श्रीरामुलु ने की गाय की पूजा

- भाजपा के प्रमुख उम्मीदवारों में से एक बी. श्रीरामुलु (46) ने शनिवार को वोट डालने से पहले गो पूजा की। इस दौरान उन्होंने भगवा वस्त्र धारण कर रखे थे। श्रीरामुलु ने गाय के शरीर पर हल्दी का लेप लगाकर उसे हरी घास खिलाई। बेल्लारी से सांसद श्रीरामुलु कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया के खिलाफ बादामी विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं उन्होंने मोलाकलमुरु विधानसभा क्षेत्र से भी उम्मीदवारी पेश की है।

- शुक्रवार को कांग्रेस ने 2010 के एक वीडियो को आधार बनाकर श्रीरामुलु को चुनाव लड़ने से रोकने की मांग की थी। इस वीडियो में वे कथित तौर पर माइनिंग अफसर को घूस की पेशकश करते नजर आए थे।

- एचडी कुमारस्वामी ने सुबह मतदान करने से पहले जयनगर में निर्मलानंद मठ पहुंचकर मठ के महास्वामी आदिचुनचुनागिरि महाराज के दर्शन कर उनका आशीर्वाद लिया। 
- बीएस येदियुरप्पा ने मतदान करने से पहले मंदिर में जाकर पूजा अर्चना की। 

 

72 लाख नए वोटर ने किया मताधिकार का इस्तेमाल

- राज्य में करीब 4.9 करोड़ मतदाता हैं। इस बार 72 लाख नए वोटर जोड़े गए हैं। इनमें से 3% यानी 15.42 लाख की उम्र 18 से 29 साल के बीच है। 

 

2655 में से 15% उम्मीदवार दागी
- इस बार 2655 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इनमें 391(15%) दागी और 883 (35%) उम्मीदवार करोड़पति हैं। सबसे ज्यादा संपत्ति कांग्रेस के प्रियकृष्ण (1020 करोड़ रुपए) और सबसे कम संपत्ति निर्दलीय दिलीप कुमार (1 हजार रुपए) ने बताई है। 

 

सिद्धारमैया और कुमारस्वामी 2-2 सीटों से लड़ रहे चुनाव
- कांग्रेस के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार सिद्धारमैया और जेडीएस के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार एचडी कुमारस्वामी दो-दो सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं। उधर, भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा शिकारीपुरा से चुनाव लड़ रहे हैं। इन्हीं 5 सीटों को लेकर चर्चा सबसे ज्यादा है।

 

दो सीट पर चुनाव नहीं

आरआर नगर और जयनगर सीट पर चुनाव टल गए हैं। जयनगर सीट पर भाजपा उम्मीदवार और विधायक वीएन विजयकुमार के निधन की वजह से चुनाव स्थगित किया गया। वहीं, बेंगलुरु के राजराजेश्वरी (आरआर नगर) में 9 मई को एक फ्लैट से करीब 10 हजार फर्जी वोटर आईडी मिलने के बाद वोटिंग टाली गई है। अब यहां 28 मई को मतदान होगा और इसके नतीजे 31 तारीख को आएंगे।

 

कांग्रेस को 2013 और भाजपा को 2014 का प्रदर्शन दोहराने पर मिलेगी सत्ता

पार्टी 2013 में सीटें 2014 में लोकसभा सीटें 2014 में विधानसभा क्षेत्रों में बढ़त
भाजपा 40 17 134
कांग्रेस 122 9 75
जेडीएस 40 2 12
अन्य 22 0 3

 

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें... इस चुनाव में 5 चेहरे, 3 जातियां, 3 मुद्दे और 2 चर्चित सीट 

 

Karnataka voters cast votes in Assembly election 12 may 2018
Karnataka voters cast votes in Assembly election 12 may 2018

इस चुनाव में 5 चेहरे, 3 जातियां, 3 मुद्दे और 2 चर्चित सीट 

 

1) पांच चेहरे

मोदी:  कर्नाटक में 21 रैलियां कीं। तीन बार नमो ऐप के जरिए अपने कार्यकर्ताओं से बात की। करीब 29 हजार किमी की दूरी तय की। इस दौरान मोदी एक भी धार्मिक स्थल पर नहीं गए

राहुल: 20 रैलियां और 40 रोड शो-नुक्कड़ सभाएं कीं। मोदी से दो गुना से ज्यादा दूरी तय की। 55 हजार किमी की यात्रा की।

येदियुरप्पा: भाजपा के मुख्यमंत्री पद उम्मीदवार हैं। करीब 15 महीने में दो बार पूरे कर्नाटक का दौरा कर चुके हैं। लिंगायतों में मजबूत पकड़। राहुल गांधी ने अपनी सभी सभाओं में इन पर लगे करप्शन के आरोपों का जिक्र किया। इनके बहाने मोदी पर भी हमला किया। येदियुरप्पा ने दावा किया है कि वे 17 मई को शपथ लेंगे। 

सिद्धारमैया: कर्नाटक के मुख्यमंत्री हैं। सरकार बचाने की चुनौती है। भाजपा उन पर करप्शन और हिंदू विरोधी होने का आरोप लगाती रही है। चुनाव प्रचार के दौरान मोदी के हर हमलों का जवाब देने की कोशिश करते रहे। उनका दावा है कि कर्नाटक इतिहास दोहराएगा और मेरी मौजूदा सरकार फिर से चुनी जाएगी।

कुमारस्वामी: कुमारस्वामी दावा कर रहे हैं कि वे राज्य में किंगमेकर नहीं, बल्कि किंग बनेंगे। उन्होंने इस बार भाजपा स्टाइल में कैम्पेनिंग की है।

 

2) तीन जातिगत समीकरण: लिंगायत, वोक्कालिगा, दलित

- लिंगायत: राज्य के 17% लिंगायत का असर 105 से ज्यादा सीटों पर है। राज्य में अब तक 20 सीएम हुए हैं, इनमें से 8 लिंगायत समुदाय से रहे। ये तटीय इलाकों को छोड़कर राज्यभर में फैले हैं।

वोक्कालिगा: वोकालिंगा 15% हैं। इनकी दक्षिणी कर्नाटक में पकड़ है। यहां की 60 सीटों में से ज्यादातर पर इनका असर है। जेडीएस के एचडी देवगौड़ा और एचडी कुमारस्वामी इसी समुदाय से है।

 दलित: कर्नाटक में एससी-एसटी समुदाय की 51 सीटें हैं। 2014 लोकसभा चुनाव में भाजपा 26 पर आगे थी। एससी/एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले और देश भर में दलित आंदोलनों से भाजपा की मुश्किलें बढ़ी हैं।


3) तीन मुद्दे: लिंगायत, दलित, भ्रष्टाचार

- भ्रष्टाचार: भाजपा ने 3 रेड्डी बंधुओं के परिवार और उनके करीबी लोगों में से 8 को टिकट दिया है। 20 राज्यों में हुए सर्वे में रिश्वत लेने में कर्नाटक को सबसे आगे बताया गया था।

- लिंगायत: राज्य में 18 से 20% लिंगायत वोटर हैं। वे 100 सीटों पर असर डालते हैं। सिद्धारमैया ने चुनाव से पहले लिंगायत को अल्पसंख्यक धर्म का दर्जा देने का बिल पास कर प्रस्ताव केंद्र को भेजा है।

- दलित: राज्य में करीब 19% दलित वोटर हैं। ये सीधे तौर पर 51 सीटों पर असर डालते हैं। इनके अलावा 40 और सीटों पर भी दलित और आदिवासी समुदाय के वोटर असर डालते हैं। कुछ दिन पहले केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े ने बयान दिया था कि संविधान को समय-समय पर बदलना चाहिए। इससे दलितों में नाराजगी है।

 

4) दो सबसे चर्चित सीट: बादामी और शिकारीपुरा

- बादामी: सीएम सिद्दारमैया दो सीटों से चुनाव लड़ रहे हैं। ये सीटें चामुंडेश्वरी और बादामी हैं। चामुंडेश्वरी सीट से सिद्दारमैया पहले भी दो बार चुनाव जीत चुके हैं। बादामी बागलकोट जिले में है। भाजपा ने सिद्दारमैया को हराने की लिए पूरी ताकत झोंक दी। पार्टी ने सांसद और दलित नेता श्रीरामुलु को अपना उम्मीदवार बनाया है।

- शिकारीपुरा: भाजपा के सीएम उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा शिकारीपुरा से चुनाव मैदान में हैं। इस सीट पर उन्होंने रिकॉर्ड 7 बार जीत हासिल की है। शिकारीपुरा ऐतिहासिक जगह है। यहां के प्रसिद्ध अंजनेय मंदिर में देश भर से भक्त आते हैं। कांग्रेस ने येदियुरप्पा के खिलाफ लो-प्रोफाइल नेता गोनी मालतेश को उतारा है। येदियुरप्पा सिर्फ 1999 में एक चुनाव शिकारीपुरा से हारे हैं। 2014 के उपचुनाव में उनके बेटे यतींद्र जीते थे।

 

कम वोट मार्जिन वाली सीटों पर भी रहेगी नजर

- 2013 में 43 सीटें ऐसी थीं, जहां हार-जीत में वोटों का अंतर 5000 या उससे कम था। इनमें से 20 सीटें कांग्रेस ने जीती थीं।

वोट मार्जिन जीतने वाले उम्मीदवार
0-1,000 9
1,000-2,000 8
2,000-3,000 7
3,000-4,000 9
4,000-5,100 10
 
Karnataka voters cast votes in Assembly election 12 may 2018
Karnataka voters cast votes in Assembly election 12 may 2018
Karnataka voters cast votes in Assembly election 12 may 2018
Karnataka voters cast votes in Assembly election 12 may 2018
सिद्धारमैया के खिलाफ चुनाव लड़ रहे भाजपा उम्मीदवार श्रीरामुलु ने वोट डालने से पहले गो पूजा की।
Karnataka voters cast votes in Assembly election 12 may 2018
लिंगायत समुदाय के 111 साल के संत शिवकुमार ने तुमकुर में अपने अनुयायियों के साथ वोट डाला।
prev
next
Topics:
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now