• Home
  • National
  • kulbhushan jadhav pakistan mother and wife india reaction
--Advertisement--

PAK ने जाधव की पत्नी से मंगलसूत्र और जूतियां उतरवा लीं, वो वापस भी नहीं कीं- मराठी में बातचीत नहीं करने दी: भारत

भारत ने इस्लामाबाद में कुलभूषण जाधव से उनकी मां और पत्नी की मुलाकात के दौरान पाकिस्तान के रवैये पर एेतराज जताया है।

Danik Bhaskar | Dec 26, 2017, 03:35 PM IST
VIDEO: जाधव से मुलाकात के दौरान उनकी मां और पत्नी। VIDEO: जाधव से मुलाकात के दौरान उनकी मां और पत्नी।

नई दिल्ली. भारत ने इस्लामाबाद में कुलभूषण जाधव से उनकी मां और पत्नी की मुलाकात के दौरान पाकिस्तान के रवैये पर सख्त एतराज जताया है। विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को साफ किया कि इस मुलाकात में यकीन करने लायक जैसा कुछ नहीं है। दोनों देशों के बीच जो एग्रीमेंट हुआ था, उसके उलट पाकिस्तान का तरीका बेहद खराब था। मुलाकात के पहले जाधव की पत्नी चेतना से पाकिस्तान की फॉरेन मिनिस्ट्री में मंगलसूत्र और जूतियां उतरवा ली गईं। अब तक इन्हें वापस नहीं किया गया है। इसके अलावा, जाधव की मां से कंगन उतरवाए गए। यह मुलाकात सोमवार को हुई थी। बता दें कि जाधव करीब दो साल से पाकिस्तान की जेल में हैं। उन्हें जासूसी के आरोप में वहां की मिलिट्री कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है।

कुलभूषण और उनकी मां-पत्नी की मुलाकात के दौरान पाकिस्तान के रवैर के खिलाफ भारत सरकार की 8 आपत्तियां

1) रिक्वेस्ट की थी भारत ने

- विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया- "आप सभी जानते हैं कि कुलभूषण जाधव से उनकी मां-पत्नी की मुलाकात की रिक्वेस्ट भारत ने की थी।"

2) पहले से सबकुछ तय था

- "इस मीटिंग के पहले दोनों देशों के बीच डिप्लौमेटिक चैनल के जरिए सबकुछ तय किया गया था। दोनों तरफ से सबकुछ साफ था। इसके बावजूद सभी कमिटमेंट्स को किनारा कर भारत को एक तरफ कर दिया गया।"

3) मीडिया को दूर रखने पर सहमति थी
- "इस बात पर सहमति थी कि इस पूरे मामले से मीडिया को दूर रखा जाएगा। इसके बाद भी कई बार पाकिस्तानी मीडिया जाधव परिवार के करीब तक पहुंच गए। उन्हें मानसिक रूप से परेशान किया गया। जाधव के बारे में झूठी रिपोर्ट चलाई गईं।"

4) मंगलसूत्र, कंगन और बिंदी उतरवा ली
- "सिक्युरिटी के नाम पर कल्चरल और रिलीजियस (सांस्कृतिक और धार्मिक) भावनाओं से छेड़छाड़ की गई। वहां, मंगलसूत्र, कंगन और बिंदी जैसी चीजें भी उतरवा ली गईं। कपड़े भी चेंज करने को कहा गया।"

5) मराठी में बात नहीं करने दी मां को

- "जाधव की मां को मराठी में बातचीत करने से रोका गया। जब भी उन्होंने ऐसा करने की कोशिश की, उन्हें टोका गया। उनसे अंग्रेजी में बात करने को कहा गया।"

6) भारत के डिप्लोमैट को दूर रखा गया

- "भारत के डिप्टी हाई कमिश्नर को जाधव की फैमिली से अलग कर दिया गया। उन्हें बिना बताए मीटिंग के लिए ले जाया गया। जाधव और उनकी मां-पत्नी के बीच मुलाकात उनकी मौजूदगी के बिना ही शुरू की गई। उन्हें दूसरे केबिन में रोका गया।"

7) जाधव की पत्नी की जूतियां नहीं लौटाईं
- रवीश ने बताया- "मुलाकात के पहले जाधव की पत्नी की जूतियां उतरवा ली गईं। इन्हें मुलाकात के बाद वापस नहीं लौटाई गईं। उन्होंने इस बात को लेकर आगाह किया कि अगर उसने इस बारे में कोई शरारतपूर्ण हरकत की तो ठीक नहीं होगा।"

8) बहुत तनाव में थे जाधव

- रवीश ने बताया- "जाधव बहुत तनाव में थे। ऐसा लग रहा था कि वह काफी दबाव में बोल रहे थे। बहुत साफ पता चल रहा था कि पाकिस्तानी पक्ष को साबित करने के मकसद से उनसे कुछ बातें जबरन बुलवाई गई थीं। उनकी सेहत को लेकर भी हमें कुछ शंकाए हैं। इस मुलाकात में यकीन करने लायक जैसा कुछ भी नहीं है।"

भारत कब लौटी जाधव की पत्नी और मां

- जाधव की मां अवंतिका और पत्नी चेतना सोमवार शाम को ही इस्लामाबाद से मस्कट के रास्ते नई दिल्ली लौटीं। मंगलवार को उन्होंने सुषमा स्वराज से करीब 2 घंटे तक बातचीत की। इसके बाद विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार का बयान आया।

कब हुई थी जाधव और उनकी मां-पत्नी की मुलाकात

- पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव की सोमवार को मां और पत्नी से मुलाकात हुई थी। यह मीटिंग 47 मिनट चली। पाकिस्तान की फॉरेन मिनिस्ट्री में मुलाकात के वक्त सब कुछ ठीक नहीं था। जाधव और उनकी पत्नी चेतना-मां अवंतिका के बीच एक ग्लास पार्टिशन (कांच की दीवार) थी। जाधव के सामने एक फोन था। इसका स्पीकर ऑन करके बातचीत कराई गई।

- कुछ दूरी पर इंडियन डिप्लोमैट जेपी सिंह थे। खास बात ये है कि सिंह के सामने भी एक ग्लास पार्टिशन था। यानी वो उस बातचीत को नहीं सुन सकते थे, जो जाधव और उनकी पत्नी-मां के बीच हो रही थी। जब मुलाकात खत्म हो गई, तो पाकिस्तान ने जाधव का नया वीडियो जारी किया। इसमें जाधव कथित तौर पर मीटिंग अरेंज करने के लिए पाकिस्तान सरकार का शुक्रिया अदा करते नजर आते हैं।

क्या है मामला?

- पाकिस्तान आर्मी का दावा है कि जाधव इंडियन एजेंसी रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (RAW) के लिए जासूसी कर रहे थे। उन्हें बलूचिस्तान प्रांत से पकड़ा गया। इसके बाद पाक आर्मी के फील्ड जनरल कोर्ट मार्शल (FGCM) ने अप्रैल में फांसी की सजा सुनाई थी।

- इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस ने 18 मई, 2017 को फांसी की सजा पर रोक लगा दी थी। पाकिस्तान को कुछ और शर्तें पूरी करने को कहा।

भारत का क्या कहना है?

- भारत का कहना है कि जाधव को ईरान से अगवा किया गया था। इंडियन नेवी से रिटायरमेंट के बाद वे ईरान में बिजनेस कर रहे थे। हालांकि, पाक का दावा है कि जाधव को बलूचिस्तान से 3 मार्च 2016 को अरेस्ट किया गया था। पाकिस्तान ने जाधव पर बलूचिस्तान में अशांति फैलाने और जासूसी का आरोप लगाया है।

सोमवार को पाकिस्तान की फॉरेन मिनिस्ट्री में जाधव की मां और पत्नी। सोमवार को पाकिस्तान की फॉरेन मिनिस्ट्री में जाधव की मां और पत्नी।
जाधव की मां और पत्नी भारत के डिप्टी हाईकमिश्नर जेपी सिंह के साथ। जाधव की मां और पत्नी भारत के डिप्टी हाईकमिश्नर जेपी सिंह के साथ।