--Advertisement--

निहत्थे ही आतंकियों से भिड़ गए शहीद सूबेदार का अंतिम संस्कार, लेफ्टिनेंट बेटे ने कहा- उन पर गर्व है मुझे

सुंजवान कैंप हमले में शहीद हुए सूूबेदार मदनलाल का सोमवार को उनके पैतृक गांव कठुआ में अंतिम सस्कार किया गया।

Dainik Bhaskar

Feb 12, 2018, 05:25 PM IST
मदनलाल शनिवरा को सुंजवान आर्म मदनलाल शनिवरा को सुंजवान आर्म

जम्मू-कश्मीर. जम्मू के सुंजवान आर्मी कैंप हमले में शहीद हुए सूूबेदार मदनलाल का सोमवार को उनके गांव कठुआ में अंतिम संस्कार किया गया। मदनलाल को उनके लेफ्टिनेंट बेटे अंकुश चौधरी ने सेना की वर्दी में सलामी दी। अंकुश ने कहा- "मुझे अपने पिता पर गर्व है, सीने में दो गोली लगने के बाद भी वे नहीं रुके। मैं उनका आधा भी कर पाया तो मेरे लिए गर्व की बात होगी।” बता दें कि सुंजवान कैंप हमले के दौरान सूबेदार मदनलाल आतंकियों से निहत्थे भिड़ गए थे। इस हमले में 5 जवान शहीद हो गए थे, वहीं एक सिविलियन की मौत हो गई थी। चार आतंकी भी ढेर कर दिए गए थे।

2 गोलियां लगी थीं सूबेदार मदनलाल को
- सुंजवान कैंप पर शनिवार को सुबह करीब 5 बजे आतंकियों ने हमला किया था।
- जब आतंकी कैंप में घुसे तब मदनलाल अपने क्वार्टर में ही थे। अचानक फायरिंग की आवाज सुनकर वो उठ गए। बाहर निकलकर देखा तो आतंकी फायरिंग करते हुए उनके घर में घुसने लगे। मदनलाल के पास कोई हथियार नहीं था। इसके बावजूद वो आतंकियों से भिड़ गए।
- मदनलाल ने आतंकियों को घर में घुसने नहीं दिया। उन्हें सीने में 2 गोलियां लगीं। मौके पर ही उनका निधन हो गया। उनकी बहादुरी की वजह से घर में मौजूद परिवार के 4 लोग बच गए। जानकारी के मुताबिक, आतंकी उनके घर में घुस कर परिवार को बंधक बनाना चाहते थे।

पिता की बदौलत बची परिवार की जान
- मदनलाल के बेटे ट्रेनी लेफ्टिनेंट अंकुश चौधरी ने कहा, "पिता की हिम्मत से आज मेरा परिवार सुरक्षित है। आतंकियों से सामना करते समय पिता ने जितना किया, अगर मैं उसका आधा भी कर पाया, तो मेरे लिए गर्व की बात होगी।"

पैतृक गांव में हुआ अंंतिम संस्कार
- शहीद मदनलाल का अंतिम संस्कार जम्मू के पास उनके पैतृक गांव कठुआ में पूरे सम्मान के साथ किया गया। इस दौरान सेना के अफसर और आम लोग मौजूद थे। वहां मौजूद लोगों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए।

संतरी ने CRPF कैंप पर हमले को किया नाकाम
- सोमवार को श्रीनगर के करण नगर इलाके में CRPF कैंप पर हुए हमले को संतरी ने नाकाम कर दिया। कैंप की पहरेदारी कर रहे संतरी ने आतंकवादियों के संकेत मिलने पर उनपर फायरिंग शुरू कर दी।
- फायरिंग की आवाज सुनकर आतंकी फरार हो गए।

तीन दिन में दो आतंकी हमले
- जम्मू-कश्मीर में तीन दिन में दो आतंकी हमले हुए। दोनों बार आतंकियों ने फोर्स के ठिकाने को निशाना बनाया। जम्मू के सुंजवान आर्मी कैंप में शनिवार तड़के आर्मी कैंप पर आतंकियों ने हमला किया। इसमें 5 जवान शहीद हए और एक नागरिक की मौत हो गई।
- सोमवार को आतंकियों ने श्रीनगर के करन नगर स्थित सीआरपीएफ कैंप पर हमला किया। इसमें एक जवान शहीद हो गया।

X
मदनलाल शनिवरा को सुंजवान आर्ममदनलाल शनिवरा को सुंजवान आर्म
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..