Hindi News »National »Latest News »National» Mehbooba Mufti:126 Youths In Valley Joined Militancy In 2017 - पिछले साल घाटी में 126 युवाओं ने आतंकी गुटों को ज्वाइन किया, 2016 से 38 ज्यादा: महबूबा मुफ्ती

पिछले साल घाटी में 126 युवाओं ने आतंकी गुटों को ज्वाइन किया, 2016 से 38 ज्यादा: महबूबा मुफ्ती

2014 से कश्मीरी लड़कों का आतंकी बनना तेज हुआ। इस साल 54 युवा आतंकी बने। 2015 में 66, 2016 में 88 युवा आतंकी बने।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Feb 06, 2018, 05:18 PM IST

  • पिछले साल घाटी में 126 युवाओं ने आतंकी गुटों को ज्वाइन किया, 2016 से 38 ज्यादा: महबूबा मुफ्ती, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    जुलाई, 2016 में कश्मीर में हिजबुल आतंकी बुरहान वानी (दाएं) को फोर्स ने मार गिराया था। 2017 में वानी का ही साथी सब्जार अहमद भट (बाएं) भी मारा गया। (फाइल)

    श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर में 2017 में 126 युवाओं ने आतंकी गुटों को ज्वाइन किया। ये आंकड़ा 2016 में युवाओं के आतंकी बनने से 88 ज्यादा है। जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने मंगलवार को ये बात विधानसभा में कही। 2010 से कितने युवाओं ने आतंकी गुटों को ज्वाइन किया, इसका डाटा मौजूद है। वहीं, लोकसभा में गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने बताया कि 2017 में कश्मीर में घुसपैठ की घटनाएं हुईं और 75 आतंकी मारे गए।

    नेशनल कॉन्फ्रेंस के सवाल पर महबूबा का जवाब

    - न्यूज एजेंसी के मुताबिक महबूबा ने विधानसभा में लिखित रूप से जवाब दिया, "2015 में 66, 2016 में 88 और 2017 में 126 युवाओं ने आतंकी गुटों को ज्वाइन किया।''
    - नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता अली मोहम्मद ने लिखित में सवाल पूछा था कि घाटी में कितने युवा आतंकी बन चुके हैं।
    - न्यूज एजेंसी ने दिसंबर में बताया था कि 2017 में कश्मीरियों ने पिछले सात सालों की तुलना में सबसे ज्यादा आतंकी गुटों को ज्वाइन किया है। हालांकि इस बात को जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद ने नकार दिया था।

    कश्मीर के युवाओं का आतंकी गुटों में भर्ती होना बढ़ा

    - पिछले साल मार्च में संसद में रखे गए डाटा के मुताबिक, 2014 से घाटी में युवाओं के हथियार उठाने की संख्या में इजाफा हुआ है।
    - डाटा के मुताबिक, 2010 में 54 युवा आतंकी बने। अगले तीन सालों में युवाओं के आतंकी बनने में गिरावट आई। 2011 में कश्मीर में 23, 2012 में 21 और 2013 में महज 16 लड़के आतंकी बने।
    - 2014 से कश्मीरी लड़कों का आतंकी बनना तेज हुआ। इस साल 54 युवा आतंकी बने। 2015 में 66, 2016 में 88 युवा आतंकी गुटों में भर्ती हुए।

    बुरहान के एनकाउंटर के बाद युवा ज्यादा आतंकी बन रहे

    - 8 जुलाई, 2016 को सिक्युरिटी फोर्स ने हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी बुरहान वानी को एनकाउंटर में मार गिराया। बुरहान को कश्मीर का पोस्टर ब्वॉय माना जाता था।
    - वहीं, सिक्युरिटी अफसरों का मानना है कि 1990 के दशक और आज के आतंकवाद में बदलाव आया है। पहले की बजाय आज के युवाओं में आतंकवाद की विचारधारा कहीं ज्यादा मजबूत हुई है।
    - "घाटी में एक तरह से पैन-इस्लामिज्म का ट्रेंड रहा है। इसमें युवा आतंकवाद का रास्ता इसलिए पकड़ते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि वे मारे जा सकते हैं।''

    कश्मीर में पिछले साल घुसपैठ की 515 घटनाएं हुईं

    - रिजिजू ने कहा कि पिछले साल कश्मीर में घुसपैठ की 515 घटनाएं हुईं और 75 आतंकी मारे गए। 2016 में 45 आतंकी मारे गए थे।
    - 2015 में घुसपैठ की 223 घटनाएं हुई थीं और 64 आतंकी मारे गए थे।
    - रिजिजू ने कहा कि कश्मीर में सिक्युरिटी फोर्सेस आतंकवाद से निपटने के लिए पर्याप्त कदम उठा रही हैं।

  • पिछले साल घाटी में 126 युवाओं ने आतंकी गुटों को ज्वाइन किया, 2016 से 38 ज्यादा: महबूबा मुफ्ती, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता अली मोहम्मद के लिखित सवाल पर महबूबा ने विधानसभा में जवाब दिया। (फाइल)
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Mehbooba Mufti:126 Youths In Valley Joined Militancy In 2017 - पिछले साल घाटी में 126 युवाओं ने आतंकी गुटों को ज्वाइन किया, 2016 से 38 ज्यादा: महबूबा मुफ्ती
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×