Hindi News »National »Latest News »National» Rajasthan Refinery: PM Modi In Barmer To Attend Work Commencement, A 43000 Crore Project

पत्थर लगाकर गुमराह नहीं कर सकते, काम शुरू करना जरूरी होता है: बाड़मेर रिफाइनरी में मोदी

रिफाइनरी से राजस्थान को 34 हजार करोड़ की अतिरिक्त आय होगी। ये देश की सबसे मॉडर्न रिफाइनरी होगी।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 16, 2018, 03:49 PM IST

  • पत्थर लगाकर गुमराह नहीं कर सकते, काम शुरू करना जरूरी होता है: बाड़मेर रिफाइनरी में मोदी, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    मोदी ने कहा कि राजस्थान में कांग्रेस और अकाल ये जुड़वा भाई हैं। जहां कांग्रेस जाती है वहां अकाल साथ-साथ जाता है।

    जयपुर. नरेंद्र मोदी मंगलवार को बाड़मेर में राजस्थान रिफाइनरी के काम की शुरुआत की। इस मौके पर मोदी ने कांग्रेस पर तंज कसा कि केवल पत्थर जड़ने से नहीं बल्कि काम शुरू करना जरूरी होता है। प्रोजेक्ट 43 हजार करोड़ का है। मोदी यहां जनसभा को भी संबोधित करेंगे। प्रोग्राम में राजस्थान के गवर्नर कल्याण सिंह, पेट्रोलियम मिनिस्टर धर्मेंद्र प्रधान और सीएम वसुंधरा राजे मौजूद रहेंगी।

    पत्थर लगाने से लोगों को गुमराह नहीं किया जा सकता

    - मोदी ने कहा, "पत्थर लगाने से लोगों को गुमराह नहीं किया जा सकता। अफसरों ने जब मुझे प्रोजेक्ट की जानकारी दी तो मैंने पूछा कि ये पूरा कब होगा।''
    - "2022 में जब देश आजादी की 75वीं वर्षगांठ मना रहा होगा। हम आजादी के दीवानों के सपनों का भारत बनाकर उनके चरणों में अर्पित करेंगे। 2022 में इस रिफाइनरी का काम पूरा होगा।''
    - "मैं राजस्थान सरकार और धर्मेंद्र प्रधान जी के विभाग को बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूं।''
    - "बाड़मेर धरती ये वो धरती है जहां महान शख्सियतों ने जन्म लिया। मैं इस धरती को नमन करता हूं। स्वाधीनता सेनानी गुलाबचंद जी भूमि है। उन्होंने गांधी के सत्याग्रह के पहले नमक सत्याग्रह किया था। उन्हें हर कोई याद करता है।''
    - "मैं यहां से भैरोसिंह शेखावत जी को स्मरण करता हूं। मैं आग्रह करता हूं कि हम सब अपने-अपने इष्टदेवता को प्रणाम करके हम इसी धरती के सपूत श्रीमान जसवंत सिंह जी को भी याद करें। उनकी सेहत जल्द अच्छा हो जाए। उनके अनुभव का लाभ हमें मिले और ईश्वर हमारी प्रार्थना सुनेगा।''

    मैं इजरायल जाने वाला पहला पीएम

    - मोदी ने कहा, "दुर्भाग्य से हमारे देश में बलिदान को भुला देने की परंपरा रही। आपने देखा होगा।''
    - "इजरायल के पीएम भारत आए हैं। ऐसा 14 साल बाद हुआ है। देश आजाद होने के बाद मैं पहला पीएम था जो इजरायल की धरती पर गया।''
    - "मेरे राजस्थान के वीरो आपको गर्व होगा कि मैं इजरायल गया तो समय की खींचातानी के बीच भी मैं हाइफा गया और वहां जाकर के प्रथम विश्वयुद्ध में हाइफा को मुक्त कराने में जिन वीरों ने योगदान दिया, उसका नेतृत्व मेजर दलपत सिंह शेखावत ने किया था। ये बात 100 साल पहले की है।''
    - "दिल्ली में एक तीन मूर्ति चौक है। वहां तीन वीरों की मूर्तियां हैं। इजराइली पीएम भारत आए तो हम दोनों वहां गए। वहां दलपत सिंह की प्रतिमा है। अब उसका नाम तीन मूर्ति हाइफा चौक होगा। ताकि राजस्थान की इस वीर को लोग याद रख सकें।''
    - "ये वीरों की धरती है। बलिदान की इस कोई गाथा नहीं होगी जिसमें इस धरती का जिक्र नहीं हुआ हो। मैं इस धरती को प्रणाम करता हूं।''

    कांग्रेस और अकाल साथ-साथ चलते हैं

    - मोदी के मुताबिक, "राजस्थान में कांग्रेस और अकाल ये जुड़वा भाई हैं। जहां कांग्रेस जाती है वहां अकाल साथ-साथ जाता है।''
    - "वसुंधरा जी के भाग्य में लिखा है कि उनको जब भी सेवा का मौका मिला। इस धरती को पानी मिलता गया।''
    - "जो रिसर्च करने के आदी हैं। बाल की खाल निकालने के आदी हैं। मैं उनसे कहता हूं कि जरा देखें कि कांग्रेस सरकारों की कार्यशैली कैसी रही।''
    - "मैंने बजट के दौरान अफसरों से पूछा- बताओ कि ये जो बड़े-बड़े दावे किए गए उनका क्या हाल हुआ। कई सरकारें आईं और गईं। रेलवे बजट में 15 सौ से ज्यादा ऐसी घोषणाएं की गई जिनका नामोनिशान नहीं है।''
    - "हमने तय किया कि रेल बजट में वाहवाही लूटने और झूठी तालियां बजवाने का काम खत्म। जितना होना है, उतना ही बताइए। लेकिन, देश को सच का सामना करने की ताकत आएगी।''

    पहले की सरकार ने वन रैंक, वन पेंशन को भुनाया

    - मोदी ने कहा, "इतना ही नहीं वन रैंक वन पेंशन। 40 साल तक ये मामला अटका रहा। क्या मांग नहीं उठी थी? क्या हर चुनाव के पहले इसे भुनाने का प्रयास नहीं हुआ था।''
    - "जब चारों तरफ से दबाव बढ़ा तो मैंने 15 सितंबर 2013 को रेवाड़ी में कहा था कि हम आएंगे तो इसको देंगे। उन्होंने इंटरिम बजट में 500 करोड़ रख दिए। फिर चुनाव में भुनाते रहे।''
    - "हम जब सरकार में आए तो कहा- इसे लागू करो। बजट में 500 करोड़ लिखा गया था। हकीकत बिल्कुल अलग थी। सिर्फ रिफाइनरी कागज पर थी। वहां तो वन रैंक वन पेंशन कागज पर भी नहीं थी। सिर्फ चुनावी वादा था।''
    - लेकिन, मुझे कागज में जुटाते ही डेढ़ साल लग गया। मैं हैरान था। देश के लिए जान देने वाले सैनिकों के लिए सरकार के पास कोई योजना नहीं थी। पहले सोचा कि ये 2 हजार करोड़ था। लेकिन, ये मामला 12 हजार करोड़ का था। कांग्रेस इसे पांच सौ करोड़ में निपटा रही थी।''
    - "उस समय के वित्त मंत्री इतने तो कच्चे नहीं थे। यहां पत्थर लगा दिया, वहां कागज लगा दिया। मैंने सैनिकों से कहा- हम 12 करोड़ निकाल सकते हैं। लेकिन, उन्होंने कहा- आप बताइए, आप क्या चाहते हैं। मेरी मदद कीजिए।''

    रिफाइनरी में क्या है खास?

    - राजस्थान का 43,129 करोड़ रुपए का अब तक का सबसे बड़ा इन्वेस्टमेंट है।
    - इससे राजस्थान को 34 हजार करोड़ की अतिरिक्त आय होगी।
    - ये देश की सबसे मॉडर्न रिफाइनरी होगी। साथ ही, पब्लिक सेक्टर में देश की पहली इंटीग्रेटेड रिफाइनरी और पेट्रोकेमिकल कॉम्प्लेक्स होगा।
    - पेट्रोल, रबर, पेंट और प्लास्टिक जैसे अन्य सहायक उद्योगों का विकास होगा। राज्य में इम्प्लॉइमेंट को मौके पैदा होंगे।
    - 2022-23 तक रिफाइनरी बनकर तैयार हो जाएगी।

  • पत्थर लगाकर गुमराह नहीं कर सकते, काम शुरू करना जरूरी होता है: बाड़मेर रिफाइनरी में मोदी, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    रिफाइनरी से राजस्थान को 34 हजार करोड़ की अतिरिक्त आय होगी। (फाइल)
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Rajasthan Refinery: PM Modi In Barmer To Attend Work Commencement, A 43000 Crore Project
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×