--Advertisement--

विदेश मंत्रालय की मदद से पाकिस्तान में फंसी मोहम्मदी की 21 साल बाद वतन वापसी, बोली- मेरे लिए आज ही ईद

हैदराबाद के यकुतपुरा निवासी मोहम्मदी बेगम का निकाह 1996 में मोहम्मद यूनिस से हुआ था।

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 03:03 PM IST
माेहम्मदी बेगम 10 साल पहले अपने पति यूनिस के साथ ओमान से पाकिस्तान गई थी। माेहम्मदी बेगम 10 साल पहले अपने पति यूनिस के साथ ओमान से पाकिस्तान गई थी।

नई दिल्ली. पाकिस्तान में पति के चंगुल में फंसी हैदराबाद की मोहम्मदी बेगम की आखिरकार 21 साल बाद बुधवार को वतन वापसी हो गई। परिवार वालों की गुहार पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उनके लिए न सिर्फ वीजा जारी किया, बल्कि जब उन्हें पता चला कि मोहम्मदी के पास पैसे नहीं हैं तो उन्होंने उसके टिकट का भी इंतजाम किया। मोहम्मदी को हैदराबाद में उसके परिवार के पास पहुंचा दिया गया। वह अपने 3 बेटों और 2 बेटियों को पति के पास पाकिस्तान में छोड़कर आई है।


1996 में फोन पर हुआ था निकाह
- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, हैदराबाद के यकुतपुरा निवासी मोहम्मदी बेगम का निकाह 1996 में ओमान में रहने वाले मोहम्मद यूनिस से हुआ था। निकाह का कबूलनामा फोन पर ही हुआ था।

- मोहम्मदी के पिता अकबर और मां हाजरा बेगम ने बताया कि उस वक्त यूनिस ने खुद को ओमान का नागरिक बताया था। निकाह के बाद मोहम्मदी को उसके परिवार ने यूनिस के पास ओमान भेज दिया। वहां पहुंचकर पता चला कि वह पाकिस्तान का रहने वाला है।

10 साल पहले पति ले गया था पाकिस्तान

- मोहम्मदी के माता-पिता ने बताया कि करीब 10 साल पहले यूनिस उनकी बेटी को ओमान से पाकिस्तान ले गया।
- उनका आरोप है कि यूनिस ने निकाह के बाद से मोहम्मदी को न ही परिवार से बात करने दी न ही उसे भारत आने दिया।

यूट्यूब पर बयां किया था दर्द

- पिछले साल मोहम्मदी ने यूट्यूब पर वीडियो अपलोड करके अपना दर्द बयां किया था। उनका कहना था कि उन्हें धोखा दिया गया। पति उन्हें मारता-पीटता है। वो भारत लौटना चाहती हैं।

- यह बात विदश मंत्री सुषमा स्वराज को पता चली तो उन्होंने मोहम्मदी के लिए नवंबर में 30 दिन का वीजा जारी कर दिया था।

पैसे नहीं थे तो टिकट का भी इंतजाम किया

- मोहम्मदी के वीजा की तारीख 16 दिसंबर तक थी। पति उन्हें आने नहीं दे रहा था।

- इसके बाद परिवार वालों ने सुषमा स्वराज से दोबारा गुहार लगाई। उन्होंने बताया कि मोहम्मदी का पति उसे टिकट के लिए पैसे नहीं दे रहा है। साथ ही वीजा की तारीख भी खत्म होने वाली है।

- इसके बाद स्वराज ने ट्वीट करके भरोसा दिलाया कि टिकट का इंतजाम भी कर दिया जाएगा।

- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बाद में पाकिस्तान स्थित भारतीय दूतावास ने न सिर्फ मोहम्मदी के वीजा की तारीख बढ़ाई, बल्कि उसके लिए एयर टिकट का इंतजाम भी किया।

भारत आकर मोहम्मदी ने क्या कहा?
- मोहम्मदी ने कहा, "मैं अपने पति के साथ 10 साल पहले ओमान से पाकिस्तान गई थी। पति हर रोज मुझे पीटता था। मैं बहुत खुश हूं कि अपने परिवार के पास वापस आ गई। मुझे ऐसा लग रहा है कि जैसे आज ही ईद है।"

- मोहम्मदी के परिवार ने मोहम्मदी की वतन वापसी कराने के लिए सुषमा स्वराज को धन्यवाद दिया।

मोहम्मदी के परिवार ने सुषमा स्वराज से टिकट की व्यवस्था करने की मांग की थी। मोहम्मदी के परिवार ने सुषमा स्वराज से टिकट की व्यवस्था करने की मांग की थी।
X
माेहम्मदी बेगम 10 साल पहले अपने पति यूनिस के साथ ओमान से पाकिस्तान गई थी।माेहम्मदी बेगम 10 साल पहले अपने पति यूनिस के साथ ओमान से पाकिस्तान गई थी।
मोहम्मदी के परिवार ने सुषमा स्वराज से टिकट की व्यवस्था करने की मांग की थी।मोहम्मदी के परिवार ने सुषमा स्वराज से टिकट की व्यवस्था करने की मांग की थी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..