देश

  • Home
  • National
  • Modi says Those who are releasing Fatwas against nationalists should see we get Father Tom back
--Advertisement--

हम फादर टॉम को वतन वापस लाए, राष्ट्रवादियों पर फतवा जारी करने वाले ये भी देखें: मोदी

आर्क बिशप थॉमस मैकवैन ने लेटर लिखकर कहा था कि हमें राष्ट्रवादियों को हराने के लिए प्रार्थना करनी होगी।

Danik Bhaskar

Dec 03, 2017, 08:23 PM IST
नरेंद्र मोदी ने कहा कि हम वेस्ट एशिया में फंसी नर्सों को लाने की भी हर कोशिश कर रहे हैं। नरेंद्र मोदी ने कहा कि हम वेस्ट एशिया में फंसी नर्सों को लाने की भी हर कोशिश कर रहे हैं।

अहमदाबाद. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को एक सभा के दौरान गांधीनगर में राष्ट्रवादियों के खिलाफ लेटर लिखने वाले आर्क बिशप पर निशाना साधा। हालांकि, मोदी ने आर्कबिशप थॉमस मैकवैन का सीधे नाम नहीं लिया। लेकिन, पीएम ने कहा, "राष्ट्रवादियों के खिलाफ फतवा जारी करने वाले ये भी देखें कि हमारी सरकार फादर टॉम और फादर प्रेम को सकुशल वतन वापस लाई।' बता दें कि आर्क बिशप थॉमस मैकवैन ने कई चर्चों के प्रीस्ट्स को लेटर लिखकर कहा था कि हमें राष्ट्रवादियों को हराने के लिए प्रार्थना करनी होगी।

मोदी ने किस तरह दिया जवाब?

- मोदी ने कहा, "जो लोग राष्ट्रवादियों के खिलाफ फतवा जारी कर रहे हैं उन्हें देखना चाहिए कि हम फादर टॉम को वापस लाए। फादर टॉम जो लॉर्ड क्राइस्ट के लिए अपने प्यार से निर्देशित थे और काम कर रहे थे। हम उन्हें वापस लाए। हमने अफगानिस्तान में किडनैप हुए फादर प्रेम की भी सकुशल वतन वापसी कराई।"
- "ये हमारी राष्ट्रवादिता ही थी, जिसने हमें फादर टॉम और फादर प्रेम को वापस लाने के लिए प्रेरित किया। जब जुडिथ डिसूजा किडनैप हुई थीं, तो हमने इस देश की बेटी को वापस लाने के लिए हर कोशिश की। हमारे देश की नर्सें वेस्ट एशिया में फंसी हुई हैं। वे वहां पर मानवता का काम कर रही हैं। जब वो वहां फंसी हुई हैं तो हम चैन की नींद कैसे सो सकते हैं। हम उन्हें वापस लाने की हर कोशिश कर रहे हैं।"

आर्कबिशप ने किस तरह का लेटर लिखा था?
- पिछले दिनों गांधीनगर के कैथोलिक आर्कबिशप थॉमस मैकवैन ने पादरियों को लेटर लिखा था।
- उन्होंने लिखा था, "प्रीस्ट को देश को राष्ट्रवादी ताकतों से बचाने के लिए प्रार्थना करनी चाहिए, क्योंकि देश का लोकतांत्रिक ढांचा दांव पर है। ओबीसी, एससी-एसटी, दलितों और मुस्लिमों के बीच असुरक्षा की भावना बढ़ रही है।"


इलेक्शन कमीशन ने क्या कदम उठाया?
- लीगल राइट्स ऑब्जर्वेटरी ने थॉमस के खिलाफ तुरंत एक्शन लिए जाने की मांग की थी। ऑर्गनाइजेशन ने कहा था, "ये वोटर्स में डर फैलाने की कोशिश है। साथ ही ये धर्म और जाति के नाम पर वोटर्स को बांटने की कोशिश है।'
- इलेक्शन कमीशन ने थॉमस मैकवैन को नोटिस भेजा था, जिसमें उनसे जवाब मांगा गया कि इस लेटर को लिखने के पीछे उनकी मंशा क्या थी?

क्या जवाब दिया था थॉमस मैकवैन ने?
- इंडियन एक्सप्रेस को थॉमस मैकवैन ने बताया था, "ये लेटर केवल क्रिश्चियन कम्युनिटी को प्रार्थना करने के लिए भेजा गया था। हम हमेशा प्रार्थना कर सकते हैं कि अच्छे इंसान हमारे लीडर बनें। ये लेटर किसी को नुकसान पहुंचाने या बुरी नीयत से नहीं भेजा गया था।"

ये भी पढ़ें-

UP में कांग्रेस साफ हो गई, वो गुजरात में भाई-भाई को बांट रही: भरूच में बोले मोदी

नरेंद्र मोदी ने आर्कबिशप का नाम लिए बगैर कहा कि फादर टॉम को हमारी सरकार सकुशल वतन वापस लाई। - फाइल नरेंद्र मोदी ने आर्कबिशप का नाम लिए बगैर कहा कि फादर टॉम को हमारी सरकार सकुशल वतन वापस लाई। - फाइल
Click to listen..