• Home
  • National
  • Narendra Modi Mizoram and Meghalaya visit news and updates
--Advertisement--

नरेंद्र मोदी आज नॉर्थ-ईस्ट दौरे पर, मिजोरम-मेघालय में करेंगे कई प्रोजेक्ट्स की शुरुआत

पीएम मोेदी शनिवार को मिजोरम और मेघालय में कई प्रोजेक्ट्स की शुरुआत करेंगे।

Danik Bhaskar | Dec 16, 2017, 07:29 AM IST
नरेंद्र मोदी ने कहा कि सीप्लेन नरेंद्र मोदी ने कहा कि सीप्लेन

नई दिल्ली. नरेंद्र मोदी शनिवार को मेघालय और मिजोरम के दौरे पर पहुंचे। उन्होंने आइजोल में हाइड्रो इलेक्ट्रिक पावर प्लान्ट और शिलॉन्ग में तुरा रोड प्रोजेक्ट का इनॉगरेशन किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि पावर प्लान्ट मिजोरम में केंद्र सरकार का पहला कामयाब प्रोजेक्ट है। वाजपेयी जी ने नॉर्थ-ईस्ट के विकास की शुरुआत की थी। सरकार की 'एक्ट ईस्ट पॉलिसी' से नॉर्थ-ईस्ट, दक्षिण-पूर्व एशिया का गेटवे बनेगा। पड़ोसी देशों के साथ कारोबार के नए रास्ते खुलेंगे। हमने यहां रोड, रेल और टूरिज्म सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए करीब 180 हजार करोड़ रुपए का फंड मंजूर किया है। सीप्लेन के इस्तेमाल से यहां भी कनेक्टिविटी बढ़ेगी।

सरकार का लक्ष्य ट्रांसपोर्टेशन से ट्रांसफर्मेशन: मोदी

- शिलॉन्ग में मोदी ने कहा, ''नए रोड प्रोजेक्ट से मेघालय में शिलॉन्ग और तुरा के बीच कनेक्टिविटी बढ़ेगी। सफर में वक्त घटेगा। हमारा लक्ष्य साफ है कि ट्रांसपोर्टेशन से ट्रांसफर्मेशन। 2014 में हमारी सरकार आई तो मैंने साफ निर्देश दिए कि कोई न कोई मंत्री हर 15 दिन में नॉर्थ-ईस्ट का दौरा करे। यह दौरा ऐसा भी नहीं होना चाहिए कि सुबह आए और शाम को वापस दिल्ली आ जाओ। वे यहां आकर रुकते हैं और आप लोगों से मुलाकात करते हैं।''

- ''पूरे नॉर्थ-ईस्ट में 4 हजार किलोमीटर लंबे रोड और हाइवे बनाने के लिए केंद्र सरकार ने 32 हजार करोड़ रुपए के फंड मंजूर किया है। सरकार यहां 14 हजार किलोमीटर लंबी 15 नई रेल लाइन बिछा रही है। इसकी लागत 47 हजार करोड़ है।''

टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए 100 करोड़ मंजूर किए

- मोदी ने कहा, ''मोरारजी देसाई के बाद अगर कोई प्रधानमंत्री नॉर्थ-ईस्टर्न काउंसिल में शामिल हुआ तो वह मैं था। पिछले साल मैंने शिलॉन्ग में इस काउंसिल की मीटिंग का इनॉगरेशन किया था।''
- ''पिछले साल मेघालय के दौरे पर मैंने यहां टूरिज्म सेक्टर को बढ़ावा देने की अपील की थी। हम इस राज्य को टॉप टूरिज्म डेस्टिनेशन बनाना चाहते हैं। इसके लिए सरकार ने 100 करोड़ का फंड मंजूर किया है।''
- ''2022 में देश की आजादी के 75 साल पूरे होंगे। इसी दौरान मेघालय की स्थापना के भी 50 साल पूरे हो जाएंगे। यह राज्य के लिए नया संकल्प लेने के लिए बड़ा अवसर होगा।''

खूबसूरत राज्य में आकर यादें ताजा हो गईं: पीएम

- नरेंद्र मोदी ने आइजोल में कहा, ''हाइड्रो पावर प्लान्ट मिजोरम में केंद्र सरकार का पहला कामयाब प्रोजेक्ट है। वाजपेयी जी ने नॉर्थ-ईस्ट में विकास की शुरुआत की थी। उनके कार्यकाल में शुरू हुई विकास यात्रा को आगे बढ़ा रहे हैं। हमारी सरकार के मंत्री समय-समय पर नॉर्थ-ईस्ट का दौरा करते रहे हैं।''

- ''यह प्रोजेक्ट 1998 में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में पास हुआ था, लेकिन इसके बाद इसमें देरी हुई। हाइड्रो प्रोजेक्ट नॉर्थ-ईस्ट के विकास में अहम रोल निभाएगा।''

- ''इस खूबसूरत राज्य में आकर यहां के लोगों के साथ बिताए पलों की यादें ताजा हो गईं। मैं सभी लोगों को क्रिसमस की शुभकामनाएं देता हूं।''

मिजोरम के नौजवानों में काफी क्षमता

- MyDoNER App लॉन्च करते हुए मोदी ने कहा, ''नॉर्थ-ईस्ट का ध्यान रखते हुए सरकार ने DONER (Ministry for Development of North Eastern Region) मंत्रालय बनाया है, जिसने 100 करोड़ रुपए का एक वेंचर कैपिटल फंड बनाया है। इसके लिए आपको दिल्ली सरकार का शुक्रिया कहने की जरूरत नहीं।''
- ''मेरा मिजोरम के नौजवानों से आग्रह है कि वो केंद्र सरकार की इन योजनाओं का फायदा उठाएं। यहां के नौजवान स्टार्टअप की दुनिया में छा जाने का हौसला रखते हैं। भारत सरकार ऐसे नौजवानों की हैंड होल्डिंग के लिए हमेशा तैयार है। फुटबॉल दुनिया में मिजोरम की पहचान बन सकता है।''

साउथ-ईस्ट का गेटवे बनेगा NE
- मोदी ने कहा, ''केंद्र सरकार 2022 तक न्यू इंडिया बनाना चाहती है, इसके लिए सरकार कई तरह के डेवलेपमेंट प्रोग्राम चलाए जा रहे हैं। भारत माला प्रोजेक्ट के तहत सरकार नॉर्थ-ईस्ट में हाईवे और रोड का नेटवर्क बना रही है।''
- ''दिल्ली सरकार काफी सक्रियता के साथ 'एक्ट ईस्ट पॉलिसी' को लेकर काम कर रही है। इसे साउथ-ईस्ट एशिया के गेटवे के तौर पर डेवलप करना चाहते हैं। मिजोरम को इससे काफी फायदा मिलेगा। पड़ोसी देश म्यांमार और बांग्लादेश के साथ कारोबार का नया रास्ता खुलेगा।''

नॉर्थ-ईस्ट जाने को बेताब हूं: मोदी

- दौरे से पहले मोदी ने ट्वीट कर कहा- ''हम देखते हैं कि नॉर्थ-ईस्ट में बहुत क्षमता है। इस क्षेत्र के बेहतर विकास के लिए हर संभव कोशिश करेंगे। मुझे नॉर्थ-ईस्ट से बुलावा आया है। मिजोरम और मेघालय जाने के लिए बेताब हूं। यहां कई अहम प्रोजेक्ट्स की शुरुआत से विकास को गति मिलेगी।''