Hindi News »National »Latest News »National» Narendra Modi Praises Union Budget 2018

सवा सौ करोड़ लोगों की उम्मीदों को पूरा करने वाला बजट, जेटली की टीम को बधाई: नरेंद्र मोदी

अरुण जेटली ने गुरुवार को मोदी सरकार का आखिरी पूर्ण बजट पेश किया। नरेंद्र मोदी ने जेटली और उनकी टीम को बधाई।

Dainikbhaskar.com | Last Modified - Feb 01, 2018, 01:39 PM IST

नई दिल्ली.नरेंद्र मोदी ने अरुण जेटली और उनकी टीम को बेहतर बजट पेश करने के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा- " यह न्यू इंडिया के नींव को सशक्त बनाने वाला बजट है। इसमें इन्फ्रास्ट्रक्चर पर ध्यान दिया गया है। गरीबों के लिए हेल्थ और आरोग्य की स्कीम हैं। वेल्थ बढ़ाने की भी योजना है। सभी के लिए कुछ ना कुछ है। ये बजट देश के सवा सौ करोड़ नागरिकों की उम्मीदों को पूरा करने वाला बजट है।"

नरेंद्र मोदी के स्पीच की 9 अहम बातें

1. ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के लिए है ये बजट

- नरेंद्र मोदी ने कहा- "ये फार्मर, कारोबार फ्रेंडली है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के लिए बजट है। बेहतर हेल्थ इश्योरेंस का बजट है। हमारे देश के किसानों ने खाद्यान और फल-सब्जी का रिकॉर्ड उत्पादन किया है। उनके लिए कई कदम इस बजट में है। उनके लिए साढ़े 14 लाख करोड़ का आवंटन है। 2 करोड़ शौचालय बनेंगे। इसका सीधा लाभ दलित, पीढ़ित, शोषित और वंचितों को मिलेगा।"

2. फल और सब्जी के लिए चलाएंगे ऑपरेशन ग्रीन्स

- "दलित, पीढ़ित, शोषित और वंचितों को रोजगार के मौके भी मिलेंगे। डेढ़ गुना लागत किसानों को मिलेगी। इस मामले में हम राज्यों से चर्चा करेंगे। फल और सब्जी के लिए ऑपरेशन ग्रीन्स चलाएंगे। अमूल ने दूध के क्षेत्र में नया कीर्तिमान रचा। उद्योग के विकास के लिए क्लस्टर बेस प्रोग्राम चलाया जाएगा।"

3. कृषि को बेहतर तकनीक से करेंगे लैस

- " अब हम कृषि क्लस्टर योजना चलाएंगे। अलग-अलग जिलों में पैदा होने वाली फसलों के लिए स्टोरेज और बेहतर तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा। कॉपरेटिव सोसायटी को इनकम टैक्स में छूट है। एफपीओ बढ़ रहे हैं। इनको पहले लाभ नहीं मिलता था। अब इनको भी कोऑपरेटिव सोसायटी का लाभ मिलेगा।"

4. किसान, विकास, व्यापार फ्रेंडली का बजट

- "हर्बल प्रोडक्ट योजना किसानों और महिलाओं की आय बढ़ाने में कारगर होगी। गोबर्धन योजना भी है। किसान, विकास, व्यापार फ्रेंडली बजट है। आने वाले दिनों दिनों में केंद्र किसानों की आय बढ़ाएंगे। ये गांव की अर्थनीति को खींच ले जाएंगे।"

5. रोजगार पैदा होंगे प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से

- "प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के जरिए रोजगार भी पैदा होंगे। हम इसे गांव के इंटीरियर विकास तक ले जाएंगे। उज्जवला योजना में ईज ऑफ लिविंग दिखती है। ये गांव की महिलाओं को धुएं से मुक्ति दिला रही है। अब पांच करोड़ से बढ़ाकर इसे आठ करोड़ महिलाओं तक ले जाया जाएगा। अनुसूचित जाति और जनजाति के लिए एक लाख करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है।"

6. आयुष्मान भारत से मिलेगा 50 करोड़ लोगों को फायदा

- "बजट में नई योजना आयुष्मान भारत लाई गई है। ये समाज के सभी वर्गों दलितों से मध्यम वर्ग तक को फायदा देगी। करीब-करीब 45 से 50 करोड़ नागरिकों को फायदा मिलेगा। इन परिवारों को चिन्हित अस्पतालों में पांच लाख तक का इलाज मुफ्त मिलेगा। मैं जिम्मेदारी से कहता हूं कि ये दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ इंश्योरेंस योजना है। इससे गांव में रहने वालों लोगों को हेल्थ सुविधाएं सुलभ होंगे।"

7. तीन लोकसभा सीट के बीच खुलेगा एक मेडिकल कॉलेज

- " देश में 24 नए मेडिकल कॉलेज बनेंगे। इससे युवाओं को मेडिकल की पढ़ाई में भी आसानी होगी। तीन संसदीय क्षेत्रों के बीच एक मेडिकल कॉलेज खोला जाएगा। सीनियर सिटिजन के लिए कई योजनाएं बनाई गई हैं। बैंकों और पोस्ट ऑफिस में इनके 50 हजार रुपए तक की कमाई पर टैक्स नहीं लगेगा। गंभीर बीमारी पर एक लाख तक जो खर्च होगा उस पर भी टैक्स नहीं लगेगा। 15 लाख डिपॉजिट पर 8 फीसदी ब्याज लगेगा। एसएमई के टैक्स रेट में पांच फीसदी की कटौती की है। इसके लिए बैंक और एनबीएफसी के ऋण को आसान कर दिया गया है।"

8. नई ताकत मिलेगी मेक इन इंडिया से

- "बड़े उद्योगों के लिए के लिए नई कदम उठाए जाएंगे। रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे। नए श्रमिकों के लिए 12 फीसदी हिस्सा सरकार देगी। कामकाजी महिलाओं के लिए हमने महत्वपूर्ण सेवा की है। ईपीएफ में उनका हिस्सा 12 से घटाकर 8 फीसदी किया गया है जबकि इम्प्लॉयर को 12 फीसदी ही जमा करना होगा।"

9. जेटली की टीम को बधाई

- "हमने नेक्स्ट जनरेशन इंफ्रास्ट्रक्चर पर काम किया है। इससे रोजगार की अपार संभावनाएं होंगी। यह बजट हर भारतीय की आशाओं और आकांक्षाओं पर खरा उतरने वाला बजट है। एक बार फिर ईज ऑफ लिविंग बढ़ाने वाले बजट के लिए वित्त मंत्री और उनकी टीम को बधाई देता हूं।"

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×