• Home
  • National
  • NASA finds Kepler 90 solar system similar to Earths with family of planets
--Advertisement--

NASA ने ब्रह्मांड में सौरमंडल केपलर-90 खोजा, हमारे सौरमंडल के जैसे इसमें भी 8 ग्रह और एक सूर्य

ब्रह्मांड के नए केपलर-90 और हमारे सौरमंडल के बीच 2,545 प्रकाश वर्ष की दूरी है।

Danik Bhaskar | Dec 16, 2017, 10:23 AM IST
कैपलर-90 में 8 ग्रह और एक सूर्य है कैपलर-90 में 8 ग्रह और एक सूर्य है

वॉशिंगटन. अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने ब्रह्मांड में हमारे सौरमंडल जैसा ही एक नया सौरमंडल खोजा है। नए सोलर सिस्टम की खोज नासा के केप्लर टेलीस्कोप की मदद से की गई। इसलिए इसका नाम भी केपलर-90 रखा गया है। धरती के सौरमंडल की तरह ही केपलर-90 में भी एक सूर्य और 8 ग्रह हैं। केपलर-90 के 7 ग्रहों को पहले ही खोज लिया गया था। हाल ही में 8वां ग्रह और इसका सूर्य खोजा गया।

नया सौरमंडल हमसे ढाई हजार प्रकाश वर्ष दूर

- इन ग्रहों के समूह को एक सौरमंडल साबित करने के लिए जरूरी था कि इसका अपना एक सूर्य भी हो। शुक्रवार को नासा ने केपलर-90 का ये सूर्य भी खोज लिया और सौरमंडल का 8वां ग्रह भी। आठवें ग्रह को केपलर-90 आई नाम दिया गया।

- नया सौरमंडल केपलर-90 हमारे सौरमंडल से 2,545 प्रकाश वर्ष (लाइट ईयर) दूर है। नए ग्रह 90 आई का टेम्परेचर 426 डिग्री सेल्सियस है। ये अपने सौरमंडल में तीसरे नंबर का ग्रह है। हमारे सौरमंडल में तीसरा ग्रह पृथ्वी है, जिसका टेम्परेचर करीब 15 डिग्री सेल्सियस है।

4 हजार से ज्यादा ग्रह खोज चुका है टेलीस्कोप

- केप्लर स्पेस टेलीस्कोप को 2009 में लॉन्च किया गया था। ये अब तक 4,034 ग्रह और डेढ़ लाख तारों की खोज कर चुका है। केपलर-90 को खोजने में नासा को गूगल के आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ने भी मदद की। एआई ने टेलीस्कोप से आने वाले सिग्नलों को पढ़कर नासा को इनपुट दिए थे।

पृथ्वी का एक साल वहां दो हफ्ते के बराबर

- खगोलशास्त्री एंड्रयू वंडरबर्ग ने बताया कि- "केपलर-90 सौरमंडल का ग्रह केपलर-90 आई तो पृथ्वी जैसा ही है। इसका आकार पृथ्वी से 30 गुना बड़ा है, लेकिन सतह पृथ्वी की तरह ही पथरीली है।

- नए ग्रह पर दो हफ्ते का समय, पृथ्वी के एक साल के बराबर होगा, क्योंकि ये अपनी कक्षा में 14.4 दिन में एक बार चक्कर लगा लेता है। हालांकि यहां का धरातल बुध ग्रह की तरह ही बहुत ज्यादा गर्म है।