• Home
  • National
  • One Suspect remanded to SIT in Gauri Lankesh Murder case
--Advertisement--

गौरी लंकेश मर्डर केस: एसआईटी ने बेंगलुरू से एक शख्स को हिरासत में लिया

5 सितंबर को पत्रकार गौरी लंकेश (55) की हत्या कर दी गई थी, केस की जांच स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम कर रही है।

Danik Bhaskar | Mar 03, 2018, 08:29 AM IST
गौरी लंकेश मर्डर केस में एसआईटी ने एक संदिग्ध आरोपी को हिरासत में लिया है। गौरी लंकेश मर्डर केस में एसआईटी ने एक संदिग्ध आरोपी को हिरासत में लिया है।

बेंगलुरू. गौरी लंकेश मर्डर केस में कर्नाटक पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) ने शुक्रवार को बेंगलुरु में एक संदिग्ध आरोपी को हिरासत में ले लिया। शख्स का नाम केटी नवीन कुमार (37) बताया गया है। उसपर अवैध तरीके से हथियार रखने का आरोप है। एसआईटी के जांच अधिकारी और डिप्टी कमिश्नर एमएन अनुशेट के मुताबिक, नवीन कुमार को लोकल पुलिस ने 19 फरवरी को एक रिवॉल्वर और 15 बुलेट रखने के आरोप में गिरफ्तार किया था। उसे पूछताछ के लिए क्राइम ब्रांच को भेजा गया था। हालांकि, शुक्रवार को उसकी रिमांड खत्म होने वाली थी, जिसके चलते एसआईटी ने मर्डर से जुड़े सबूतों के आधार पर नवीन को कस्टडी में ले लिया।

स्केच से मिलता है संदिग्ध का चेहरा

- पुलिस के मुताबिक, अवैध हथियार रखने के आरोप में नवीन कुमार पर आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया था। कोर्ट ने उसे पूछताछ के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा था। जहां उसने पुलिस को गौरी लंकेश मर्डर केस से जुड़ी कई अहम जानकारियां दीं। इसी के आधार पर पुलिस आगे की पूछताछ के लिए उसे कस्टडी में रखना चाहती थी।
- शुक्रवार को कोर्ट ने नवीन की कस्टडी 8 दिन के लिए बढ़ा दी। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, आरोपी का चेहरा केस से जुड़े एक संदिग्ध के स्केच से भी मिलता है।

कैसे हुई थी गौरी लंकेश की हत्या?

- गौरी लंकेश, कन्नड़ कवि और पत्रकार पी लंकेश की सबसे बड़ी बेटी थीं। वे वीकली मैग्जीन 'लंकेश पत्रिका' की एडिटर थीं। 5 सितंबर को लंकेश की उनके घर के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।।
- हमलावरों ने उन पर बेहद नजदीक से 7 राउंड फायरिंग की थी। मौके पर ही उनकी मौत हो गई थी। उनको पहले भी जान से मारने की धमकियां मिल चुकी थीं।
- पड़ोसियों के मुताबिक, गौरी लंकेश की उम्र 55 साल थी। हमले के वक्त गौरी अपने घर का मेन गेट खोल रही थीं। उनके सिर, गर्दन और सीने पर 3 गोलियां लगीं, जबकि दीवार पर 4 गोलियों के निशान मिले।

5 सितंबर को पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या कर दी गई थी, पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए स्केच जारी किए थे। 5 सितंबर को पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या कर दी गई थी, पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए स्केच जारी किए थे।