देश

--Advertisement--

पद्मावत की रिलीज पर विवाद जारी, कहीं आत्मदाह की धमकी तो कहीं तोड़फोड़ की कोशिश

पद्मावत फिल्म की रिलीज को लेकर करणी सेना का विरोध जारी है।

Danik Bhaskar

Jan 22, 2018, 03:14 PM IST
रणवीर सिंह ने यह पोस्टर सोमवार को ट्विटर पर शेयर किया। रणवीर सिंह ने यह पोस्टर सोमवार को ट्विटर पर शेयर किया।

नई दिल्ली/जयपुर/गुड़गांव. फिल्म पद्मावत की रिलीज को लेकर सोमवार को मध्यप्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, गुजरात और उत्तर प्रदेश में प्रदर्शन हुए। उत्तरप्रदेश में 200 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। वहीं, मध्यप्रदेश के इंदौर और भोपाल में राजपूत करणी सेना से जुड़े लोगों ने तोड़फोड़ की। उधर, राजस्थान के जयपुर में भी लोग सड़कों पर उतर आए। इस बीच इस फिल्म में अलाउद्दीन खिलजी का रोल निभाने वाले एक्टर रणवीर सिंह ने ट्वीट कर कहा कि खिलजी दानव था। बता दें कि संजय लीला भंसाली की यह फिल्म देशभर में 25 जनवरी को रिलीज होगी।

देश के पांच राज्यों में पद्मावत के खिलाफ प्रदर्शन

1) मध्यप्रदेश: गुजरात जाने वाली बस सर्विस बंद

- इंदौर में फिल्म के विरोध में करणी सेना सड़क पर उतर आई। इससे जुड़े लोगों ने सड़कों पर टायर जलाए। इंदौर से गुजरात जाने वाली बस सर्विस को बंद कर दिया गया है। कुछ लोगों ने यहां के मॉल में तोड़फोड़ की। कुछ ने

थिएटर के सामने लगे फिल्म को पोस्टर फाड़ दिए।

- इसे देखते शहर के सभी थिएटर और मल्टी प्लेक्स की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। इंदौर के अलावा भोपाल, रतलाम और उज्जैन में भी लोग सड़कों पर उतर आए।

2) उत्तरप्रदेश: 200 लोगों के खिलाफ एफआईआर

- राज्य के गौतम बुद्ध नगर जिले के विभिन्न इलाकों में प्रदर्शनों को लेकर पुलिस ने दो सौ लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज (एफआईआर) की। ये प्रदर्शन पिछले 24 घंटे के दौरान हुए थे। पुलिस ने बताया कि समाचार चैनलों से फुटेज मंगवा कर कार्रवाई की जा रही है।

- नोएडा, ग्रेटर नोएडा और गाजियाबाद जिले में कई स्थानों पर प्रदर्शनकारियों ने रविवार को सड़क पर टायर रख कर, आग लगाकर, हरे भरे पेड़-पौधों को काटकर ट्रैफिक जाम कर दिया था। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने कई जगहों पर तोड़फोड़ भी की थी।

3) हरियाणा: सीएम ने कहा- एससी के आदेश का पालन किया जाएगा

- हरियाणा में भी इसे लेकर लोगों में गुस्सा दिखा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा कि यदि कोई सिनेमाघर इस फिल्म को नहीं दिखाना चाहेगा तो अच्छा होगा। अगर कोई इसकी स्क्रीनिंग करता है, तो उसे राज्य सरकार सिक्युरिटी देगी। यह राज्य सरकार की जिम्मेदारी है। हम सुप्रीम कोर्ट के आदेश को पूरी तरह से अमल करेंगे।

- इस बीच करणी सेना के लोकेन्द्र​ सिंह कालवी ने सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा- "फिल्म के प्रदर्शन के खिलाफ जनता ही कर्फ्यू लगा दे और फिल्म देखने नहीं जाए। " उन्होंने सिनेमाघर और मल्टीप्लेक्स

मालिकों से कहा कि वे मूवी की स्क्रीनिंग न करें।

4) राजस्थान: फिल्म डिस्ट्रीब्यूटर्स ने लिया फिल्म रिलीज नहीं करने का फैसला

- जयपुर, भीलवाड़ा समेत राज्य के कई हिस्सों में मूवी को लेकर विरोध-प्रदर्शन हुए। करणी सेना का कहना है कि हमें विश्वास है कि जयपुर में कोई भी सिनेमाघर इस फिल्म को नहीं दिखाएगा। यदि कोई ऐसा करता है तो उसे इसका परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहना चाहिए।

- भीलवाड़ा में करनी सेना का एक वर्कर उपेन्द्र सिंह सोमवार को भारत संचार निगम के 350 फीट ऊंचे टावर पर चढ़ गया और शाम तक मूवी को देशभर में बैन नहीं होने पर टावर से कूदकर आत्महत्या करने की धमकी देने लगा। बाद में उसे नीचे उतारा गया।

- उधर, न्यूज एजेंसी ने रिपोर्ट दी कि फिल्म डिस्ट्रीब्यूटर्स मरुधर सिने एंटरटेनमेंट और यशराज जय पिक्चर्स ने फिल्म को रिलीज नहीं करने का फैसला किया है।

- पुलिस कमिश्नर जयपुर संजय अग्रवाल का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश को लागू किया जाएगा। किसी को कानून हाथ में लेने नहीं दिया जाएगा।

रणवीर ने खिलजी को बताया दानव
- रणवीर सिंह ने सोमवार को ट्विटर पर 'पद्मावत' की रिलीज से पहले अलाउद्दीन खिलजी के कई अवतारों वाला एक कोलाज शेयर किया। इसमें उन्होंने खिलजी को एक दानव बताया। बता दें कि इस फिल्म में दीपिका पादुकोण रानी पद्मावती, शाहिद कपूर महारावल रतन सिंह के किरदार में हैं।

सुप्रीम कोर्ट पहुंची मध्य प्रदेश और राजस्थान की सरकारें

- मध्य प्रदेश और राजस्थान की सरकारों ने फिल्म की रिलीज रुकवाने के लिए सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की। सुप्रीम कोर्ट कल यानी 23 जनवरी को इस मामले की सुनवाई करेगा। सुप्रीम कोर्ट ने ही 18 जनवरी को फिल्म को देशभर में रिलीज करने के ऑर्डर दिए थे।

फिल्म को लेकर विवाद क्या है?
- राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची। फिल्म में रानी पद्मावती को भी घूमर डांस करते दिखाया गया है। जबकि राजपूत राजघरानों में रानियां घूमर नहीं करती थीं।

- हालांकि, भंसाली साफ कर चुके हैं कि ये ड्रीम सीक्वेंस फिल्म में है ही नहीं।

यह फिल्म पहले 1 दिसंबर को रिलीज होनी थी। यह फिल्म पहले 1 दिसंबर को रिलीज होनी थी।
मध्य प्रदेश और राजस्थान की सरकारों ने फिल्म की रिलीज रुकवाने के लिए सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की। 23 जनवरी को इस मामले की सुनवाई होगी। मध्य प्रदेश और राजस्थान की सरकारों ने फिल्म की रिलीज रुकवाने के लिए सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की। 23 जनवरी को इस मामले की सुनवाई होगी।
Click to listen..