--Advertisement--

सेंसर से तो पास हुई पर एक-एक करके इन राज्यों में अटकती जा रही है 'पद्मावत'

25 जनवरी को रिलीज होने वाली यह फिल्म अब राज्यों में अटकती जा रही है।

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2018, 01:25 PM IST
पद्मावत के रिव्यू के लिए सेंसर पद्मावत के रिव्यू के लिए सेंसर

नई दिल्ली. फिल्म पद्मावती का नाम बदलकर पद्मावत कर दिया गया है। रिलीज डेट 25 जनवरी तय हो गई है। सेंसर बोर्ड ने फिल्म में कोई भी कट लगाने से मना कर दिया है। वहीं, मध्यप्रदेश, गुजरात, राजस्थान और हिमाचल प्रदेश ने अपने यहां फिल्म को रिलीज करने से मना कर दिया है। चारों राज्यों में बीजेपी की सरकार है। गोवा में सरकार तो रिलीज करने के लिए राजी है लेकिन पुलिस ने अौर सिक्युरिटी की मांग की है। उत्तर प्रदेश सरकार ने पद्मावत को रिलीज करने को लेकर चुप्पी साध रखी है।

रिलीज को लेकर कहां-क्या हालात?

1. राजस्थान में तो शुरू से था विरोध

- फिल्म जब से बननी शुरू हुई तभी से राजस्थान में इस फिल्म के रिलीज होने पर संशय था। राजपूत करणी सेना के विरोधी सुरों में राज्य सरकार ने सुर में सुर मिलाए थे।

- अब सेंसर बोर्ड से पास होने, कई कट लगने और नाम बदलने के बाद भी राजस्थान सरकार इस फिल्म की रिलीज को तैयार नहीं है।

- राजस्थान के गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया ने कहा है कि राजस्थान में पद्मावत रिलीज नहीं होगी।

- इससे पहले मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी को लेटर लिखकर कहा था कि वह पद्मावती विवाद में हस्तक्षेप करें। इसमें मुख्यमंत्री ने लिखा था कि फिल्म को रिलीज करने से पहले उसके विवादित अंश हटा दिए जाएं।

2. गुजरात में भी बैन

- राजस्थान के बाद गुजरात सरकार ने भी इस फिल्म को रिलीज न करने का फैसला लिया है। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि संजय लीला भंसाली की पद्मावत गुजरात में रिलीज नहीं की जाएगी।

- एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में रूपाणी ने कहा कि यह कानून-व्यवस्था से जुड़ा मामला है और मौजूदा हालात में फिल्म को गुजरात में रिलीज नहीं किया जाएगा।

3. मध्य प्रदेश में भी नहीं दिखेगी

- शिवराज सिंह ने एलान किया कि मध्‍यप्रदेश में पद्मावत नहीं दिखाई जाएगी। शिवराज ने भी इसे कानून-व्यवस्था के साथ जोड़ा।

- चौहान ने कहा कि हम अपने फिल्म को न दिखाने के अपने स्टैंड पर कायम हैं। राज्य में यह फिल्म रिलीज नहीं होगी।

4. हिमाचल में भी हुई बैन

- हिमाचल प्रदेश पद्मावत के प्रदर्शन पर रोक लगा दी है। करणी सेना की तरह हिमाचल में भी इस फिल्म का कुछ संगठन विरोध कर रहे थे।

गोवा में सरकार राजी, पुलिस तैयार नहीं

- गोवा पुलिस ने राज्य में पद्मावत पद्मावत रिलीज न करने की बात कही। इसको लेकर पुलिस ने राज्य सरकार को लेटर लिखा। इस पर सीएम मनोहर पर्रिकर ने कहा कि कानून-व्यवस्था ठीक रखने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएंगे।

- पर्रिकर ने कहा कि अगर फिल्म को सेंसर बोर्ड से सर्टिफिकेट मिल गया है तो उसकी रिलीज रोकी नहीं जाएगी। गोवा पुलिस ने सरकार को लेटर लिखा कि राज्य में टूरिस्ट सीजन चल रहा है। अगर फिल्म रिलीज की जाती है तो पुलिस पर सुरक्षा को लेकर दबाव बढ़ जाएगा।

यूपी की खामोशी में छिपा है रहस्य

- फिल्म का विवाद अपने चरम पर था तब यूपी सरकार ने कहा था कि यह फिल्म एेतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ करने वाली है, लिहाजा इसे न रिलीज करना ही सही फैसला होगा।

- सेंसर बोर्ड से पास होने के बाद जब यह फिल्म बदले नाम के साथ रिलीज को तैयार है, तब यूपी सरकार की तरफ से इसे दिखाने या न दिखाने से जुड़ा कोई बयान अब तक नहीं आया। यूपी सरकार की ये चुप्पी फिल्म की रिलीज को लेकर सस्पेंस बनाए हुए है।

क्या होगा नुकसान?

- मध्य प्रदेश, गुजरात, राजस्थान बड़े राज्य हैं। यहां पर फिल्म के रिलीज न होने का सीधा असर फिल्म के कलेक्शन पर पड़ेगा। ये तीनों हिंदी भाषी राज्य हैं जहां मल्टीप्लेक्स और सिंगल थिएटर में बड़ी संख्या में यह फिल्म दिखाई जानी थी।

X
पद्मावत के रिव्यू के लिए सेंसरपद्मावत के रिव्यू के लिए सेंसर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..