--Advertisement--

राज्यों में 'पद्मावत' को बैन करने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे फिल्म के निर्माता

कई राज्यों में पद्मावत फिल्म को बैन करने के खिलाफ फिल्म के निर्माताओं ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है।

Dainik Bhaskar

Jan 17, 2018, 11:40 AM IST
Padmavat producers move SC against ban on movie

नई दिल्ली. सेंसर बोर्ड से हरी झंडी मिलने के बाद भी 4 राज्यों में 'पद्मावत' को अपने यहां रिलीज नहीं करने की बात कही है। इसको लेकर बुधवार को फिल्म के प्रोड्यूसर्स ने सुप्रीम कोर्ट में पिटीशन दायर किया। 'पद्मावत' 25 जनवरी को रिलीज होनी है। सेंसर बोर्ड ने बिना कट लगाए फिल्म को रिलीज करने की बात कही थी।

कोर्ट जाने की क्या है वजह?

- पद्मावत के निर्माता Viacom 18 ने सुप्रीम कोर्ट में पिटीशन दाखिल किया है। इस याचिका में कुछ राज्यों में फिल्म की स्क्रीनिंग को रोकने के खिलाफ अपील की गई है।

इन राज्यों में हो चुकी है बैन

-सेंसर बोर्ड से कट लगने और फिल्म का नाम 'पद्मावती' से 'पद्मावत' होने के बाद भी एक के बाद एक कई राज्यों ने इस फिल्म को अपने राज्यों में रिलीज करने से मना कर दिया है।

- गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा की सरकारें ये साफ कर चुकी हैं कि वे अपने अपने राज्यों में इस फिल्म को रिलीज नहीं करने देंगी। इन सभी जगहों पर बीजेपी की सरकार है।

गोवा और यूपी अभी स्पष्ट नहीं

- फिल्म को रिलीज करने को लेकर इन राज्यों के अलावा गोवा और उप्र में भी स्थिति साफ नहीं है। गोवा की सरकार फिल्म को रिलीज करना चाहती है, लेकिन वहां की पुलिस कानून-व्यवस्था का मुददा उठाते हुए फिल्म को नहीं दिखाने की बात कह रही है।

- वहीं, उप्र में सेंसर से प्रमाण पत्र मिलने से पहले सरकार इस फिल्म को दिखाने से मना कर चुकी है। प्रमाण पत्र मिलने और फिल्म का नाम बदलने के बाद से कोई भी प्रतिक्रिया राज्य की तरफ से नहीं आई है।

25 जनवरी को तीन भाषाओं में होगी रिलीज

- फिल्म के मेकर्स भंसाली प्रोडक्शन और वायाकॉम 18 मोशन पिक्चर्स ने तारीख कन्फर्म करते हुए बताया कि फिल्म को दुनियाभर में एक साथ IMAX 3D में रिलीज किया जाएगा।

-फिल्म तीन भाषाओं हिंदी, तमिल और तेलुगु में रिलीज की जाएगी। इस फिल्म के साथ अक्षय कुमार की फिल्म 'पैडमैन' भी रिलीज हो रही है।

फिल्म पद्मावती को लेकर क्या आपत्ति है?

- राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया। राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची।

-फिल्म में रानी पद्मावती को भी घूमर नृत्य करते दिखाया गया है। जबकि राजपूत राजघरानों में रानियां घूमर नहीं करती थीं।

- हालांकि, भंसाली साफ कर चुके हैं कि ड्रीम सीक्वेंस फिल्म में है ही नहीं।

Padmavat producers move SC against ban on movie

सेंसर बोर्ड से कट लगने और फिल्म का नाम पद्मावती से पद्मावत होने के बाद भी एक के बाद एक कई राज्यों ने इस फिल्म का अपने राज्यों में रिलीज करने से मना कर दिया है।

X
Padmavat producers move SC against ban on movie
Padmavat producers move SC against ban on movie
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..