देश

  • Home
  • National
  • padmavat release karni sena warning for 25th january news and updates
--Advertisement--

पद्मावत की स्क्रीनिंग के सवाल पर करणी सेना ने कहा- 25 को ही पता चलेगा हम क्या करेंगे

एक्जिबिटर्स को फिल्म पद्मावत की ओपनिंग 75% बुकिंग के साथ होने की उम्मीद है।

Danik Bhaskar

Jan 21, 2018, 04:51 PM IST
एक्जिबिटर्स को फिल्म की ओपनिंग 75% बुकिंग के साथ होने की उम्मीद है। एक्जिबिटर्स को फिल्म की ओपनिंग 75% बुकिंग के साथ होने की उम्मीद है।

गुड़गांव. फिल्म पद्मावत की 25 जनवरी को होने वाली रिलीज को लेकर करणी सेना ने फिर एक बार इशारों ही इशारों में धमकी दी है। यहां उसके मेंबर्स से सवाल किया गया कि अगर फिल्म को रिलीज किया जाता है तो वे क्या करेंगे? इस पर उन्होंने कहा, "इंतजार करो और देखो 25 को क्या होता है।" ये लोग यहां के थियेटर्स में फिल्म न दिखाए जाने की गुजारिश के साथ ज्ञापन देने पहुंचे थे।

डर-उम्मीद के बीच काउंटडाउन शुरू

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, फिल्म पद्मावत के विरोध में प्रदर्शन और धमकियों की वजह से संजय लीला भंसाली की मुश्किलें बढ़ी हैं। इसके बावजूद बाजार के जानकार, फिल्म का प्रदर्शन करने वाले और ऑडियंस इसे थियेटर्स में देखने को बेताब हैं।

- दीपिका पादुकोण, शाहिद कपूर और रणवीर सिंह स्टारर इस फिल्म को पहले राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात और हरियाणा में बैन कर दिया था। हालांकि, बाद में सुप्रीम कोर्ट ने इसे देशभर में दिखाए जाने का आदेश दिया था।

- सिनेमा ओनर्स एंड एक्जिबिटर्स एसोसिएशन (COEA) के पूर्व अध्यक्ष और मेंबर नितिन धर ने न्यूज एजेंसी से कहा, "देश के कुछ हिस्सों में दिक्कतें हो सकती हैं। हमने एक्जिबिटर्स से गुजारिश की है और सलाह दी है कि वे अपनी प्रॉपर्टी और थियेटर्स में आने वाली ऑडियंस की हिफाजत के लिए पुलिस की मदद लें।"

- "हम उनके (प्रदर्शनकारियों) के कदम के बारे में नहीं जानते। इसलिए हमने एक्जिबिटर्स से कहा है कि अपने यहां माहौल को देखते हुए ही फिल्म रिलीज का फैसला करें।"

गृहमंत्री को भी लिखा लेटर

- धर ने बताया कि सिक्युरिटी के इंतजाम करने के लिए एसोसिएशन ने केंद्रीय गृहमंत्री और कुछ राज्यों के मुख्यमंत्रियों को लेटर भी लिखा है।

- उन्होंने कहा, "हम जानते हैं कि कई सिनेमा हॉल्स, दुकानों, गाड़ियों समेत तमाम प्रॉपर्टी हैं जहां कंट्रोल मुमकिन नहीं है, फिर भी हमें कानून व्यवस्था बनाने वाले महकमों पर भरोसा है।"

- बता दें कि COEA गुजरात, गोवा, महाराष्ट्र और कर्नाटक को कवर करती है और उसके दायरे में 500 थियेटर्स आते हैं।

शुरुआत में 75% थियेटर्स भरने की उम्मीद

- धर ने कहा कि पद्मावत की एडवांस बुकिंग को देखते हुए फिल्म के अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद है।

- एक्जिबिटर अक्षय राठी ने कहा, "एडवांस बुकिंग काफी अच्छी है और फिल्म को लेकर कई तरह के कयास भी हैं। हमें कानून व्यवस्था बनाने वालों पर पूरा भरोसा है कि हालात काबू में रहेंगे।"

- उन्होंने उम्मीद जताई कि देशभर की 4000 स्क्रीन्स में यह फिल्म 75 फीसदी बुकिंग के साथ शुरू होगी।

गुजरात में स्टेट ट्रांसपोर्ट की बसें बंद
- पद्मावत पर हो रहे हिंसक प्रदर्शनों को देखते हुए गुजरात स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कार्पोरेशन (GSRTC) की बस सर्विस को कुछ वक्त के लिए बंद कर दिया गया है।
- GSRTC के सेक्रेटरी केडी देसाई के मुताबिक, हिंसा की आशंका में अहमदाबाद और राज्य के उत्तरी हिस्से में चलने वाली सभी बसों को शनिवार रात से कैंसिल किया गया है। उन्होंने कहा कि विरोध के दौरान गाड़ियां प्रदर्शनकारियों के लिए सॉफ्ट टारगेट होती हैं।
- उन्होंने कहा, "नॉर्थ गुजरात के कुछ हिस्सों में शनिवार को बसों पर हमले किए गए थे, जिसे देखते हुए हमने गांधीनगर, हिम्मतनगर, मेहसाणा और बनासकांठा में बस सर्विस को कुछ वक्त के लिए बंद कर दिया है। बाकी जगहों के लिए चलने वाली बसों, जैसे- सेंट्रल और साउथ गुजरात की सर्विसेज पर कोई असर नहीं पड़ा है।"

फिल्म को लेकर विवाद क्या है?
- राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची।
- फिल्म में रानी पद्मावती को भी घूमर डांस करते दिखाया गया है। जबकि राजपूत राजघरानों में रानियां घूमर नहीं करती थीं।
- हालांकि, भंसाली साफ कर चुके हैं कि ये ड्रीम सीक्वेंस फिल्म में है ही नहीं।

- करणी सेना के प्रमुख लोकेंद्र सिंह कालवी ने 25 जनवरी को फिल्म पद्मावत की रिलीज के विरोध में भारत बंद का भी एलान किया है।

COEA ने एक्जिबिटर्स को सलाह दी है कि वे अपनी प्रॉपर्टी और ऑडियंस की हिफाजत के लिए पुलिस की मदद लें। COEA ने एक्जिबिटर्स को सलाह दी है कि वे अपनी प्रॉपर्टी और ऑडियंस की हिफाजत के लिए पुलिस की मदद लें।
करणी सेना का आरोप है कि फिल्म में इतिहास को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है। -फाइल करणी सेना का आरोप है कि फिल्म में इतिहास को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है। -फाइल
करणी सेना के मेंबर्स थियेटर ओनर्स से यह फिल्म न दिखाने की गुजारिश कर रहे हैं। -फाइल करणी सेना के मेंबर्स थियेटर ओनर्स से यह फिल्म न दिखाने की गुजारिश कर रहे हैं। -फाइल
Click to listen..