• Home
  • National
  • Pakistan Army chief General Qamar Javed Bajwa warned that any Indian aggression will always get a most befitting response.
--Advertisement--

फायरिंग के बीच LoC पहुंचे PAK आर्मी चीफ, कहा- भारत की किसी भी हरकत का माकूल जवाब दिया जाएगा

बाजवा सोमवार शाम LoC पहुंचे। खुरीटा और रत्ता आर्यन सेक्टर का दौरा किया। इस दौरान उनके साथ लोकल कमांडर्स भी थे।

Danik Bhaskar | Jan 23, 2018, 10:07 AM IST
भारत और पाकिस्तान के बीच बॉर्डर पर जारी तनाव के बीच पाकिस्तान के आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा ने लाइन ऑफ कंट्रोल यानी LoC का दौरा किया। भारत और पाकिस्तान के बीच बॉर्डर पर जारी तनाव के बीच पाकिस्तान के आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा ने लाइन ऑफ कंट्रोल यानी LoC का दौरा किया।

इस्लामाबाद/नई दिल्ली. भारत और पाकिस्तान के बीच बॉर्डर पर जारी तनाव के बीच पाकिस्तान के आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा ने लाइन ऑफ कंट्रोल यानी LoC का दौरा किया। उन्होंने पाकिस्तानी कमांडरों से मुलाकात की। बाद में कहा- भारत की किसी भी हरकत का पाकिस्तान की तरफ से माकूल जवाब दिया जाएगा। बाजवा ने फायरिंग में घायल हुए आम नागरिकों और सैनिकों से भी मुलाकात की। बता दें कि LoC और इंटरनेशनल बॉर्डर पर पिछले गुरुवार से फायरिंग हो रही है। भारत में इसकी वजह से 12 आम लोगों और सैनिकों को जान गंवानी पड़ी है।

सिविलियन्स पर फायरिंग का आरोप

- बाजवा सोमवार शाम LoC पहुंचे। यहां उन्होंने खुरीटा और रत्ता आर्यन सेक्टर का दौरा किया। इस दौरान उनके साथ लोकल कमांडर्स भी थे। इन्हीं कमांडर्स ने बाजवा को फायरिंग के बारे में तफ्सील से जानकारी दी।
- पाकिस्तानी सेना ने एक बयान जारी कर भारत पर सीजफायर वॉयलेशन का आरोप लगाया। बयान में कहा गया है कि भारत ने पाकिस्तान के रिहायशी इलाकों में फायरिंग की है। इसकी वजह से कई आम लोगों को जान गंवानी पड़ी।
- बाद में बाजवा ने कहा- हम 2013 के सीजफायर एग्रीमेंट का पालन करना चाहते हैं। भारत फायरिंग कर रहा है और उसकी किसी भी हिमाकत का पाकिस्तान सेना माकूल जवाब देने के लिए तैयार है।
- पोस्ट्स का दौरा करने के बाद बाजवा सियालकोट के कम्बाइंड मिलिट्री हॉस्पिटल पहुंचे। यहां उन्होंने गोलीबारी में घायल लोगों से मुलाकात की।

सोमवार को भी हुई फायरिंग

- पाकिस्तान ने रविवार रात से सोमवार सुबह तक एक बार फिर लाइन ऑफ कंट्रोल और इंटरनेशनल बॉर्डर पर फायरिंग की। इसके पहले शनिवार देर रात से रविवार शाम तक फायरिंग नहीं हुई थी। बीएसएफ ने बताया कि रविवार रात से हुई फायरिंग में किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ। बॉर्डर से सटे जो इलाके फायरिंग से प्रभावित हुए हैं, वहां से करीब 40 हजार लोगों को निकालकर शेल्टर होम और दूसरी महफूज जगहों पर शिफ्ट किया गया है। फायरिंग में कुल 12 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 60 लोग घायल हुए हैं।

स्कूल अब भी बंद

- बॉर्डर पर जारी तनाव और फायरिंग की वजह से जम्मू जिले में सोमवार को भी स्कूलों को बंद रखा गया।
- फायरिंग की वजह से करीब 40 हजार लोगों को अपने घर छोड़कर महफूज जगहों और शेल्टर होम्स में जाना पड़ा है।

पाकिस्तान को भी भारी नुकसान

- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीएसएफ और आर्मी की जवाबी फायरिंग में शुक्रवार को पाकिस्तान के चार सैनिक (रेंजर्स) मारे गए। इसके अलावा वहां की आर्मी का एक पेट्रोलियम डिपो भी तबाह कर दिया गया।
- जानकारी के मुताबिक- इंटरनेशनल बॉर्डर पर पाकिस्तान की तरफ लाउड स्पीकर से अनाउंसमेंट में लोगों से इलाका छोड़कर जाने को कहा जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि सियालकोट जिले के करीबी गांवों में कई लोगों की मौत हो गई है।

पोस्ट्स का दौरा करने के बाद बाजवा सियालकोट के कम्बाइंड मिलिट्री हॉस्पिटल पहुंचे। यहां उन्होंने गोलीबारी में घायल लोगों से मुलाकात की। पोस्ट्स का दौरा करने के बाद बाजवा सियालकोट के कम्बाइंड मिलिट्री हॉस्पिटल पहुंचे। यहां उन्होंने गोलीबारी में घायल लोगों से मुलाकात की।