--Advertisement--

पाकिस्तान और चीन बॉर्डर पर 15 नई बटालियन तैनात करेगी सरकार, हर एक में होंगे 1000 जवान

सरकार की योजना बना रही है कि पाकिस्तान, चीन और बांग्लादेश बॉर्डर पर 15 नई बटालियन की तैनाती की जाए।

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2018, 05:11 PM IST
उत्तरकाशी में नेलांग बॉर्डर आउट पोस्ट पर ITBP के जवानों से मिलते राजनाथ सिंह। - फाइल उत्तरकाशी में नेलांग बॉर्डर आउट पोस्ट पर ITBP के जवानों से मिलते राजनाथ सिंह। - फाइल

नई दिल्ली. सरकार की योजना बना रही है कि पाकिस्तान, चीन और बांग्लादेश बॉर्डर पर 15 नई बटालियन की तैनाती की जाए। गृह मंत्रालय के सीनियर अफसर ने न्यूज एजेंसी को बताया कि ITBP की 9 और BSF की 6 फ्रेश बटालियन होंगी, हर बटालियन में 1000 जवान और अफसर होंगे।

इंडो-बांग्लादेश, इंडो-पाकिस्तान IB अहम
- BSF के सोर्सेस के मुताबिक, सेनाओं ने आसाम और वेस्ट बंगाल के इलाके में नई यूनिट तैनात करने के लिए अपनी मैनपावर बढ़ाने की कोशिशें शुरू कर दी हैं। इंडो-बांग्लादेश बॉर्डर और इंडो-पाक इंटरनेशनल बॉर्डर पर भी तैनाती बढ़ाई जाएगी।

वजह क्या है?
- BSF के सीनियर अफसर ने कहा, "नई बटालियनें कहां पर तैनात की जाएंगी, इसके बारे में अभी कुछ निश्चित नहीं कहा जा सकता है। लेकिन, घुसपैठ, ड्रग स्मगलिंग, ह्यूमन ट्रैफिकिंग, इल्लीगल माइग्रेशन के लिहाज से पाकिस्तान और बांग्लादेश प्रायोरिटी रहेंगे।'
- इसके अलावा पाकिस्तान की ओर से लगातार किए जाने वाला सीज फायर वॉयलेशन भी बड़ी वजह है।

ITBP बॉर्डर ऑउट पोस्ट की दूरी घटाएगा
- ITBP में भी बॉर्डर आउट पोस्ट की दूरी घटाने पर विचार किया जा रहा है। फोर्स को 47 नए BOPs बनाने की मंजूरी मिली है।
- एक सीनियर अफसर ने बताया, "पहले ये इरादा था कि 12 नई बटालियन बनाए जाएं, लेिकन आने वाले वक्त में फोर्स की जरूरत 9 की है।'


वजह क्या है?
- लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर चीन की सेना के लगातार दखल और टकराव को सबसे बड़ी वजह कहा जा सकता है, जिसके चलते ITBP अपने जवानों की संख्या बढ़ाने पर विचार कर रही है।

सरकार का क्या कहना है?
- गृह मंत्रालय के अधिकारी के मुताबिक, नई बटालियनों की तैनाती से बॉर्डर की रखवाली करने वाली दोनों फोर्सेस को अपनी यूनिट्स की अदला-बदली में काफी मदद मिल सकेगी।
- बता दें कि BSF की स्ट्रेंथ इस वक्त 2.5 लाख जवानों-अफसरों की है, वहीं ITBP में 90 हजार जवान हैं। होम मिनिस्ट्री के तहत इन दो फोर्सेस के अलावा सशस्त्र सीमा बल भी काम करती है।

सीजफायर वॉयलेशन में 4 गुना इजाफा
- भारतीय सेना को बीते साल सीजफायर वॉयलेशन और टेररिस्ट एक्टिविटीज की वजह से मुश्किलों का सामना करना पड़ा है।
- आर्मी के स्पोक्सपर्सन कर्नल अमन आनंद के मुताबिक, 2017 में पाकिस्तानी सेना ने 860 बार सीजफायर वॉयलेशन किया। 2016 में उसने 221 बार सीजफायर वॉयलेशन किया था।

इस साल 138 PAK सैनिक मारे गए
- भारतीय सेना ने 2017 में 138 पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया। जम्मू-कश्मीर में एलओसी पर की गई कार्रवाई में 155 पाकिस्तानी रेंजर्स जख्मी भी हुए। इस दौरान भारत के 28 जवान शहीद हो गए, 70 जख्मी हुए।

भारत पाकिस्तान इंटरनेशनल बॉर्डर पर BSF की एक पोस्ट। - फाइल भारत पाकिस्तान इंटरनेशनल बॉर्डर पर BSF की एक पोस्ट। - फाइल
X
उत्तरकाशी में नेलांग बॉर्डर आउट पोस्ट पर ITBP के जवानों से मिलते राजनाथ सिंह। - फाइलउत्तरकाशी में नेलांग बॉर्डर आउट पोस्ट पर ITBP के जवानों से मिलते राजनाथ सिंह। - फाइल
भारत पाकिस्तान इंटरनेशनल बॉर्डर पर BSF की एक पोस्ट। - फाइलभारत पाकिस्तान इंटरनेशनल बॉर्डर पर BSF की एक पोस्ट। - फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..