--Advertisement--

मनमोहन पर मोदी के बयान को लेकर लोकसभा में हंगामा, राज्यसभा में कांग्रेस ने उठाया नए कोर्ट बनाने का मुद्दा

सोमवार को भी संसद के दोनों सदनों में मोदी के बयान को लेकर हंगामा हुआ था। कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई थी।

Dainik Bhaskar

Dec 19, 2017, 11:59 AM IST
गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पीएम मोदी सदन में आकर माफी मांगें। गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पीएम मोदी सदन में आकर माफी मांगें।

नई दिल्ली. नरेंद्र मोदी की पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के खिलाफ टिप्पणी को लेकर मंगलवार को लोकसभा में हंगामा हुआ। इसके चलते सदन की कार्यवाही 12 बजे तक स्थगित कर दी गई। वहीं, राज्यसभा में कांग्रेस लीडर गुलाम नबी आजाद ने पीएम से माफी मांगने की बात कही। सोमवार को भी कांग्रेस समेत अन्य सदस्यों ने संसद के दोनों सदनों में टिप्पणी को लेकर हंगामा किया था और नारेबाजी करते हुए मोदी से माफी मांगने की बात कही थी। हंगामे और शोर-शराबे के चलते दोनों सदनों की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी गई थी।

क्या है विवाद?

- गुजरात के पालनपुर में चुनावी सभा में मोदी ने कहा था कि पाकिस्तान राज्य के विधानसभा चुनावों को प्रभावित करने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने दावा किया कि कुछ पाकिस्तानी अफसर और मनमोहन सिंह ने 6 दिसंबर को मणिशंकर अय्यर के घर पर डिनर के दौरान एक सीक्रेट मीटिंग की थी।

मोदी के बयान पर मनमाेहन ने क्या कहा?

- ट्विटर पर पोस्ट किए गए वीडियो मैसेज में मनमोहन सिंह ने कहा था, "मैं उन आरोपों से बेहद दुखी और आहत हूं जो किसी और ने नहीं, बल्कि खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लगाए हैं। यह बिल्कुल साफ है कि वह गुजरात चुनाव में हार को देखते हुए मायूसी की वजह से ऐसे आरोप लगा रहे हैं। कांग्रेस को अपनी राष्ट्रभक्ति साबित करने की जरूरत नहीं, यह सभी जानते हैं। वह संविधान के दायरे में आने वाले पद को धूमिल करने की अपनी महत्वाकांक्षा की वजह से गलत परंपरा को बढ़ावा दे रहे हैं। मैं उनके आरोपों को खारिज करता हूं। मैंने मणिशंकर अय्यर की ओर से आयोजित किए गए डिनर में गुजरात चुनाव पर चर्चा नहीं की।"

देश के प्रति ईमानदार रहे हैं मनमोहन

- गुलाम नबी आजाद ने राज्यसभा में कहा, "डॉ. मनमोहन सिंह की देश के प्रति ईमानदारी रही है। इसको लेकर कोई सवाल नहीं उठा सकता। पीएम मोदी को सदन में आकर इसके लिए सफाई देनी चाहिए।"

- लोकसभा में कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, "अगर डॉ. मनमोहन सिंह दिल्ली में बैठकर पाक के साथ मिलकर साजिश कर रहे थे तो सरकार क्या सो रही थी? उनके खिलाफ एफआईआर क्यों नहीं लिखाई गई? ये सारी बातें चुनाव के लिए उछाली गई थीं।"

- वहीं, कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने क्रिमिनल नेताओं के लिए स्पेशल कोर्ट बनाए जाने के मुद्दे पर कहा कि ज्यादा कोर्ट बनाए जाने को लेकर सरकार को फंड जारी करना चाहिए। उन्होंने ये भी कहा कि कोर्ट की ज्यादा तादाद होने से कैदियों का ट्रायल जल्दी होगा और उन्हें जेल में लंबा वक्त नहीं गुजारना होगा।

- इस पर आजाद ने कहा कि कानून सबके लिए बराबर है। विधायिका को इसके लिए अलग से नहीं देखा जा सकता।

पूर्व पीएम का अपमान हुआ

- सोमवार को भी हंगामे के कारण दोनों ही सदनों में प्रश्नकाल नहीं हो पाया। लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री का अपमान हुआ है। यह कोई छोटी बात नहीं है।
- खड़गे ने अध्यक्ष से इस पर अपनी बात रखने की अनुमति मांगी। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने विपक्षी सदस्यों के कार्यस्थगन का नोटिस नामंजूर कर दिया।

हंगामे के बीच पेश किए 5 विधेयक

- हंगामे के बीच ही वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अनुपूरक अनुदान मांगें पेश की।

- मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद अधिनियम, श्रम मंत्री संतोष कुमार ने उपदान संदाय (संशोधन) विधेयक, स्वास्थ्य मंत्री ने जेपी नड्डा ने दंत चिकित्सा (संशोधन) विधेयक और वन एवं पर्यावरण मंत्री डाॅ. हर्षवर्द्धन ने भारतीय वन (संशोधन) विधेयक पेश किया।
- दोनों ही सदनों में गुजरात और हिमाचल प्रदेश के चुनाव नतीजों के रुझान का असर देखने को मिला। भाजपा सदस्य विशेषकर गुजरात से आए भाजपा सांसद एक-दूसरे को बधाई देते दिखे।

कांग्रेस के आनंद शर्मा ने राज्यसभा में नए कोर्ट के लिए फंड रिलीज करने की बात कही। कांग्रेस के आनंद शर्मा ने राज्यसभा में नए कोर्ट के लिए फंड रिलीज करने की बात कही।
X
गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पीएम मोदी सदन में आकर माफी मांगें।गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पीएम मोदी सदन में आकर माफी मांगें।
कांग्रेस के आनंद शर्मा ने राज्यसभा में नए कोर्ट के लिए फंड रिलीज करने की बात कही।कांग्रेस के आनंद शर्मा ने राज्यसभा में नए कोर्ट के लिए फंड रिलीज करने की बात कही।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..