• Hindi News
  • National
  • Rahul Gandhi opposed Nirma project and instructed Jayanti Natarajan to not give environmental clearance: Piyush Goyal
--Advertisement--

UPA सरकार के दौरान गुजरात के प्रोजेक्ट रोके गए, हमारे पास राहुल-जयंती के ईमेल: पीयूष गोयल

गोयल ने राहुल गांधी का नाम लेकर उन पर गंभीर आरोप लगाए। कहा- राहुल ने निरमा प्रोजेक्ट का विरोध किया।

Dainik Bhaskar

Dec 13, 2017, 08:49 PM IST
video: पीयूष गोयल ने राहुल गांधी पर बड़े आरोप लगाए। video: पीयूष गोयल ने राहुल गांधी पर बड़े आरोप लगाए।

नई दिल्ली. यूनियन मिनिस्टर पीयूष गोयल ने आरोप लगाया है कि यूपीए सरकार के दौरान गुजरात के प्रोजेक्ट्स को जानबूझकर लटकाया गया। गोयल ने कहा कि उनके पास राहुल गांधी और तब की एन्वायरन्मेंट मिनिस्टर जयंती नटराजन के मेल हैं। ये मेल बताते हैं कि जयंती ने राहुल के सरकार में किसी पोस्ट पर ना होने के बावजूद प्रोजेक्ट क्लियरेंस के लिए उनकी इजाजत मांगी।

एक ही फैमिली लेती थे फैसले

- बुधवार शाम एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान गोयल ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर कई आरोप लगाए। ये आरोप यूपीए सरकार के टेन्योर से जुड़े हुए थे।
- गोयल ने यूपीए और राहुल गांधी पर गुजरात के प्रोजेक्ट्स लटकाने का आरोप लगाया।
- गोयल ने कहा- हमारे पास मौजूद ईमेल बताते हैं कि कैसे तब की एन्वायरन्मेंट मिनिस्टर जयंती नटराजन राहुल के घर जाकर उनके पर्सनल सेक्रेटरी से मिलना चाहती थीं। ये बताता है कि एक शख्स जो सरकार का हिस्सा नहीं था, वो यूपीए सरकार के काम में दखलंदाजी कर रहा था।
- गोयल ने मनमोहन सिंह को भी आरोपों के घेरे में लेते हुए उन्हें सिर्फ नाम का पीएम बताया। गोयल ने कहा- राहुल और जयंती के बीच हुए ईमेल एक्सचेंज बताते हैं कि कैसे सारे फैसले एक फैमिली लेती थी और मनमोहन सिंह सिर्फ नाम के पीएम थे।

गुजरात के प्रोजेक्ट क्यों लटकाए?

- यूपीए सरकार के दौरान नरेंद्र मोदी गुजरात के सीएम थे। बीजेपी का आरोप है कि इस दौरान यूपीए ने गुजरात के प्रोजेक्ट्स को जानबूझकर लटकाए रखा।
- गोयल ने कहा- यूपीए के दौरान गुजरात के प्रोजेक्ट्स को लटकाया गया। एन्वायरन्मेंट मिनिस्ट्री का इसके लिए इस्तेमाल हुआ और हमारे पास मौजूद ईमेल ये साबित करते हैं कि कैसे इन प्रोजेक्ट्स को रोके रखा गया।
- गोयल ने राहुल गांधी का नाम लेकर उन पर गंभीर आरोप लगाए। कहा- राहुल ने निरमा प्रोजेक्ट का विरोध किया। उन्होंने जयंती नटराजन से कहा कि वो इस प्रोजेक्ट को एन्वायरन्मेंट क्लियरेंस न दें। क्या वो गुजरात में नौकरियां खत्म कर नरेंद्र मोदी के विकास के एजेंडे को नुकसान पहुंचाना चाहते थे?

राहुल की समझ पर सवालिया निशान

- गोयल ने कहा- राहुल गांधी की समझ का आलम ये है कि उन्हें ये भी नहीं मालूम था कि अमेठी-रायबरेली में हाईवे बनाने का कोई प्रपोजल नहीं है। लेकिन राहुल ने जयंती नटराजन से कहा कि वो इस मंजूरी दे दें। जबकि इस तरह का कोई प्रोजेक्ट या प्रपोजल था ही नहीं।

गोयल ने कहा- राहुल गांधी की समझ का आलम ये है कि उन्हें ये भी नहीं मालूम था कि अमेठी-रायबरेली में हाईवे बनाने का कोई प्रपोजल नहीं है। लेकिन राहुल ने जयंती नटराजन से कहा कि वो इस मंजूरी दे दें।- फाइल गोयल ने कहा- राहुल गांधी की समझ का आलम ये है कि उन्हें ये भी नहीं मालूम था कि अमेठी-रायबरेली में हाईवे बनाने का कोई प्रपोजल नहीं है। लेकिन राहुल ने जयंती नटराजन से कहा कि वो इस मंजूरी दे दें।- फाइल
गोयल ने आरोप लगाया कि राहुल ने ही निरमा प्रोजेक्ट का विरोध किया।- फाइल गोयल ने आरोप लगाया कि राहुल ने ही निरमा प्रोजेक्ट का विरोध किया।- फाइल
X
video: पीयूष गोयल ने राहुल गांधी पर बड़े आरोप लगाए।video: पीयूष गोयल ने राहुल गांधी पर बड़े आरोप लगाए।
गोयल ने कहा- राहुल गांधी की समझ का आलम ये है कि उन्हें ये भी नहीं मालूम था कि अमेठी-रायबरेली में हाईवे बनाने का कोई प्रपोजल नहीं है। लेकिन राहुल ने जयंती नटराजन से कहा कि वो इस मंजूरी दे दें।- फाइलगोयल ने कहा- राहुल गांधी की समझ का आलम ये है कि उन्हें ये भी नहीं मालूम था कि अमेठी-रायबरेली में हाईवे बनाने का कोई प्रपोजल नहीं है। लेकिन राहुल ने जयंती नटराजन से कहा कि वो इस मंजूरी दे दें।- फाइल
गोयल ने आरोप लगाया कि राहुल ने ही निरमा प्रोजेक्ट का विरोध किया।- फाइलगोयल ने आरोप लगाया कि राहुल ने ही निरमा प्रोजेक्ट का विरोध किया।- फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..