--Advertisement--

बजट सेशन: आज संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर जवाब देंगे नरेंद्र मोदी, BJP ने व्हिप जारी किया

Dainik Bhaskar

Feb 07, 2018, 09:57 AM IST

संसद के बजट सेशन की शुरुआत 29 जनवरी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ हुई थी।

मोदी ने बुधवार को लोकसभा में अ मोदी ने बुधवार को लोकसभा में अ

नई दिल्ली. नरेंद्र मोदी ने बुधवार को लोकसभा में डेढ़ घंटे स्पीच दी। मोदी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की बजट सेशन में दी गई स्पीच पर धन्यवाद दे रहे थे। हालांकि, उन्होंने अब तक की कांग्रेस सरकारों, उनकी नीतियों, भ्रष्टाचार जैसे मुद्दों पर भी लंबी चर्चा की। प्रधानमंत्री ने कहा, "आपने (कांग्रेस) ऐसा जहर बोया, जिसकी सजा आजादी के 70 साल तक जनता देशवासियों ने भुगती।" उनकी पूरी स्पीच के दौरान अपोजिशन ने जमकर हंगामा और नारेबाजी की। इसमें NDA की सहयोगी तेलुगु देशम पार्टी भी शामिल थी, जो स्पेशल पैकेज की मांग को लेकर नाराज है।

डेढ़ घंटे की स्पीच में मोदी ने क्या कहा, 16 प्वाइंट

1) राष्ट्रपति की स्पीच का विरोध कितना ठीक?

- मोदी ने कहा, "राष्ट्रपति की स्पीच पर उन्हें आभार प्रकट करते हुए कुछ बातें कहना चाहूंगा। सभी सदस्यों ने अपने विचार रखे। कुछ ने पक्ष में तो कुछ ने विपक्ष में कहा। राष्ट्रपति का भाषण किसी दल का नहीं होता है। विरोध करना कितना उचित है?"

2) आपके बोए जहर की सजा 125 करोड़ देशवासियों को मिली

- मोदी ने कहा, "अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में तीन राज्य बने थे, तब अच्छी तरह से बंटवारा किया गया। आपके (कांग्रेस) चरित्र में है कि आपने भारत का विभाजन किया और जहर बोया। आजादी के 70 साल में एक भी ऐसा दिन नहीं गया, जब आपके बोए जहर की सजा 125 करोड़ देशवासियों को नाम मिली हो। आपने चुनाव को ध्यान में रखते हुए सदन के दरवाजे बंद किए। आंध्र के साथ आपने जो हड़बड़ी में किया, उसी का नतीजा है कि 4 साल बाद भी समस्याएं सुलझाई जा रही हैं। हम भी तेलंगाना के विकास के पक्ष में थे।"

3) जी चाहता है कि सच बोलें, क्या करें हौसला नहीं होता

- मोदी ने आगे कहा, "कल मैं मल्लिकार्जुन खड़गे जी का भाषण सुन रहा था कि वे ट्रेजरी बेंच को या फिर अपने ही दल के नीति निर्धारकों को संबोधित कर रहे थे। जब उन्होंने बशीर बद्रजी की शायरी सुनाई। मैं आशा करता हूं कि यह कर्नाटक के सीएम ने जरूर सुनी होगी। उन्होंने कहा- दुश्मनी जमकर करो, लेकिन ये गुंजाइश रखो कि जब हम दोस्त हो जाएं तो हाथ मिलाने में शर्मिंदगी न हो। उसी शायरी में बशीर बद्र ने आगे कहा है कि जी बहुत चाहता है कि सच बोलें, क्या करें हौसला नहीं होता। खड़गे जी कम से कम एक परिवार की भक्ति करके शायद आपकी जगह यहां बची रहे। कम से कम जगद्गुरु बश्वेश्वर जी का अपमान तो ना करिए। उन्होंने 12वीं सदी में लोकतंत्र और महिला सशक्तिकरण की शुरुआत की थी।"

4) एक परिवार के गीत गाने में पूरी ताकत लगा दी

- पीएम ने कांग्रेस पर तंज कसा, "आपने मां भारती के टुकड़े कर दिए, उसके बाद भी देश आपके साथ रहा। शुरू के तीन-चार दशक विपक्ष नाममात्र का था। मीडिया भी कम था, रेडियो भी आपके गीत गाता था। उस समय न्यायपालिका में किसे रखना है, यह कांग्रेस तय करती थी। उस वक्त कोई पीआईएल नहीं लगती थी। विरोध का नाम निशान नहीं था। इतनी लग्जरी आपको मिली, लेकिन आपने पूरा वक्त एक परिवार के गीत गाने में खपा दिया। देश के इतिहास को भुलाकर एक परिवार को याद रखा जाए, सारी ताकत उसी में लगा दी।"

5) नीयत और नीतियां सही होतीं तो देश कहीं और होता

- "अगर आपकी नीयत साफ होती और सही नीतियां बनाई होतीं तो देश आज कहीं और पहुंच चुका होता। कांग्रेस को यही लगता है कि देश का उदय 15 अगस्त 1947 को हुआ। उसके पहले देश का अस्तित्व ही नहीं था। मैं इसे नासमझी कहूं! क्या देश को कांग्रेस और नेहरू ने लोकतंत्र दिया। आप लोकतंत्र की बात करते हैं। हमारा देश में जब बुद्ध की परंपराएं थी, तब भी लोकतंत्र की गूंज थी। बिहार के लिच्छवी साम्राज्य में भी लोकतांत्रिक व्यवस्था थी। और, यही लोकतंत्र हमारी रगों में है।"

6) हमें लोकतंत्र का पाठ ना पढ़ाए कांग्रेस

- मोदी बोले, "आपकी (कांग्रेस) पार्टी के नेता ने गुजरात इलेक्शन से पहले पूछा था, क्या मुगलकाल में चुनाव होते थे? और आप (कांग्रेस) लोकतंत्र की बात करते हैं। राजीव गांधी ने आंध्र प्रदेश के एक दलित सीएम का सरेआम अपमान किया था। इसके बाद एनटी रामाराव को फिल्में छोड़कर राजनीति में आना पड़ा था। उन्होंने टीडीपी बनाई। आप देश को गुमराह कर रहे हो। जब आत्मा की आवाज उठती है तो कांग्रेस का लोकतंत्र डोल जाता है। कांग्रेस जानती है कि उन्होंने संजीव रेड्डी को राष्ट्रपति चुनाव में हराया, वे भी आंध्र प्रदेश से आते थे।"

- उन्होंने राहुल का जिक्र करते हुए कहा, "आपके नेता कैबिनेट के फैसले को मीडिया के सामने फाड़ देते हैं। कृपया हमें लोकतंत्र का पाठ मत पढ़ाइए।"

7) सरदार पटेल पीएम बनते तो कश्मीर हमारा होता

- वे बोले, "मैं इतिहास की बात बताता हूं। जब कांग्रेस कमेटी का चुनाव हुआ तो 12 में से 9 मेंबर्स ने सरदार पटेल को चुना था। 3 ने नोटा दिया था। अगर देश का नेतृत्व सरदार पटेल को मिलता तो पूरा आज कश्मीर हमारा होता। कुछ महीने पहले कांग्रेस प्रेसिडेंट के चुनाव में भी आपकी ही पार्टी के नौजवान की आवाज दबाई गई। वो अध्यक्ष पद के लिए पर्चा भरना चाहता था। जनता की आंखों में धूल झोंकना हमारा चरित्र नहीं है।"

8) जनता ने आपके दर्द का इलाज कर दिया है
- "हमारे खड़गे जी ने एक रेलवे और दूसरा कर्नाटक का जिक्र किया। बीदर-कलबुर्गी रेल लाइन अटलजी की सरकार में मंजूर हुई थी। आप भी रेलमंत्री रहे। अटलजी की सरकार के बाद इस पर सिर्फ 37 किलोमीटर में काम हुआ। वो भी तब, जब येदियुरप्पाजी की सरकार थी। तब आपको लगा कि यह 130 किलोमीटर होनी चाहिए थी। सड़क पर झंडा फहरा कर आ गए। अब हमने जनता के हित में इस योजना को पूरा किया। मैंने इस योजना का इनॉगरेशन किया तो आपको दर्द हो रहा है। इस दर्द का इलाज जनता ने कर दिया है।"

9) केवल चुनाव के लिए आपने बाड़मेर रिफाइनरी का पत्थर जड़वाया
- कांग्रेस से कहा, "आपने बाड़मेर रिफायनरी के लिए सिर्फ पत्थर जड़वाया। न कोई जमीन थी, न कोई प्लान था। बस चुनाव के चलते पत्थर लगवा दिया। हमने इसे पूरा करने के लिए काम शुरू किया। असम में डोला-सादिया ब्रिज, जब हमने इसकी शुरुआत की। आपने ये कभी कहने की ईमानदारी नहीं दिखाई कि यह काम भी अटल जी ने किया। अटलजी ने एक विधायक की मांग पर इसे मंजूरी दी थी।"

10) सबसे लंबी सुरंग, समंदर में ब्रिज पर काम शुरू

- "मुझे इस बात का गर्व है कि देश में सबसे लंबी सुरंग, समंदर में ब्रिज और सबसे तेज रेलवे का काम हो रहा है। वो भी तय वक्त में पूरा होगा। हमने 104 सैटेलाइट भी छोड़े। कांग्रेस के किसी प्रधानमंत्री ने लाल किले से नहीं कहा कि देश के लिए पिछली सरकारों ने क्या किया। लेकिन, मैंने सभी सरकारों के कामकाज को अपने भाषण में शामिल किया। आपने देश को स्वीकार नहीं किया, इसीलिए विपक्ष में बैठने की हालत हुई है। सिर्फ परिवार के लिए काम किया। आज देश के करोड़ों घरों में शौचालय बन रहे हैं। युवाओं को रोजगार मिल रहा है।"

- "आप बेरोजगारी की बात करते हो तो पूरे देश का आंकड़ा लो। पश्चिम बंगाल, केरल और पंजाब के आंकड़े लो। इन सरकारों का दावा है कि वहां करीब 1 करोड़ लोगों को रोजगार मिला है। क्या वहां युवाओं को रोजगार नहीं मिला? मैं बीजेपी या एनडीए शासित राज्यों की बात नहीं कर रहा हूं। इसलिए देश को गुमराह मत कीजिए।"

11) हम ड्रोन से कर रहे हैं मॉनिटरिंग

- पीएम बोले, "अटलजी ने कहा है कि छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता और टूटे मन से कोई खड़ा नहीं होता। 80 के दशक में 21वीं सदी के सपने दिखाए जा रहे थे और इनकी (कांग्रेस) सरकार एविएशन पॉलिसी तक नहीं ला पाई। क्या आप रेलगाड़ी वाली सदी की बात कर रहे थे? हमने इस पॉलिसी में छोटी हवाई पट्टियों को जोड़ा। देश में करीब 450 हवाई जहाज ऑपरेशनल हैं और इस साल 900 से ज्यादा प्लेन का ऑर्डर दिया है। हम कामकाज को मॉनिटर करने के लिए ड्रोन और सैटेलाइट का इस्तेमाल कर रहे हैं।"

- "आपने आधार को लेकर कहा था कि मोदी सरकार इसे खत्म कर देगी। अब हमने इसे वैज्ञानिक तरीके से लागू किया तो आप सवाल उठा रहे हैं। आज 115 करोड़ से ज्यादा आधार बन चुके हैं। 400 योजनाओं में डायरेक्ट ट्रांसफर बेनिफिट दिया जा रहा है। आपके दुख का कारण आधार नहीं, बिचौलियों का रोजगार जाना है।"

12) 20% आबादी अंधेरे में, हमें ये विरासत मिली

- "4 करोड़ घरों तक बिजली पहुंचाने के लिए सौभाग्य योजना हम लेकर आए। इन घरों में बिजली नहीं होने का मतलब है कि करीब 20% आबादी अंधेरे में जी रही है। ये आपने हमें विरासत में दिया। ये गर्व करने वाली बात नहीं है। इसे बिजली प्रोडक्शन बढ़ाकर हम खत्म करने की कोशिश कर रहे हैं। पिछले तीन साल में हमने ट्रांसफॉर्मर कैपिसिटी 30% बढ़ाई है। बिजली बचाने के लिए हमने 28 करोड़ एलईडी बल्ब बांटे, इससे मिडिल क्लास का बिल बचा है।"

13) 2022 की बात करता हूं तो आपको तकलीफ होती है

- मोदी ने कहा, "हमने किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान संपदा योजना शुरू की, ताकि उनकी फसलें बर्बाद न हों। इससे खेती से जुड़े नौजवानों के लिए रोजगार की संभावना पैदा हुई। आपने 80 के दशक में 21वीं सदी के गीत गाए। अब में 2022 की बात कर रहा हूं तो आपको उसमें भी तकलीफ हो रही है। आपने कभी बड़े मन से कुछ सोचा ही नहीं। हमने किसानों की आय दोगुनी करने के लिए कई फैसले लिए हैं। आपने बांस को ट्री की क्लास में रख दिया। नॉर्थ-ईस्ट के लोग इसे काट नहीं सकते थे और करोड़ों रुपए की संपदा बर्बाद हो गई।"

14) मैं आपके पाप जानता था, फिर भी मौन रहा

- "हमने स्वच्छ भारत अभियान से महिलाओं को बल देने का काम किया है। भ्रष्टाचार करने वाला कोई भी बचने वाला नहीं है। देश को जिन्होंने लूटा है, उन्हें यह लौटाना होगा और जेल की हवा खानी पड़ेगी। ये हमारा संकल्प है। आज इस विषय को विस्तार से बताना चाहता हूं कि कुछ लोग झूठ बोलने को फैशन समझते हैं। देश को पता चलना चाहिए कि एनपीए (बैंकों के डूबे कर्ज) के पीछे पुरानी सरकारें जिम्मेदार हैं। उन्होंने ऐसी नीतियां बनाई कि अपनों को फायदा मिलता था। बिचौलियों और बैंक अफसरों के जरिए निकाला गया रुपया कभी वापस नहीं लौटता था। अगर राजनीति करनी होती तो पहले ही दिन इसे सबसे सामने रख देता। आपके पापों को जानते हुए मैं मौन रहा, क्योंकि देश में बैंकों के सामने संकट आ जाता। ये एनपीए आपका पाप है।"

15) जितना कीचड़ उछालोगे, कमल उतना ही खिलेगा

- "हमारी सरकार आने के बाद एक भी लोन ऐसा नहीं दिया गया, जो एनपीए है। 2008 में 18 लाख करोड़ और 2014 में एनपीए 52 लाख करोड़ पहुंच गया। हमने देखा जो आंकड़े आपने बताए वे झूठे थे। हमने तय किया कि जो भी तकलीफ होगी, हम सहेंगे। मेरा सफाई अभियान सिर्फ चौराहे तक नहीं, बल्कि बैंकिंग सेक्टर तक है। 4 साल में हमने नीतियां बनाईं और आपके पापों को साफ किया। इसका हिसाब आपको कभी ना कभी तो देना होगा। हिट एंड रन की राजनीति चल रही है। कीचड़ उछालो और भागो... अरे जितना कीचड़ उछालोगे कमल उतना ही खिलेगा। मैंने कोई आरोप नहीं लगाए, लेकिन देश इसे तय करेगा।"

16) आप विदेशों में देश की बदनामी कर रहे हैं

- कांग्रेस के फैसलों पर सवाल उठाए, "आपने कतर तक गैस पाइप लाइन के लिए 8 करोड़ रुपए ज्यादा दिए। क्यों दिए, ये देश तय करेगा। क्या कारण है कि जो बल्ब आपके वक्त में 350 रुपए में मिलता था और अब उसी टेक्नोलॉजी के साथ 40 रुपए में मिलता है? क्या कारण है कि आपके वक्त में सोलर एनर्जी 30 से 40 रुपए थी, लेकिन वो अब 2 से 3 रुपए पर आ गई? आज देश का मान-सम्मान बढ़ा है। हमारा पासपोर्ट लेकर कोई जाता है तो लोग उसे गर्व से देखते हैं। आप विदेशों में देश को बदनाम कर रहे हो।डोकलाम में सेना तनकर खड़ी है और आप चीनी अफसरों से बात कर रहे हो। सेना के सर्जिकल स्ट्राइक पर सवालिया निशान खड़े करते हो।"

- "आपके वक्त देश में बस एक कॉमनवेल्थ गेम्स हुए। हमारी सरकार में फीफा अंडर-19 वर्ल्ड कप जैसे कई इवेंट हुए। 26 जनवरी को 10 देशों के आसियान नेता आकर बैठे। आपको समझ नहीं आया कि आप ऐसा क्यों नहीं कर पाए।"

X
मोदी ने बुधवार को लोकसभा में अमोदी ने बुधवार को लोकसभा में अ
Astrology

Recommended

Click to listen..