--Advertisement--

रामायण और बुद्धिज्म साझी विरासत, ये हमें आपस में जोड़ती हैं: ASEAN लीडर्स से बोले मोदी

इंडिया-आसियान कमेमरेटिव समिट में मोदी ने कहा- मैं आपका आसियान-इंडिया समिट में स्वागत करके बेहद खुश हूं।

Danik Bhaskar | Jan 25, 2018, 07:08 PM IST
रिपब्लिक डे सेरेमनी में शिरकत के लिए आए ASEAN देशों के लीडर्स को गुरुवार को पीएम मोदी ने स्पीच दी। रिपब्लिक डे सेरेमनी में शिरकत के लिए आए ASEAN देशों के लीडर्स को गुरुवार को पीएम मोदी ने स्पीच दी।

नई दिल्ली. रिपब्लिक डे सेरेमनी में शिरकत के लिए आए ASEAN देशों के लीडर्स को गुरुवार को पीएम मोदी ने स्पीच दी। इस मौके पर उन्होंने कहा- आपकी मौजूदगी ने सवा सौ करोड़ भारतीयों के दिलों को छू लिया। पीएम ने रामायण, बुद्धिज्म और इस्लाम का भी जिक्र किया। कहा- रामायण और बुद्धिज्म हमारी साझी विरासत हैं और ये हमें आपस में जोड़ती हैं।

और क्या कहा मोदी ने?

- इंडिया-आसियान कमेमरेटिव समिट में मोदी ने कहा- मैं आपका आसियान-इंडिया समिट में स्वागत करके बेहद खुश हूं।' बता दें कि भारत ने पहली बार 10 ASEAN देशों के प्रमुखों को बतौर मेहमान गणतंत्र दिवस 2018 के मौके पर बुलाया है। इन देशों में कंबोडिया, इंडोनेशिया, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड, वियतनाम, ब्रूनेई और लाओस शामिल हैं।

आसियान लीडर्स से क्या बोले प्रधानमंत्री मोदी?

- मोदी ने कहा, “मैं आपका आसियान-इंडिया समिट में स्वागत करके बेहद खुश हूं। हमारी ये साझा यात्रा हजारों साल पुरानी है। ये भारत का सौभाग्य है कि हमें आसियान लीडर्स का स्वागत करने का मौका मिला। ये लीडर्स गणतंत्र दिवस पर हमारे सम्मानित अतिथि रहेंगे।”
-“रामायण भारत का प्राचीन ग्रंथ है। ये ना सिर्फ ASEAN बल्कि इंडियन सबकॉन्टिनेंट की भी साझी विरासत है। बुद्धिज्म भी हमें आपस में जोड़ता है। साउथ-ईस्ट एशिया में इस्लाम भी है। और सदियों से इसका भारत से संबंध रहा है।”
- “ASEAN हमारी एक्ट ईस्ट पॉलिसी का हिस्सा है। हमारी दोस्ती को संस्कृति और इतिहास ने बेहतर बनाया है। भारत ASEAN का इस्तेमाल शांति और कानून के शासन के लिए करना चाहता है। हम आपके साथ काम करते रहेंगे।”

भारतीयों के दिलों को छुआ

- मेहमानों का शुक्रिया अदा करते हुए पीएम ने कहा- एक टीम के तौर पर आपकी मौजूदगी ने सवा सौ करोड़ भारतीयों के दिलों को छुआ है। हम मिलकर शांति, विकास के रास्ते पर चलेंगे। 1992 में ASEAN का रास्ता खोजा गया। हमने इसके लिए जो टारगेट तय किए थे, उन्हें हासिल भी किया है।

भारत ने पहली बार 10 ASEAN देशों के प्रमुखों को बतौर मेहमान गणतंत्र दिवस 2018 के मौके पर बुलाया है। इन देशों में कंबोडिया, इंडोनेशिया, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड, वियतनाम, ब्रूनेई और लाओस शामिल हैं। भारत ने पहली बार 10 ASEAN देशों के प्रमुखों को बतौर मेहमान गणतंत्र दिवस 2018 के मौके पर बुलाया है। इन देशों में कंबोडिया, इंडोनेशिया, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड, वियतनाम, ब्रूनेई और लाओस शामिल हैं।