• Home
  • National
  • PNB Fraud Case Vipul Ambani and 5 other sent to Judicial Custody till 19th March
--Advertisement--

पीएनबी फ्रॉड: विपुल अंबानी समेत 6 आरोपी 19 मार्च तक की न्यायिक हिरासत में भेजे गए

पीएनबी में 12,672 करोड़ रुपए के फ्रॉड का खुलासा फरवरी में हुआ।

Danik Bhaskar | Mar 05, 2018, 04:50 PM IST
नीरव मोदी की कंपनी फायरस्टार का प्रेसिडेंट (फाइनेंस) विपुल अंबानी रिलायंस ग्रुप के प्रमुख मुकेश अंबानी का चचेरा भाई है। - फाइल नीरव मोदी की कंपनी फायरस्टार का प्रेसिडेंट (फाइनेंस) विपुल अंबानी रिलायंस ग्रुप के प्रमुख मुकेश अंबानी का चचेरा भाई है। - फाइल

नई दिल्ली. पीएनबी में 12,672 करोड़ रुपए के फ्रॉड में सोमवार को सीबीआई ने बैंक के जनरल मैनेजर (ट्रेजरी) एसके चंद से पूछताछ की। वहीं, फायरस्टार के प्रेसिडेंट (फाइनेंस) विपुल अंबानी समेत 6 आरोपी सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में पेश किए गए। कोर्ट ने उन्हें 19 मार्च तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया। विपुल अंबानी रिलायंस ग्रुप के प्रमुख मुकेश अंबानी का चचेरा भाई है। बता दें कि बैंक फ्रॉड में हीरा कारोबारी नीरव मोदी और गीतांजलि जेम्स के मालिक मेहुल चौकसी मुख्य आरोपी हैं। दोनों देश छोड़ कर भाग चुके हैं।

कब पुलिस कस्टडी में भेजा गया था विपुल?

- सीबीआई ने 20 फरवरी को फायरस्टार के प्रेसिडेंट (फाइनेंस) विपुल अंबानी, सीनियर एग्जीक्यूटिव अर्जुन पाटिल, असिस्टेंट एग्जीक्यूटिव कविता मनकिकर, नक्षत्र के चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर कपिल खंडेलवाल, मैनेजर नितेन शाही, जनरल मैनेजर राजेश जिंदल को गिरफ्तार किया।
- 21 फरवरी को विपुल अंबानी समेत अन्य आराेपियों को मुंबई में स्पेशल सीबीआई कोर्ट में पेश किया गया। यहां से इन्हें 5 मार्च तक के लिए पुलिस कस्टडी में भेजा गया था।

नीरव और मेहुल के खिलाफ गैर-जामनती वारंट

- मुंबई की स्पेशल कोर्ट ने 3 फरवरी को नीरव मोदी और मालिक मेहुल चौकसी के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किए। नीरव के वकील ने इसे हाईकोर्ट में चुनौती देने की बात कही है।

- वहीं, नीरव ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को मेल के जरिए जवाब भेजा। उसने लिखा, ''जिस तेजी से मुझ पर कार्रवाई की गई, लगता है कि अफसरों ने मेरे भाग्य का फैसला पहले ही तय कर लिया। कानून के हिसाब से मेरे जवाब पर विचार नहीं किया।''

- बता दें कि ईडी ने नीरव को मेल कर जांच में शामिल होने के लिए भारत आने के लिए कहा है।

अब तक और क्या कार्रवाई हुई?

- सोमवार को मुंबई में मामले में आरोपी मनीष बोसमिया, मितेन पाड्या, संजय रंभिया और एएसआर नायर को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने आरोपियों को 17 मार्च तक के लिए पुलिस कस्टडी में भेज दिया। इन आरोपियों को रविवार को गिरफ्तार किया गया था।

- पीएनबी घोटाले में अब तक ईडी ने देशभर में गीतांजलि जेम्स के शोरूम में छापेमारी की है। इस दौरान 22 करोड़ रुपए की ज्वेलरी जब्त हुई और कई हजार करोड़ की प्रॉपर्टी अटैच की गई।

- वहीं, नीरव मोदी से जुड़ी 6,393 करोड़ से ज्यादा की प्रॉपर्टी जब्त की जा चुकी है। नीरव और चौकसी के ठिकानों से जब्त हुई ज्वेलरी और प्रॉपर्टी का वैल्यूएशन कराया जा रहा है।

क्या है पीएनबी घोटाला?
- पीएनबी ने पिछले दिनों सेबी और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को 11,421 करोड़ रुपए के घोटाले के जानकारी दी। घोटाला मुंबई की ब्रेडी हाउस ब्रांच में हुआ। 2011 से 2018 के बीच हजारों करोड़ की रकम 297 फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (LoUs) के जरिए विदेशी अकाउंट्स में ट्रांसफर की गई।
- पीएनबी ने हाल ही में सीबीआई को बैंक में 1,251 करोड़ के नए फ्रॉड की जानकारी दी थी। यह मेहुल चौकसी की कंपनी गीतांजलि जेम्स से जुड़ा है। इस तरह पीएनबी फ्रॉड 11,421 से बढ़कर 12,672 करोड़ हो गया है।

पीएनबी घोटाला मुंबई की ब्रेडी हाउस ब्रांच में हुआ। 2011 से 2018 के बीच हजारों करोड़ की रकम 297 फर्जी LoUs के जरिए विदेशी अकाउंट्स में ट्रांसफर की गई। -फाइल पीएनबी घोटाला मुंबई की ब्रेडी हाउस ब्रांच में हुआ। 2011 से 2018 के बीच हजारों करोड़ की रकम 297 फर्जी LoUs के जरिए विदेशी अकाउंट्स में ट्रांसफर की गई। -फाइल