--Advertisement--

नीरव मोदी पैसा वापस करना चाहते थे, लेकिन प्लान पुख्ता नहीं था: PNB के एमडी सुनील मेहता ने कहा

11,356 करोड़ के फ्रॉड मामले में पंजाब नेशनल बैंक ने बुधवार को सफाई दी।

Dainik Bhaskar

Feb 15, 2018, 02:22 PM IST
PNB MD Sunil Mehta press conference on bank fraud Scam

मुंबई. 11,356 करोड़ के फ्रॉड केस में पंजाब नेशनल बैंक ने गुरुवार को सफाई दी। बैंक के एमडी सुनील मेहता ने कहा- "नीरव मोदी पैसा वापस करना चाहते थे लेकिन प्लान पुख्ता नहीं था।" उन्होंने कहा- "हमारा 123 साल पुराना संगठन है। दोषियों को पकड़ने के लिए हम पूरी ताकत से लड़ेंगे और उनके खिलाफ सख्त एक्शन लेंगे।" बता दें कि पीएनबी ने इस घोटाले की जानकारी बुधवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को दी थी।

2011 में कांग्रेस क्या कर रही थी?

- वित्त राज्य मंत्री एसपी शुक्ला ने कहा, "कांग्रेस हम पर आरोप लगा रही है। मैं बताना चाहता हूं कि 2011 में हमारी सरकार नहीं थी। 2011 से 14 तक क्या आप सो रहे थे। आरोपियों की जांच होनी चाहिए थी।"

- "दरअसल कांग्रेस की घोटालों की सरकार थी। उन्होंने ही घोटालेबाजों को स्थापित किया।"

आरोपी ग्रुपों के खिलाफ रेड चल रही है

- एमडी सुनील मेहता ने बताया- "जैसे ही पता लगा, हमने जांच की। आरोपियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई होगी। हमने सभी पक्षों को इस बारे में जानकारी दी है। एडवाइजरी भी जारी की है। सेबी को भी बताया है। हम क्लीन बैंकिंग का जो एजेंडा है उसके तहत कार्रवाई कर रहे हैं। फिर चाहे वो कस्टमर हो या स्टाफ।"

- "हमारे पास समस्या से निपटने का आकार और क्षमता दोनों हैं। हमने एफआईआर दर्ज की हैं। आरोपी ग्रुपों के खिलाफ रेड चल रही हैं। ये बहुत सेंसेटिव इश्यू है। इसे सनसनी ना बनाएं नहीं, तो इससे आरोपियों को फायदा हो सकता है और जांच प्रभावित हो सकती है।"

- "हमने अपने स्टाफ जिनमें मिस्टर शेट्टी शामिल हैं, एक्शन लिया है। कुछ सस्पेंड किए गए हैं। इन लोगों को लीगल फ्रेमवर्क में लाया जाएगा। हम किसी भी गलत काम को बढ़ावा नहीं देंगे। ये कैंसर सर्जरी की तरह है, इसे साफ किया जाएगा। आपको लगता होगा कि हम कुछ देर से मीडिया के सामने आए। लेकिन जांच एजेंसियों को सहयोग करना ज्यादा जरूरी है।"

सुनील मेहता ने इन सवालों के भी जवाब दिए


घोटाले का पता कब लगा?
- "हमें घोटाले का पता जनवरी के तीसरे हफ्ते में पता लगा। 29 जनवरी को सीबीआई को जानकारी दी। 30 को एफआईआर दर्ज कराई।"

गड़बड़ी किन बैंकों में हुई?
-" गड़बड़ी ज्यादातर भारतीय बैंकों की फॉरेन ब्रांचों की वजह से हुई। जांच बहुत तेजी से चल रही है। इसके बाद आपको हर मुद्दे की जानकारी देंगे।"

कर्मचारियों के खिलाफ क्या करेंगे?
- "हमने माना है कि हमारे कर्मचारियों ने सिस्टम से धोखा किया है। इसलिए उनके खिलाफ केस दर्ज कराया गया है। आप ये तय मानिए कि कोई भी कितना भी बड़ा क्यों ना हो, हम किसी को छोड़ने वाले नहीं हैं। ये हमारी साख का सवाल है।"

नीरव मोदी ने क्या कॉन्टैक्ट किया था?
- "नीरव मोदी पैसा वापस करने के लिए कोई पुख्ता प्लान हमारे पास लेकर नहीं आए थे। हां, हम मानते हैं कि मोदी पैसा लौटाने की पेशकश लेकर हमारे पास आए थे।"

- "आप इसे विजय माल्या केस नहीं जोड़ें। दोनों मामले अलग-अलग हैं।"

ये मामला सामने कैसे आया?

- पंजाब नेशनल बैंक ने बुधवार को स्‍टॉक एक्‍सचेंज बीएसई को बताया कि यह फ्रॉड कुछ चुनिंदा अकाउंट होल्‍डर्स को फायदा पहुंचाने के लिए किए गए थे। इन अकाउंट्स के जरिए 11,330 करोड़ रुपए ( 1.8 अरब डॉलर) का ट्रांजैक्शन हुआ।

ये भी पढ़ें:

- PNB फ्रॉड केस: ये नीरव मोदी कौन है: कांग्रेस ने पूछे 4 सवाल; केजरी बोले- इसमें BJP की मिलीभगत

- पंजाब नेशनल बैंक में 11,356 करोड़ का फ्रॉड, ऐसे हुई बैंकिंग सेक्टर की सबसे बड़ी धोखाधड़ी

- PNB फ्रॉड केस: हीरा कारोबारी नीरव मोदी के 10 ठिकानों पर ईडी के छापे, भाई और पत्नी पर भी केस दर्ज

PNB MD Sunil Mehta press conference on bank fraud Scam
X
PNB MD Sunil Mehta press conference on bank fraud Scam
PNB MD Sunil Mehta press conference on bank fraud Scam
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..