• Hindi News
  • National
  • army doctors worked all night to save the life of the severely injured pregnant woman with gunshots wounds and helped her deliver a baby girl: PRO Lt Col Devender Anand
--Advertisement--

आतंकियों की गोली से जख्मी हुई आर्मी जवान की पत्नी ने दिया बेटी को जन्म; सेना के डॉक्टरों ने रात भर की मेहनत

फायरिंग के बीच, दूसरे जवानों ने अपने साथी और उसकी पत्नी को सुरक्षित निकाला।

Dainik Bhaskar

Feb 11, 2018, 06:12 PM IST
सेफ डिलिवरी के लिए शनिवार रात से रविवार सुबह तक आर्मी के डॉक्टरों ने मेहनत की। सेफ डिलिवरी के लिए शनिवार रात से रविवार सुबह तक आर्मी के डॉक्टरों ने मेहनत की।

जम्मू. यहां के सुंजवां आर्मी कैम्प पर हमले के दौरान आतंकियों की गोलियों से जख्मी हुई प्रेग्नेंट महिला ने रविवार को बेटी को जन्म दिया। यह महिला आर्मी के ही एक जवान की पत्नी है। जवान और उसकी पत्नी आतंकियों की गोलीबारी की चपेट में आ गए थे। दोनों को गोलियां लगीं थीं। फायरिंग के बीच, दूसरे जवानों ने अपने साथी और उसकी पत्नी को सुरक्षित निकाला। बाद में उन्हें आर्मी हॉस्पिटल ले जाया गया। सेफ डिलिवरी के लिए शनिवार रात से रविवार सुबह तक आर्मी के डॉक्टरों ने मेहनत की।


हॉस्पिटल जाने की तैयारी कर रहे थे नजीर

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, नजीर अहमद आर्मी में राइफलमैन हैं और कश्मीर के ही रहने वाले हैं। शनिवार तड़के संुजवां आर्मी कैम्प पर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने हमला किया। इस दौरान सेना और आतंकियों के बीच फायरिंग हुई। आतंकियों ने कुछ ग्रेनेड भी फेंके।
- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नजीर इसी कैम्प के एक क्वार्टर में रहते हैं। उनकी पत्नी प्रेग्नेंट थीं। नजीर पत्नी को डिलिवरी के लिए हॉस्पिटल ले जाने वाले थे। आतंकी हमले के दौरान ये काम मुश्किल हो गया था। बहरहाल, नजीर किसी तरह निकलने की कोशिश कर रहे थे। इसी दौरान, वो गोलियों की चपेट में आ गए।
- नजीर और उनकी पत्नी को गोलियां लगीं। साथी जवानों ने दोनों को बचाया। इसके बाद उन्हें फौरन हॉस्पिटल ले जाया गया।

डॉक्टरों की मेहनत रंग लाई

- नजीर और उनकी पत्नी को जब हॉस्पिटल लाया गया तब उनकी हालत काफी चिंताजनक थी। आर्मी के स्पेशलिस्ट डॉक्टरों ने मोर्चा संभाला। एक टीम ने नजीर की पत्नी पर पूरी रात नजर रखी।
- रविवार तड़के महिला का सिजेरियन किया गया। नजीर की पत्नी ने बेटी को जन्म दिया। मां और बेटी की हालत अब बेहतर बताई गई है।
- जम्मू के आर्मी पीआरओ लेफ्टिनेंट कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा- हमारे डॉक्टर्स ने पूरी रात मेहनत की। क्योंकि, महिला की हालत नाजुक थी। इसके बाद उनका सिजेरियन सेक्शन ऑपरेशन किया गया।

सुंजवां में क्या हुआ?

- जम्मू के सुंजवां स्थित आर्मी कैम्प पर शनिवार तड़के जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने हमला किया था। सिक्युरिटी फोर्स ने 3 आतंकियों को ढेर कर दिया। हमले में सूबेदार मदनलाल चौधरी, हवलदार हबीबुल्ला कुरैशी, एक नॉन-कमीशंड अफसर और 2 अन्य जवान शहीद हो गए। एक सिविलियन की भी मौत हुई।

जम्मू के सुंजवां आर्मी कैंप पर शनिवार तड़के आतंकी हमला हुआ था। जम्मू के सुंजवां आर्मी कैंप पर शनिवार तड़के आतंकी हमला हुआ था।
X
सेफ डिलिवरी के लिए शनिवार रात से रविवार सुबह तक आर्मी के डॉक्टरों ने मेहनत की।सेफ डिलिवरी के लिए शनिवार रात से रविवार सुबह तक आर्मी के डॉक्टरों ने मेहनत की।
जम्मू के सुंजवां आर्मी कैंप पर शनिवार तड़के आतंकी हमला हुआ था।जम्मू के सुंजवां आर्मी कैंप पर शनिवार तड़के आतंकी हमला हुआ था।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..