• Home
  • National
  • Rahul Gandhi asks 11th question to narendra modi gujarat election
--Advertisement--

राहुल गांधी बोले- मोदी ने मेरे 10 सवालों के जवाब नहीं दिए, क्या अब उनका भाषण ही शासन है?

गुजरात के रिपोर्ट कार्ड पर राहुल गांधी ने मोदी से 10 सवाल पूछे हैं। राहुल ने कहा- पीएम ने एक का भी जवाब नहीं दिया।

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 11:01 AM IST
राहुल गांधी ने गुजरात चुवान से पहले मोदी से सवाल पूछे हैं। राहुल गांधी ने गुजरात चुवान से पहले मोदी से सवाल पूछे हैं।

नई दिल्ली. गुजरात चुनाव के मद्देनजर राहुल गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ट्विटर पर एक-एक कर 10 सवाल पूछ चुके हैं। शनिवार को उन्होंने ट्वीट में कहा कि गुजरात में 22 साल से बीजेपी की सरकार है। लेकिन इस बार मोदी के भाषणों से 'विकास' गायब है। पिछले 10 सवालों के भी जवाब नहीं मिले। वोटिंग शुरू हो गई, अब तक घोषणा पत्र तक नहीं आया तो क्या 'अब भाषण ही शासन' है? बता दें कि गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले में आज वोट डाले जा रहे हैं। दूसरा फेज 14 दिसंबर को है, नतीजों का एलान 18 तारीख को होगा।

बीजेपी के लिए क्या अब भाषण ही शासन है?

- राहुल ने ट्वीट में लिखा- गुजरात में 22 सालों से बीजेपी की सरकार। मैं सिर्फ इतना पूछूंगा, ''क्या कारण है इस बार प्रधानमंत्री जी के भाषणों में ‘विकास’ गुम है?''
- ''मैंने गुजरात के रिपोर्ट कार्ड से 10 सवाल पूछे, उनका भी जवाब नहीं। पहले फेज का प्रचार खत्म होने तक घोषणा पत्र नहीं, तो क्या अब ‘भाषण ही शासन’ है?''

ट्विटर पर सीरीज चलाकर सवाल पूछ रहे राहुल
- राहुल ट्विटर पर 22 सालों का हिसाब, गुजरात मांगे जवाब नाम की एक सीरीज चलाकर हर दिन मोदी से सवाल पूछ रहे हैं। अपने ट्वीट में वे गुजरात के हालात पर ‘प्रधानमंत्री जी से सवाल’ लिखकर ट्वीट कर रहे हैं।

पहले महिला सुरक्षा, शिक्षा, किसान और बेरोजगारी पर पूछे थे सवाल

दसवां सवाल: आदिवासी से छीनी जमीन नहीं दिया जंगल पर अधिकार, अटके पड़े हैं लाखों जमीन के पट्टे न चले स्कूल न मिला अस्पताल, न बेघर को घर न युवा को रोजगार पलायन ने दिया आदिवासी समाज को तोड़। मोदीजी, कहांं गए वनबंधु योजना के 55 हजार करोड़।

नौवांं सवाल: न की कर्ज माफी न दिया फसल का सही दाम, मिली नहीं फसल बीमा राशि न हुआ ट्यूबवेल का इंतजाम, खेती पर गब्बर सिंह की मार छीनी जमीन, अन्नदाता को किया बेकार। PM साहब बताइए, खेडुत के साथ क्यों इतना सौतेला व्यवहार?

आठवां सवाल: 39% बच्चे कुपोषण से बेजार, हर 1000 में 33 नवजात मौत के शिकार, चिकित्सा के बढ़ते हुए भाव, डाक्टरों का घोर अभाव भुज में 'मित्र' को 99 साल के लिए दिया सरकारी अस्पताल, क्या यही है आपके स्वास्थ्य प्रबंध का कमाल?
सातवां सवाल: बढ़ते दामों से जीना दुश्वार बस अमीरों की होगी भाजपा सरकार?
छठवां सवाल: 7वें वेतन आयोग में 18000 रुपए मासिक होने के बावजूद फिक्स और कॉन्ट्रैक्ट पगार 5500 और 10000 क्यों?
पांचवां सवाल: न सुरक्षा, न शिक्षा, न पोषण। गुजरात की बहनों से किया सिर्फ वादा, पूरा करने का कभी नहीं था इरादा।
चौथा सवाल: सरकारी शिक्षा पर खर्च में गुजरात देश में 26वें स्थान पर क्यों? युवाओं ने क्या गलती की है?
तीसरा सवाल: 2002-16 के बीच 62,549 करोड़ रुपए की बिजली खरीद कर 4 निजी कंपनियों की जेब क्यों भरी? जनता की कमाई, क्यों लुटाई?

दूसरा सवाल: 1995 में गुजरात पर कर्ज- 9183 करोड़। 2017 में गुजरात पर कर्ज- 2,41,000 करोड़। आपके वित्तीय कुप्रबंधन और पब्लिसिटी की सजा गुजरात की जनता क्यों चुकाए?

पहला सवाल: 2012 में वादा किया कि 50 लाख नए घर देंगे। 5 साल में बनाए 4.72 लाख घर। प्रधानमंत्रीजी बताइए कि क्या ये वादा पूरा होने में 45 साल और लगेंगे?

सातवें सवाल में कर दी थी कैलकुलेशन मिस्टेक

- राहुल ने मंगलवार को मोदी से सातवां सवाल किया था। इसमें उन्होंने गुजरात में तीन साल में बढ़े जरूरी चीजों के दाम पर जवाब चाहा था। उन्होंने इसके साथ एक चार्ट पोस्ट किया था। इसमें कीमतों की बढ़ोत्तरी को पर्सेंट में बताया गया था। लेकिन चार्ट में यह पर्सेंट 100% ज्यादा लिखा गया था।
- मीडिया में यह खबर आने के बाद राहुल ने चार्ट डिलीट कर दिया और एक नया चार्ट पोस्ट किया था, जिसमें कीमतों में बढ़ोत्तरी फीसदी की बजाय रुपयों में बताई गई थी।

गुजरात चुनाव 2017 वोटिंग: कांग्रेस की जीत को लेकर ये बोले अहमद पटेल

VIDEO: राहुल गांधी ने पिछले 10 दिन ट्विटर पर मोदी से सवाल किए। VIDEO: राहुल गांधी ने पिछले 10 दिन ट्विटर पर मोदी से सवाल किए।