• Home
  • National
  • after the Gujarat assembly poll results Congress began exercise to analyse the electoral outcome.
--Advertisement--

22 को गुजरात जाएंगे राहुल गांधी, पार्टी लीडर्स के साथ असेंबली इलेक्शन में हार की वजहों पर बातचीत करेंगे

गुजरात असेंबली इलेक्शन में मिली हार के बाद राहुल गांधी पहली बार इस राज्य का दौरा करने जा रहे हैं।

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 07:01 PM IST
चुनाव नतीजों के एनालिसिस के लिए कांग्रेस ने तीन दिन चलने वाली मीटिंग बुलाई है। बुधवार को इसका पहला दिन था। राहुल गांधी मीटिंग के आखिरी दिन यानी शुक्रवार को यहां पहुंचेंगे।- फाइल चुनाव नतीजों के एनालिसिस के लिए कांग्रेस ने तीन दिन चलने वाली मीटिंग बुलाई है। बुधवार को इसका पहला दिन था। राहुल गांधी मीटिंग के आखिरी दिन यानी शुक्रवार को यहां पहुंचेंगे।- फाइल

अहमदाबाद/नई दिल्ली. गुजरात असेंबली इलेक्शन में मिली हार के बाद राहुल गांधी पहली बार इस राज्य का दौरा करने जा रहे हैं। कांग्रेस प्रेसिडेंट 22 दिसंबर को गुजरात आ रहे हैं। इस दौरान वो पार्टी के बड़े लीडर्स के साथ हार की वजहों का एनालिसिस करेंगे। बता दें कि गुजरात में कांग्रेस ने लगातार छठी बार चुनाव हारा है। कांग्रेस के ज्यादातर बड़े नेता चुनाव हार गए हैं। हालांकि, 2012 के मुकाबले उनकी सीटें बढ़ी हैं।

तीन दिन होगा एनालिसिस

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, चुनाव नतीजों के एनालिसिस के लिए कांग्रेस ने तीन दिन चलने वाली मीटिंग बुलाई है। बुधवार को इसका पहला दिन था। राहुल गांधी मीटिंग के आखिरी दिन यानी शुक्रवार को यहां पहुंचेंगे। वे पार्टी के सीनियर लीडर्स के साथ बातचीत कर हार की वजहें जानने की कोशिश करेंगे।
- बुधवार को मीटिंग के पहले दिन जीते हुए विधायकों का वेलकम किया गया। इसके अलावा पार्टी के ओवरऑल परफॉर्मेंस पर भी विचार हुआ। कांग्रेस ने इस मीटिंग ‘चिंतन शिविर’ नाम दिया है। इस दौरान हर जिले में पार्टी के परफॉर्मेंस पर विचार किया जाएगा।

मीटिंग में और कौन से नेता?

- अशोक गहलोत कांग्रेस के गुजरात इंचार्ज हैं। वही, इस एनालिसिस को लीड कर रहे हैं। उनके अलावा भरत सिंह सोलंकी, शक्ति सिंह गोहिल और अर्जुन मोढवाडिया भी इस मीटिंग में हिस्सा ले रहे हैं।
- खास बात ये है कि भरतसिंह सोलंकी ने चुनाव लड़ा नहीं जबकि शक्ति सिंह और अर्जुन मोढवाडिया इलेक्शन हार गए। माना जाता है कि टिकट बंटवारे को लेकर पार्टी के कुछ नेता नाराज थे। इसकी वजह से कुछ कैंडिडेट हारे।
- भरत सिंह सोलंकी के मुताबिक- राहुल 22 को अहमदाबाद में हो रही इस मीटिंग में पहुंचेंगे। एनालिसिस में हिस्सा लेंगे और इसके बाद स्पीच देंगे।

लोकसभा इलेक्शन पर नजर

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, कांग्रेस इस चिंतन शिविर के जरिए 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी कर रही है। स्टेट पार्टी प्रेसिडेंट भरत सिंह सोलंकी ने भी माना कि पार्टी अब लोकसभा चुनाव की तैयारी करना चाहती है।
- पिछले विधानसभा चुनाव (2012) में पार्टी ने यहां 61 सीटें जीती थीं। इस बार उसे 77 सीटें मिलीं। कांग्रेस की सहयोगी भारतीय ट्राइबल पार्टी ने 2 और पार्टी के समर्थन से चुनाव जीतने वाले एक कैंडिडेट को मिलाकर यह टैली 80 हो जाती है। हालांकि, बहुमत के आंकड़े से वो फिर भी 12 सीट पीछे है।

भरतसिंह सोलंकी के मुताबिक- राहुल 22 को अहमदाबाद में हो रही इस मीटिंग में पहुंचेंगे। एनालिसिस में हिस्सा लेंगे और इसके बाद स्पीच देंगे।- फाइल भरतसिंह सोलंकी के मुताबिक- राहुल 22 को अहमदाबाद में हो रही इस मीटिंग में पहुंचेंगे। एनालिसिस में हिस्सा लेंगे और इसके बाद स्पीच देंगे।- फाइल