Hindi News »National »Latest News »National» He Spoke For More Than 1 Hour But Didnt Speak A Word On Rafale Deal Or On Farmers Or On Employment For Youth. It Was A Totally Political Speech : Rahul Gandhi

हमने PM से तीन सवाल पूछे, वो राफेल डील पर भी कुछ नहीं बोले: लोकसभा में मोदी की स्पीच पर राहुल

राहुल गांधी ने मीडिया से बातचीत में कहा- मुझे लगता है कि मोदी जी ये भूल गए हैं कि अब वो प्रधानमंत्री हैं।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Feb 07, 2018, 02:30 PM IST

  • हमने PM से तीन सवाल पूछे, वो राफेल डील पर भी कुछ नहीं बोले: लोकसभा में मोदी की स्पीच पर राहुल, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    राहुल ने कहा- लोकसभा में मोदी जी ने सियासी स्पीच दी। वो कांग्रेस पर ही बोलते रहे।

    नई दिल्ली.लोकसभा में प्रधानमंत्री की करीब डेढ़ घंटे की स्पीच के बाद राहुल गांधी ने सदन के बाहर एक बार फिर उन पर तंज कसते हुए सवाल पूछे। राहुल ने कहा- मोदी जी सदन में एक घंटे से ज्यादा वक्त तक बोले। लेकिन, राफेल डील, किसान और युवाओं को रोजगार के मुद्दे पर एक शब्द भी नहीं कहा। यही हमारे तीन सवाल हैं। यह पूरी तरह सियासी स्पीच थी। वो कांग्रेस पर ही बोलते रहे। राहुल ने मोदी पर तंज कसा। कहा- वो भूल गए हैं कि अब वो पीएम हैं। उन्हें सवाल नहीं पूछने। सवालों के जवाब देने हैं। बता दें कि पीएम ने बुधवार को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर अपना पक्ष रखा।

    हमारे पास तीन सवाल

    - राहुल ने कहा, “हम मोदी जी से आज प्राइम मिनिस्टर का भाषण सुनना चाहते थे। दो-तीन सवाल है हमारे पास। एक तो आंध्र प्रदेश का मुद्दा था, जो हमने उठाया। दूसरा- जो हमने कई बार बोला है कि राफेल डील में कुछ ना कुछ तो गलत हुआ है। प्रधानमंत्री जी से हमने तीन सवाल पूछे हैं।”

    - “आज वो एक घंटे से ज्यादा बोले। राफेल डील पर एक शब्द नहीं बोले। राजनीतिक भाषण दिया। कैंपेन स्पीच की। मगर जो देश के सामने मुद्दे हैं, रोजगार का मुद्दा है। उनके बारे में पीएम ने कुछ नहीं कहा। बंगाल की बात कर रहे हैं। कर्नाटक की बात कर रहे हैं। मोदी जी ने देश के युवाओं को दो करोड़ रोजगार देने का वादा किया था। और 24 घंटे में 450 युवाओं को रोजगार मिलता है। इसके बारे में नरेंद्र मोदी जी ने एक शब्द नहीं कहा।”

    ‘किसानों पर भी चुप रहे’

    - “किसानों की बात, किसानों को कर्ज देने की बात, किसानों के कर्ज माफ करने की बात....प्रधानमंत्री जी मधुमक्खी और बांस की बात कर रहे हैं। हमने किसानों को बंबू दे दिया और मधुमक्खी डाल दी। बांस और मधुमक्खी की नहीं किसानों की बात है। उन्हें सही दाम देने की बात है, उनकी रक्षा की बात है। पीएम ने इसके बारे में नहीं बोला। हर बार भाषण होता है कांग्रेस के बारे में, कांग्रेस पार्टी के नेताओं के बारे में। और नरेंद्र मोदी जी के बारे में।”
    -“देश के सामने तीन-चार मुद्दे हैं। किसानों को कैसा भविष्य मिलेगा? युवाओं को रोजगार मिलेगा? राफेल डील में चोरी हुई है- हां या ना? क्लियरली बता देना चाहिए। आपने कॉन्ट्रेक्ट बदला पेरिस में जाके। आपने कैबिनेट कमेटी ऑन सिक्युरिटी से पूछा था? हां या ना? और आपने हवाई जहाज के लिए क्या दाम दिया?”

    रक्षा मंत्री पर भी सवाल

    - राहुल ने आगे कहा, “पहली बात रक्षा मंत्री जी कहती हैं कि भैया हम देश को नहीं बताएंगे। सबसे बड़ी डील हुई है। वायुसेना की रीढ़ की हड्डी है। और रक्षा मंत्री जी कहती हैं- हम नहीं बताएंगे। हमारा तो सीक्रेट है। हमने तो डील की है, देश को नहीं बताएंगे क्योंकि वो तो सीक्रेट डील है। शहीदों और एयर फोर्स का मामला है। एक शब्द नहीं बोला। हम सिर्फ सवाल पूछ रहे हैं। जवाब दीजिए।”

    - “ये बता दीजिए कि क्या आपने ये डील स्वयं बदली, हां या ना? पैसा कम दिया या ज्यादा दिया। और जो मंजूरी आपको लेनी थी, वो ली या नहीं। हां या ना? सवाल बहुत आसान है, मगर जवाब नहीं मिल रहा है। और देश को ये समझना है कि पीएम ने भ्रष्टाचार पर आक्रमण की बात की थी। राफेल डील में भ्रष्टाचार हुआ है और प्रधानमंत्री जी उन लोगों की रक्षा कर रहे हैं जिन्होंने भ्रष्टाचार किया है।”

    मोदी विपक्ष के नेता नहीं हैं

    - “मोदी जी भूल गए हैं कि वो पीएम हैं, विपक्ष के नेता नहीं। वो कांग्रेस की बात कर रहे हैं, ठीक है। लेकिन, ये (संसद की तरफ इशारा करते हुए) उसकी जगह नहीं है। आप पब्लिक मीटिंग में कीजिए। मगर यहां तो आपको देश को जवाब देना है। यहां आपको देश से सवाल नहीं पूछने हैं, यहां जवाब देना है।”

    कांग्रेस की डील से अच्छी हमारी डील: सरकार


    - राफेल डील पर जारी विवाद के बीच शुक्रवार को सरकार ने स्टेटमेंट जारी कर कहा कि कांग्रेस की समझौतों वाली डील से हमारी डील कई मायनों में बेहतर है। फिर चाहे वो पैसे की बात हो या क्षमता और उपकरणों की।
    - सरकार ने बताया- “इस बात पर जोर देना जरूरी है कि फ्रांस से 36 राफेल एयरक्राफ्ट इंटर-गवर्नमेंटल एग्रीमेंट के तहत खरीदे गए हैं, ताकि भारतीय एयरफोर्स की जरूरतों को तुरंत पूरा किया जा सके।
    - स्टेटमेंट में कहा गया है कि जो डील कांग्रेस 10 सालों में फाइनल नहीं कर पाई वो मौजूदा सरकार ने सिर्फ 1 साल में पूरी की है। सरकार ने विपक्ष की डील का खुलासा करने वाली मांग को भी बचकाना बताया।

    आगे की स्लाइड में पढ़ें: मोदी ने अपनी स्पीच में क्या कहा...

  • हमने PM से तीन सवाल पूछे, वो राफेल डील पर भी कुछ नहीं बोले: लोकसभा में मोदी की स्पीच पर राहुल, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    प्रधानमंत्री ने बुधवार को लोकसभा में कांग्रेस पर उसकी नीतियों को लेकर जमकर निशाना साधा। मोदी ने कहा कि एनपीए (बैंकों के डूबे कर्ज) के पीछे पुरानी सरकारें जिम्मेदार हैं।

    पीएम ने स्पीच में क्या कहा?

    - प्रधानमंत्री ने बुधवार को लोकसभा में कांग्रेस पर उसकी नीतियों को लेकर निशाना साधा। मोदी ने कहा कि एनपीए (बैंकों के डूबे कर्ज) के पीछे पुरानी सरकारें जिम्मेदार हैं। उन्होंने ऐसी नीतियां बनाई कि आपनों को फायदा मिलता था। बिचौलियों और बैंक अफसरों के जरिए निकाला गया रुपया कभी वापस नहीं लौटता था। प्रधानमंत्री बजट सेशन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बोल रहे थे।
    - इस दौरान कांग्रेस और विपक्ष राफेल डील समेत कई मुद्दों को लेकर नारेबाजी करते रहे। बता दें कि 29 जनवरी को राष्ट्रपति की स्पीच के साथ शुरू हुए सत्र में 1 फरवरी को आम बजट पेश किया गया था। लोकसभा और राज्यसभा में सोमवार से धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा शुरू हुई, माना जा रहा है कि इसे गुरुवार को स्वीकार कर लिया जाएगा।

    सही नीतियां बनाते तो देश कहीं और होता'

    - मोदी ने कांग्रेस से कहा, "अगर आपकी नीयत साफ होती और सही नीतियां बनाई होतीं तो देश आज कहीं और पहुंच चुका होता। कांग्रेस को यही लगता है कि देश का उदय 15 अगस्त 1947 को हुआ। उसके पहले देश का अस्तित्व ही नहीं था। इसे नासमझी कहूं क्या कि देश को कांग्रेस ने और नेहरू ने लोकतंत्र दिया। मैं पूछना चाहता हूं कि आप लोकतंत्र की बात करते हैं। हमारा देश में जब बुद्ध परंपराएं थी, तब भी लोकतंत्र की गूंज थी।"

    'खड़गे जी जगद्गुरु बश्वेश्वर जी का तो सम्मान करो’

    - "खड़गे जी कम से कम एक परिवार की भक्ति करके शायद आपकी जगह यहां बची रहे, कम से कम जगदद्गुरु बश्वेश्वर जी का तो अपमान न करो। उन्होंने 12वीं सदी में लोकतंत्र और महिला सशक्तिकरण की शुरुआत की थी। यह हमारी रगों में है। बिहार के लिचवी साम्राज्य में भी लोकतांत्रिक व्यवस्था थी।"

    'हमें लोकतंत्र का पाठ मत पढ़ाइए'

    -"आपकी पार्टी के नेता ने गुजरात चुनाव से पहले कहा क्या मुगलकाल में चुनाव होते थे और आप लोकतंत्र की बात करते हैं। जिस नेहरू जी के नाम पर आप लोकतंत्र की बात करते हैं और राजीव गांधी ने आंध्र प्रदेश के एक दलित सीएम का सरेआम अपमान किया था। इसके बाद एनडी रामाराव को फिल्म क्षेत्र छोड़कर राजनीति में आना पड़ा था। उन्होंने टीडीपी बनाई।"
    - "आप देश को गुमराह कर रहे हो। जब आत्मा की आवाज उठती है तो कांग्रेस का लोकतंत्र डोल जाता है। कांग्रेस जानती है कि उन्होंने संजीव रेड्डी को राष्ट्रपति चुनाव में हराया, वो भी आंध्र प्रदेश से आते थे।"
    - "आपके नेता कैबिनेट के फैसले को मीडिया के सामने फाड़ देते हैं। कृपया हमें लोकतंत्र का पाठ मत पढ़ाइए।"

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×