Hindi News »National »Latest News »National» Railways To Deploy Drones To Monitor Projects

ड्रोन से होगी रेलवे के ट्रैक मेंटेनेंस और प्रोजेक्ट्स की मॉनीटरिंग, क्राउड मैनेजमेंट भी करेगा UAV

आने वाले वक्त में रेलवे के प्रोजेक्ट्स की निगरानी ड्रोन करेंगे।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 08, 2018, 05:37 PM IST

  • ड्रोन से होगी रेलवे के ट्रैक मेंटेनेंस और प्रोजेक्ट्स की मॉनीटरिंग, क्राउड मैनेजमेंट भी करेगा UAV, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    ट्रैक मेंटेनेंस और दूसरे इन्फ्रास्ट्रक्चर की मॉनीटिरिंग के लिए रेलवे ड्रोन का इस्तेमाल करेगा। - सिम्बॉलिक इमेज

    नई दिल्ली. आने वाले वक्त में रेलवे के प्रोजेक्ट्स की निगरानी ड्रोन करेंगे। रेलवे के मुताबिक ड्रोन (UAV/NETRA) का इस्तेमाल केवल प्रोजेक्ट्स की निगरानी के लिए नहीं, बल्कि कई तरह के रेलवे एक्टिविटीज की मॉनीटिरिंग के लिए किया जाएगा। सोमवार को जारी एक स्टेटमेंट में रेलवे ने इस बात की जानकारी दी। स्टेटमेंट के मुताबिक, "सभी जोनल रेलवे को इस तरह के ड्रोन कैमरा का इंतजाम करने के निर्देश दे दिए गए हैं। ये कदम सुरक्षा और क्षमता बढ़ाने के लिए टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल किए जाने के विजन के चलते उठाया गया है।"

    रेलवे में किस तरह की मॉनीटरिंग करेंगे ड्रोन?


    1) रिलीफ एंड रेस्क्यू ऑपरेशन
    2) प्रोजेक्ट्स
    3) इम्पॉर्टेंट वर्क्स
    4) ट्रैक मेंटेनेंस/कंडीशन मॉनीटिरिंग
    5) नॉन इंटरलॉकिंग वर्क्स
    6) क्राउड मैनेजमेंट
    7) स्टेशन यार्ड सर्वे

    ड्रोन मॉनीटरिंग से क्या फायदा होगा?
    - ट्रैक्स की सेफ्टी और मेंटेनेंस के अलावा दूसरे रेलवे इन्फ्रास्ट्रक्चर्स की ड्रोन के जरिए मॉनीटिरिंग से रियल टाइम जानकारी हासिल करना संभव हो सकेगा।

    सिग्नल फेल्योर से निपटने के लिए क्या तैयारी है?
    - कुछ दिन पहले रेलवे ने कहा था कि सिग्नल फेल होने की आशंकाओं को कम करने के लिए जल्द ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का इस्तेमाल किया जाएगा। रेलवे सिग्नल सिस्टम की रिमोट कंडीशनिंग और मॉनिटरिंग के जरिए ट्रेन ऑपरेशन्स को सही रखना चाहता है। एक ऑफिशियल के मुताबिक, फिलहाल इस सिस्टम का इस्तेमाल ट्रायल बेस पर किया जाएगा।

    अभी कहां ये सिस्टम लागू है?
    - ऑफिशियल के मुताबिक, "सिग्नल्स की रिमोट मॉनिटिरिंग अभी ब्रिटेन में होती है। सिस्टम 3G, 4G और हाईस्पीड मोबाइल जैसे वायरलेस मीडियम के जरिए ट्रांसफर किए गए डाटा का आकलन करता है। इन इनपुट्स से मिले डाटा के बेस पर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के जरिए सिग्नल फेलियर की भविष्यवाणी की जाती है। इसके आधार पर ऑटोमेटेड सेल्फ करेक्शन के साथ इन फेलियर्स से निपटने की स्ट्रैटजी तैयार की जाती है।"

  • ड्रोन से होगी रेलवे के ट्रैक मेंटेनेंस और प्रोजेक्ट्स की मॉनीटरिंग, क्राउड मैनेजमेंट भी करेगा UAV, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    ड्रोन के जरिए मॉनीटरिंग से रियल टाइम इन्फर्मेशन मिल सकेगा। - फाइल
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Railways To Deploy Drones To Monitor Projects
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×