Home | National | Latest News | National | rbi governor says Ready to be Neelakantha to drink poison for cleaning system

पीएनबी फ्रॉड: सिस्टम को क्लीन करने के लिए "नीलकंठ' बन जहर पीने को तैयार- आरबीआई गवर्नर ने कहा

पीएनबी में 12,672 करोड़ रुपए का फ्रॉड हुआ। नीरव मोदी और गीतांजलि जेम्स के मालिक मेहुल चौकसी मुख्य आरोपी हैं।

DainikBhaskar.com| Last Modified - Mar 14, 2018, 08:22 PM IST

1 of
rbi governor says Ready to be Neelakantha to drink poison for cleaning system
आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल ने बुधवार को गुजरात नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में कहा कि हम इम्तिहान और मुसीबत से सीखकर पहले से बेहतर हो रहे हैं। -फाइल

गांधीनगर. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) के गवर्नर उर्जित पटेल ने कहा कि सिस्टम को साफ करने के लिए अगर पत्थर खाने और नीलकंठ बनकर जहर पीने की जरूरत पड़ी तो हम उसके लिए भी तैयार हैं। पीएनबी फ्रॉड पर उन्होंने कहा, " हम सफर में आने वाले हर इम्तिहान और मुसीबत से सीखकर पहले से बेहतर हो रहे हैं।" पटेल बुधवार को यहां की गुजरात नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी में लेक्चर दे रहे थे। बता दें कि पीएनबी में 12,672 करोड़ रुपए का फ्रॉड हुआ है। हीरा कारोबारी नीरव मोदी और गीतांजलि जेम्स के मालिक मेहुल चौकसी मुख्य आरोपी हैं।

 

पीएनबी फ्रॉड पर क्या कहा आरबीआई गवर्नर ने, 5 प्वाइंट

 

1) हमें भी दर्द महसूस हो रहा है

- उर्जित पटेल ने कहा, "बैंकिंग सेक्टर में फ्रॉड और खामियों को लेकर हम (आरबीआई) भी गुस्से में हैं। हम दर्द महसूस कर रहे हैं। सरल भाषा में कहें तो बिजनेस से जुड़े लोगों ने फ्रॉड करके देश के भविष्य को लूटने जैसा काम किया है। आरबीआई इस नापाक साठ-गांठ को खत्म करने की पूरी कोशिश कर रही है।''

 

2) आरबीआई मंदार बनकर मंथन कर रही है
- "देश के क्रेडिट कल्चर को साफ-सुथरा बनाने के लिए आरबीआई मंदार पर्वत बनकर इंडियन इकाेनॉमी का समुद्र मंथन कर रही है। जब तक यह पूरा नहीं होता और देश के भविष्य को स्थिरता का अमृत नहीं मिल जाता, किसी न किसी को जहर पीना ही होगा। अगर अपने कर्तव्य को पूरा करने के लिए ऐसा करना पड़ा तो हम उसके लिए भी तैयार हैं। मैं चाहता हूं कि प्रमोटर और बैंक समुद्र मंथन में देवताओं की ओर रहें।''

 

3) सभी फ्रॉड्स पर रोक नहीं लगा सकते
- आरबीआई गवर्नर बोले, "पीएनबी फ्रॉड उजागर होने के बाद एक आम राय सामने आई कि आरबीआई को फ्रॉड को पकड़ना चाहिए था, लेकिन कोई भी बैंकिंग रेग्युलेटर सभी फ्रॉड्स पर रोक नहीं लगा सकता।"

 

4) बैंकों को आगाह किया था

- उन्होंने कहा, "2016 में आरबीआई ने साइबर जोखिम से ऑपरेशनल संकट पैदा होने को लेकर बैंकों को आगाह किया था। 3 सर्कुलर जारी किए गए थे, लेकिन बैंकों ने इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया। आरबीआई बैंकों के खिलाफ एक्शन लेगी, लेकिन यह बैंकिंग रेग्युलेशन एक्ट के तहत ही किया जा सकता है।" 

 

5) 8.5 लाख करोड़ स्ट्रेस्ड एसेट्स

- "बैड लोन एक बड़ा मुद्दा है, जिस पर फिर से फोकस किए जाने की जरूरत है। बैंकों के बहीखातों पर फिलहाल 8.5 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा स्ट्रेस्ड एसेट्स दर्ज हैं। उन्होंने कहा कि पहले स्ट्रेस्ड लोन के नियम नरम थे। अब एनपीए के समय सीमा के भीतर रिजॉल्यूशन की जरूरत है, जिससे बैंकों के विशेषाधिकारों पर लगाम लग सके।"

 

क्या है पीएनबी घोटाला?
- पीएनबी ने फरवरी में सीबीआई को 12,672 करोड़ रुपए के घोटाले के जानकारी दी। घोटाला मुंबई की ब्रेडी हाउस ब्रांच में हुआ। 2011 से 2018 के बीच हजारों करोड़ की रकम 297 फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (LoUs) के जरिए विदेशी अकाउंट्स में ट्रांसफर की गई। बैंक फ्रॉड में हीरा कारोबारी नीरव मोदी और गीतांजलि जेम्स के मालिक मेहुल चौकसी मुख्य आरोपी हैं। दोनों देश छोड़ कर भाग चुके हैं।

rbi governor says Ready to be Neelakantha to drink poison for cleaning system
पीएनबी घोटाला मुंबई की ब्रेडी हाउस ब्रांच में हुआ। -फाइल
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now