• Home
  • National
  • Major Abhijeet injured in Sunjuwan Terror Attack recovered
--Advertisement--

सुंजवान अटैक के 4 दिन बाद होश में आए मेजर अभिजीत, सबसे पहले पूछा- आतंकियों का क्या हुआ?

शनिवार को जम्मू के सुंजवान आर्मी कैम्प पर हुए टेररिस्ट अटैक में घायल मेजर अभिजीत 4 दिन बाद होश में आए।

Danik Bhaskar | Feb 13, 2018, 03:15 PM IST
सुंजवान अटैक में घायल हुए मेजर अभिजीत ने कहा कि मुझे नहीं मालूम पिछले 3-4 दिनों में क्या हुआ। सुंजवान अटैक में घायल हुए मेजर अभिजीत ने कहा कि मुझे नहीं मालूम पिछले 3-4 दिनों में क्या हुआ।

नई दिल्ली. शनिवार को जम्मू के सुंजवान आर्मी कैम्प पर हुए टेररिस्ट अटैक में घायल मेजर अभिजीत 4 दिन बाद होश में आए। होश में आने के बाद मेजर ने जो पहला सवाल पूछा, वो था- आतंकियों का क्या हुआ? मेजर ने कहा कि मुझे वहां जाने दो। बता दें कि 10 फरवरी को हुए इस अटैक में 6 आर्मी पर्सन शहीद हुए थे, एक सिविलयन की भी जान गई थी। आर्मी ने 3 आतंकियों को मार गिराया था।

आतंकी हमले में हौसले की 3 मिसालें

1# मेजर अभिजीत
- अटैक में मेजर अभिजीत घायल हो गए थे। उन्हें मंगलवार को होश आया। उधमपुर कमांड हॉस्पिटल के मेजर जनरल नदीप नैथानी ने कहा, "उनका (मे. अभिजीत) का हौसला बेहद मजबूत था। सर्जरी के तुरंत बाद उन्होंने पूछा कि आतंकवादियों का क्या हुआ। वे वहां जाने को भी तैयार थे।"
- मेजर अभिजीत ने कहा, "मैं बहुत बेहतर महसूस कर रहा हूं। मैं डॉक्टरों से बात कर रहा हूं। मैं बैठने और दिन में दो बार चल सकता हूं। मुझे नहीं पता कि पिछले 3-4 दिन में क्या हुआ?"

2# शहीद सूबेदार मदनलाल
- हमले में सूूबेदार मदनलाल शहीद हो गए थे। सोमवार को उनका अंतिम संस्कार किया गया। उनके लेफ्टिनेंट बेटे अंकुश चौधरी ने सेना की वर्दी में सलामी दी।
- अंकुश ने कहा, "मुझे अपने पिता पर गर्व है, सीने में दो गोली लगने के बाद भी वे नहीं रुके। मैं उनका आधा भी कर पाया तो मेरे लिए गर्व की बात होगी।”
- जब आतंकी कैंप में घुसे तब मदनलाल अपने क्वार्टर में ही थे। आतंकी फायरिंग करते हुए उनके घर में घुसने लगे। मदनलाल के पास कोई हथियार नहीं था। इसके बावजूद वो आतंकियों से भिड़ गए। उन्हें सीने में 2 गोलियां लगीं। मौके पर ही उनका निधन हो गया। उनकी बहादुरी की वजह से घर में मौजूद परिवार के 4 लोग बच गए।

3# राइफलमैन की पत्नी
- हमले के वक्त आर्मी कैम्प के क्वॉर्टर में राइफलमैन नजीर अहमद अपनी गर्भवती पत्नी शाहजादा खान को हॉस्पिटल ले जाने की तैयारी कर रहे थे। इसी दौरान आतंकी फायरिंग करने लगे। नजीर और उनकी पत्नी को गोलियां लगीं। शाहजादा को लोअर बैक में गोलियां लगी थीं। उन्हें एयरलिफ्ट करके मिलिट्री हॉस्पिटल ले जाया गया।
- डॉक्टर्स ने कहा कि लोअर बैक में गोलियां लगने की वजह से केस मुश्किल हो गया था और बच्चे की पल्स भी डाउन हो रही थीं। लेकिन, डॉक्टर्स ने रातभर सेफ डिलिवरी के लिए मशक्कत की। शाहजादा ने प्रिमेच्योर बच्ची को जन्म दिया, मां और बच्ची दोनों स्वस्थ हैं।

रक्षा मंत्री बोलीं- पाक को कीमत चुकानी होगी

- रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार शाम सुंजवान अटैक पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि हमलों के पीछे मास्टरमाइंड जैश-ए-मोहम्मद का चीफ अजहर मसूद है, जिसे वहां पर सपोर्ट मिलता है। उन्होंने कहा कि आतंकियों को सीमा पार से हैंडलर्स निर्देश दे रहे थे।

- सीतरमण ने कहा, "सबूत इकट्ठा किए जा रहे हैं। लेकिन, पाकिस्तान को सबूत देना एक लगातार चलने वाली प्रक्रिया है। ये हर बार साबित हुआ है कि वे ही जिम्मेदार हैं। पाकिस्तान को इस हरकत की कीमत चुकानी होगी।"

हमले में 6 आर्मी पर्सन शहीद, 1 सिविलियन की जान गई

- सूबेदार मदन लाल चौधरी
- सूबेदार मोहम्मद अशरफ मीर
- हवलदार हबीबुल्लाह कुरैशी
- नायक मंजूर अहमद
- लांस नायक मोहम्मद इकबाल

- हवलदार राकेश चंद्रा

- लांस नायक मो. इकबाल के पिता (सिविलियन)

ये भी पढ़ें-

1) मोदी का 56 इंच का सीना एक झूठ, 70 सालों में ये सबसे कमजोर सरकार: कश्मीर में आतंकी हमलों पर आजाद
2) श्रीनगर CRPF कैंप हमला: सिक्युरिटी फोर्स ने 32 घंटे बाद लश्कर के 2 आतंकियों को मार गिराया
3) सुंजवान अटैक: पाक को हमले की कीमत चुकानी होगी, वहां बैठा मसूद है मास्टरमाइंड- रक्षा मंत्री

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने आर्मी हॉस्पिटल में घायलों से मुलाकात की। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने आर्मी हॉस्पिटल में घायलों से मुलाकात की।
शहीद सूबेदार मदनलाल को अंतिम विदाई देते उनके बेटे लेफ्टिनेंट अंकुश चौधरी। शहीद सूबेदार मदनलाल को अंतिम विदाई देते उनके बेटे लेफ्टिनेंट अंकुश चौधरी।
सुंजवान अटैक में घायल शाहजादा ने बच्ची को जन्म दिया। सुंजवान अटैक में घायल शाहजादा ने बच्ची को जन्म दिया।