Hindi News »National »Latest News »National» SC Judges Controversy: Hope To Resolved Issue In 2-3 Days - Attorney General & Bar Association

SC जज विवाद: प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले जजों से 15 मिनट तक मिले CJI, AG बोले- जल्द सुलझेगा मामला

12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट के 4 सीनियर जजों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चीफ जस्टिस के तौर-तरीके पर सवाल उठाए थे।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 16, 2018, 03:27 PM IST

  • SC जज विवाद: प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले जजों से 15 मिनट तक मिले CJI, AG बोले- जल्द सुलझेगा मामला, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    SCBA के प्रेसिडेंट विकास सिंह ने कहा कि इस हफ्ते के अंत तक मामले के सुलझ जाने की संभावना है। (फाइल)

    नई दिल्ली. प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले सुप्रीम कोर्ट के 4 सीनियर जजों से मंगलवार को चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया ने मुलाकात की। ये मुलाकात करीब 15 मिनट तक चली। इससे पहले अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल और सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन ने कहा कि मामले को जल्द सुलझा लिया जाएगा। सोमवार को वेणुगोपाल बोले थे कि मामले को सुलझा लिया गया है। ये महज प्याले में आए तूफान की की तरह है। 12 जनवरी को जस्टिस चेलमेश्वर, जस्टिस कुरियन जोसेफ, जस्टिस रंजन गोगोई और जस्टिस मदन बी लोकुर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चीफ जस्टिस के कामकाज के तरीकों पर सवाल उठाए थे।


    इसी हफ्ते मामला सुलझ सकता है

    - न्यूज एजेंसी के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन (SCBA) के प्रेसिडेंट विकास सिंह ने कहा कि इस हफ्ते के अंत तक मामले के सुलझ जाने की संभावना है।
    - "जब हम रविवार को चीफ जस्टिस से मिले तो लगा था मामला सुलझ गया है। सीजेआई को भी लगता है कि मामला एक हफ्ते में सुलझ जाएगा और सब कुछ सामान्य हो जाएगा।''
    - क्या 4 चार सीनियर जजों या चीफ जस्टिस से बात हुई, इस पर वेणुगोपाल ने कहा कि हमारी कोई बात नहीं हुई। कुछ दिनों में सब ठीक होने की संभावना है।

    जजों की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर SCBA ने क्या कहा था?

    - सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन की भी शनिवार को मीटिंग हुई। एसोसिएशन के प्रेसिडेंट विकास सिंह ने कहा था, "हम इस मामले का जल्द से जल्द निपटारा चाहते हैं। हमारा प्रपोजल है कि अब जनहित याचिकओं के मामलों की सुनवाई चीफ जस्टिस को दी जाए या 5 जजों की कॉलेजियम को सौंपी जाए। हमने सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन की एक इमरजेंसी मीटिंग बुलाई है। चारों जजों का खुलेआम मीडिया के सामने आना काफी गंभीर बात है।"

    सीजेआई ने कॉन्स्टीट्यूशनल बेंच बनाई, 4 सीनियर जज शामिल नहीं

    - उधर, चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में चल रहे अहम मामलों की सुनवाई के लिए कॉन्स्टीट्यूशन बेंच का गठन किया।
    - आधिकारिक जानकारी के मुताबिक, बेंच में केसों के अलॉटमेंट और SC के कामकाज पर सवाल उठाने वाले चार सीनियर जजों को जगह नहीं दी गई है। हालांकि, इन जजों ने सोमवार को कोर्ट अटेंड किया था, जिसके बाद बार काउंसिल ऑफ इंडिया (BCI) ने कहा था कि विवाद खत्म हो गया है।

    कॉन्स्टीट्यूशन बेंच में कौन-कौन शामिल?

    - CJI दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली कॉन्स्टीट्यूशन बेंच में जस्टिस एके सीकरी, जस्टिस एएम खानविलकर, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ और जस्टिस अशोक भूषण शामिल किए गए हैं। ये बेंच 17 जनवरी से अहम मामलों की सुनवाई शुरू करेगी।

    प्रेस कॉन्फ्रेंस में क्या बोले थे सीनियर जज?

    - 12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों ने अभूतपूर्व कदम उठाया। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के बाद दूसरे नंबर के सीनियर जज जस्टिस जे चेलमेश्वर, रंजन गोगोई, मदन बी लोकुर और कुरियन जोसेफ ने मीडिया में 20 मिनट बात रखी। दो जज बोले, दो चुप ही रहे।
    - जस्टिस चेलमेश्वर ने चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के तौर-तरीकों पर सवाल उठाए। कहा- "लोकतंत्र दांव पर है। ठीक नहीं किया तो सब खत्म हो जाएगा।" चीफ जस्टिस को दो महीने पहले लिखा 7 पेज का पत्र भी जारी किया। इसमें कहा गया है कि चीफ जस्टिस पसंद की बेंचों में केस भेजते हैं। चीफ जस्टिस पर महाभियोग के सवाल पर बोले कि यह देश तय करे। उन्होंने जज लोया की मौत के केस की सुनवाई पर भी सवाल उठाए।

    जजों ने चीफ जस्टिस पर क्या आरोप लगाए?

    1.चीफ जस्टिस ने अहम मुकदमे पसंद की बेंचों को सौंप दिए। इसका कोई तर्क नहीं था। यह सब खत्म होना चाहिए। कोर्ट में केस अलॉटमेंट की मनमानी प्रॉसेस है।
    2. जस्टिस कर्णन पर दिए फैसले में हममें से दो जजों ने अप्वाइंटमेंट प्रॉसेस दोबारा देखने की जरूरत बताई थी। महाभियोग के अलावा अन्य रास्ते भी खोलने की मांग की थी।
    3. कोर्ट ने कहा था कि एमओपी में देरी न हो। केस संविधान पीठ में है, तो दूसरी बेंच कैसे सुन सकती है? कॉलेजियम ने एमओपी मार्च 2017 में भेजा पर सरकार का जवाब नहीं आया। मान लें कि वही एमओपी सरकार को मंजूर है।

  • SC जज विवाद: प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले जजों से 15 मिनट तक मिले CJI, AG बोले- जल्द सुलझेगा मामला, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    सुप्रीम कोर्ट के 4 सीनियर जजों ने चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के तौर-तरीकों पर सवाल उठाए थे। (फाइल)
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: SC Judges Controversy: Hope To Resolved Issue In 2-3 Days - Attorney General & Bar Association
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×