Hindi News »National »Latest News »National» Siddheshwar Swamiji Of Vijaypur Declining To Accept The Padma Shri Award Written Letter To Modi

सिद्धेश्वर स्वामी ने लौटाया पद्मश्री; मोदी को लिखा- संन्यासी हूं, अवॉर्ड ज्यादा पसंद नहीं

आध्यात्मिक गुरु सिद्धेश्वर स्वामी ने पद्मश्री अवॉर्ड वापस कर दिया है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 28, 2018, 02:19 PM IST

  • सिद्धेश्वर स्वामी ने लौटाया पद्मश्री; मोदी को लिखा- संन्यासी हूं, अवॉर्ड ज्यादा पसंद नहीं, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    सिद्धेश्वर स्वामी को वॉकिंग गॉड ऑफ नॉर्थ कर्नाटक भी कहा जाता है। (फाइल)

    नई दिल्ली. आध्यामिक गुरु सिद्धेश्वर स्वामी ने पद्मश्री अवॉर्ड वापस कर दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे लेटर में उन्होंने कहा कि वे संन्यासी हैं, लिहाजा उन्हें अवॉर्ड्स ज्यादा पसंद नहीं हैं।

    शुक्रिया कि मुझे इस लायक समझा गया

    - सिद्धेश्वर स्वामी ने लेटर में लिखा, "इस बात के लिए भारत सरकार का बहुत आभारी हूं कि मुझे पद्मश्री देने के लिए चुना गया। इसके लिए मैं सरकार और आपका सम्मान करता हूं।''
    - "मैं एक संन्यासी हूं, लिहाजा मुझे अवॉर्ड में ज्यादा इंटरेस्ट नहीं है। मैं इसे स्वीकार नहीं कर सकता। उम्मीद है आप मेरे इस फैसले से खुश होंगे।''

    क्या बोले सिद्धेश्वर?

    - सिद्धेश्वर स्वामी को वॉकिंग गॉड ऑफ नॉर्थ कर्नाटक और बुद्दीजी कहा जाता है। उन्होंने कहा कि मैंने अपनी जिंदगी में कभी भी कोई पुरस्कार स्वीकार नहीं किया। कुछ साल पहले कर्नाटक यूनिवर्सिटी ने भी मुझे डॉक्टरेट की उपाधि दी थी। मैंने उसे लेने से भी मना कर दिया। पुरस्कार लेने से मना करने का मकसद किसी तरह की राजनीति नहीं है।

    इलैयाराजा-धोनी समेत कई हस्तियों को दिए गए थे पद्म अवॉर्ड

    - 25 जनवरी को सरकार ने पद्म पुरस्कारों का एलान किया था। इसमें म्यूजिशियन इलैयाराजा को पद्म विभूषण और महेंद्र सिंह धोनी को पद्म भूषण सम्मान दिया गया।
    - ज्यादातर नाम ऐसे लोगों के हैं, जिन्होंने अपने क्षेत्रों में अभूतपूर्व काम किया, लेकिन इनके बारे में ज्यादा लोग नहीं जानते। इन्हीं में अफोर्डेबल एजुकेशन के लिए अरविंद गुप्ता और गोंड आर्ट के लिए भज्जू श्याम जैसे नाम भी शामिल हैं।
    - इस साल 15,700 से ज्यादा लोगों ने पद्म अवॉर्ड के लिए ऑनलाइन नॉमिनेशन फाइल किए थे। जबकि 2016 में यह संख्या 18 हजार से ज्यादा थी।

    - पद्म पुरस्कारों का एलान हर साल गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर किया जाता है। पिछले साल 89 अवॉर्ड दिए गए थे।
    - बता दें कि आजादी के बाद से पिछले साल तक कुल 4417 हस्तियों को देश के प्रतिष्ठित अवॉर्ड दिए जा चुके हैं।

  • सिद्धेश्वर स्वामी ने लौटाया पद्मश्री; मोदी को लिखा- संन्यासी हूं, अवॉर्ड ज्यादा पसंद नहीं, national news in hindi, national news
    +1और स्लाइड देखें
    रविवार को मोदी ने मन की बात में कहा कि सरकार ने पद्म पुरस्कारों की प्रोसेस ही बदल दी है। अब कोई भी किसी भी व्यक्ति को नॉमिनेट कर सकता है। (फाइल)
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Siddheshwar Swamiji Of Vijaypur Declining To Accept The Padma Shri Award Written Letter To Modi
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×