• Home
  • National
  • Students demand jobs in railway block tracks in Mumbai news and updates
--Advertisement--

मुंबई: रेलवे में नौकरी की मांग को लेकर ट्रैक पर बैठे छात्र, ट्रेनों की आवाजाही ठप

छात्रों से बात करने के लिए पुलिस और रेलवे के अधिकारी ट्रैक्स पर पहुंच चुके हैं।

Danik Bhaskar

Mar 20, 2018, 10:11 AM IST
छात्रों ने दादर से माटुंगा के बीच रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया है, जिससे लाखों यात्रियों को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। छात्रों ने दादर से माटुंगा के बीच रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया है, जिससे लाखों यात्रियों को दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

मुंबई. रेलवे में नौकरी की मांग को लेकर मुंबई में पटरियों का घेराव करने वाले छात्रों पर पुलिस ने अलग-अलग धाराओं में केस दर्ज किया है। जानकारी के मुताबिक, मामले से जुड़े दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार भी किया है। बता दें कि मंगलवार सुबह ही छात्रों की भीड़ ने माटुंगा से दादर जाने वाली रेल लाइन पर कब्जा कर लिया था, जिससे लोकल और एक्सप्रेस ट्रेनों की आवाजाही पर असर पड़ा था। पुलिस ने भीड़ को हटाने के लिए हल्का बल प्रयोग भी किया था, लेकिन छात्रों ने उनपर पत्थरबाजी कर दी थी। हालांकि, रेल मंत्री पीयूष गोयल और वरिष्ठ अधिकारियों के समझाने के बाद छात्रों ने वापस लौट गए थे।

छात्रों से जल्द की जाएगी बात: पीयूष गोयल
- रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि छात्रों ने विरोध प्रदर्शन खत्म कर दिया है। जल्द ही उनसे आगे की बात की जाएगी। इसके अलावा उन्होंने छात्रों से 31 मार्च तक चलने वाली भर्ती प्रक्रिया में हिस्सा लेने के लिए भी कहा।
- उन्होंने जोर देते हुए कहा, “रेलवे में भर्ती का सिलसिला बड़े स्तर पर जारी है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के मुताबिक, भारतीय रेलवे ने भर्ती प्रक्रिया को निष्पक्ष और पारदर्शी रखा है।”

छात्रों ने क्यों किया आंदोलन?
- दरअसल, अलग-अलग राज्यों के करीब 500 छात्रों ने भारतीय रेलवे के अप्रेंटिस प्रोग्राम में हिस्सा लिया था। इन छात्रों की मांग थी कि उन्हें रेलवे में स्थाई नौकरी मिले। इसी मांग को लेकर छात्र सुबह करीब 6:45 बजे रेल पटरियों पर बैठ गए, जिससे 4 घंटे के लिए मुंबई की लाइफलाइन मानी जाने वाली रेल सेवा रुक गई।

छात्रों का आरोप- अधिकारी नहीं सुनते बात
- प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने पोस्टर लेकर रेलवे के खिलाफ नारे लगाए। उन्होंने मांग की कि सरकार उन्हें नौकरी दे।
- प्रदर्शन करने वाले छात्रों ने बताया कि रेलवे में पिछले 4 सालों से कोई भर्ती नहीं हुई। एक छात्र ने कहा, “रेलवे की देरी की वजह से अबतक करीब 10 लोग सुसाइड कर चुके हैं। हम ऐसा कतई नहीं होने देंगे।”
- वहीं एक और छात्र ने कहा, “हम इससे पहले डीआरएम से भी मिल चुके हैं, लेकिन कोई भी अधिकारी हमारी बात नहीं सुनता।”

फडणवीस ने दिया भरोसा- रेल प्रशासन और छात्रों की बातचीत शुरू
- महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने विधानसभा में भरोसा दिलाया है कि छात्रों और रेल प्रशासन के बीच बातचीत शुरू हो चुकी है। उन्होंने बताया कि रेलवे ने अप्रेंटिसशिप पूरी करने वाले छात्रों का रिजर्वेशन कोटा 10 से बढ़ाकर 20% कर दिया है।

4 घंटे रूकी रही रेल सेवा

- छात्रों के प्रदर्शन के चलते मुंबई की लाइफलाइन मानी जाने वाली लोकल सेवा लगभग 4 घंटों के लिए थम गई। माटुंगा और दादर स्टेशन के बीच चलने वाली लोकल्स और एक्सप्रेस ट्रेन पटरियों पर भीड़ के चलते जहां-तहां रोक दी गईं।

- इन प्रदर्शनों के चलते मुंबई रेल से सफर करने वाले लाखों यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

प्रदर्शन की वजह से लोकल और एक्सप्रेस जहां-तहां खड़ी रहीं। प्रदर्शन की वजह से लोकल और एक्सप्रेस जहां-तहां खड़ी रहीं।
Click to listen..