Hindi News »National »Latest News »National» SC Asks Maharashtra Government To Give Justice B H Loya Report To Petitioners

जस्टिस बीएच लोया केस: सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार से कहा- पिटीशनर्स को रिपोर्ट सौंपें

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को जस्टिस बीएच लोया की मौत की जांच कराए जाने की पिटीशंस पर सुनवाई की।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 16, 2018, 09:43 PM IST

  • जस्टिस बीएच लोया केस: सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार से कहा- पिटीशनर्स को रिपोर्ट सौंपें, national news in hindi, national news
    +2और स्लाइड देखें
    1 दिसंबर 2014 को नागपुर में कलीग की बेटी की शादी में जाते वक्त हार्ट अटैक से जस्टिस लोया कीहो गई थी।

    नई दिल्ली.सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को जस्टिस बीएच लोया की मौत की जांच कराए जाने की पिटीशंस पर सुनवाई की। महाराष्ट्र सरकार ने जस्टिस अरुण मिश्रा और जस्टिस एमएम शांतानागौदर की बेंच के सामने केस से जुड़ी रिपोर्ट रखीं। बेंच ने कहा, "ये ऐसा मामला है, जिसमें पिटीशनर्स को सबकुछ पता होना चाहिए। रिपोर्ट पिटीशनर्स को सौंपी जाएं।" SC इस मामले की सुनवाई अगले हफ्ते करेगी। बता दें कि 12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट के 4 सीनियर जजों ने जस्टिस लोया की मौत की जांच किए जाने की पीटीशन की सुनवाई का मसला भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में उठाया था। सीबीआई के स्पेशल जज बीएच लोया की मौत 1 दिसंबर 2014 को नागपुर में हुई थी।

    SC से महाराष्ट्र सरकार ने क्या कहा?

    - महाराष्ट्र सरकार ने SC के सामने जस्टिस लोया की पोस्टमॉर्टम समेत दूसरी रिपोर्ट्स रखीं।
    - महाराष्ट्र सरकार की ओर से सीनियर एडवोकेट हरीश साल्वे ने कहा, "इन रिपोर्ट्स में कुछ गोपनीय जानकारियां भी हैं, जिन्हें पब्लिक में जारी नहीं किया जा सकता है और इसलिए इन्हें पिटीशनर्स को नहीं दिया जा सकता है।"
    - बता दें कि एक जर्नलिस्ट और कांग्रेस लीडर ने जस्टिस लोया की जांच स्वंतत्र रूप से सुप्रीम कोर्ट के सीनियर जज से कराए जाने की मांग की है।

    रिपोर्ट्स को लेकर SC ने क्या कहा?

    - SC की बेंच ने कहा कि ये ऐसा मामला है, जिसमें पिटीशनर्स को सबकुछ पता होना चाहिए। एक हफ्ते के भीतर सभी डॉक्युमेंट्स उन्हें दिए जाएं।
    - साल्वे ने कहा कि पिटीशनर्स के वकील को डॉक्युमेंट्स दिखाए जा सकते हैं, लेकिन उन्हें कोर्ट को ये भरोसा दिलाना होगा कि वे उसे पब्लिक नहीं करेंगे।

    कैसे हुई थी जस्टिस लोया की मौत?

    - लोया 1 दिसंबर 2014 को नागपुर में अपने कलीग की बेटी की शादी में जा रहे थे, तभी हार्ट अटैक से उनकी मौत हो गई थी।

    जज की मौत पर संदेह क्यों?

    - पिछले साल नवंबर में लोया की मौत के हालात पर उनकी बहन ने शक जाहिर किया। इसके तार सोहराबुद्दीन एनकाउंटर से जोड़े गए। इसके बाद यह केस मीडिया की सुर्खियां बना।

    जस्टिस लोया की फैमिली का क्या कहना है?

    - जस्टिस लोया के बेट अनुज लोया ने रविवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की, जिसमें उन्होंने कहा था, "पिछले कुछ दिनों से मीडिया में रिपोर्ट आ रही हैं। इन मीडिया रिपोर्ट्स को लेकर मैं साफ कर देना चाहता हूं कि मेरा परिवार तकलीफों में है। मैं आप लोगों से गुजारिश करता हूं कि हमें परेशान ना करें। मुझे पिता की मौत को लेकर कोई शक नहीं है। मुझे शुरुआत में थोड़ा शक था,लेकिन अब नहीं है।"

    लोया के केस की सुनवाई पर क्या कहा था SC के 4 जजों ने?

    - सुप्रीम कोर्ट के चार सीनियर जज जस्टिस जे चेलमेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन भीमराव लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसफ 12 जनवरी को एक साथ मीडिया के सामने आए थे। उन्होंने कहा था कि सुप्रीम कोर्ट का एडमिनिस्ट्रेशन ठीक से काम नहीं कर रहा है और चीफ जस्टिस की ओर से ज्युडिशियल बेंचों को सुनवाई के लिए केस मनमाने ढंग से दिए जा रहे हैं। इससे ज्युडिशियरी के भरोसे पर दाग लग रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि अगर इंस्टीट्यूशन को ठीक नहीं किया गया तो लोकतंत्र खत्म हो जाएगा।

    - जस्टिस लोया का केस जस्टिस अरुण मिश्रा की बेंच को सौंपे जाने पर भी सवाल उठाया था।

  • जस्टिस बीएच लोया केस: सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार से कहा- पिटीशनर्स को रिपोर्ट सौंपें, national news in hindi, national news
    +2और स्लाइड देखें
    जस्टिस लोया के बेटे अनुज ने कहा था कि पिता की मौत को लेकर उन्हें किसी तरह का शक नहीं है। - फाइल
  • जस्टिस बीएच लोया केस: सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार से कहा- पिटीशनर्स को रिपोर्ट सौंपें, national news in hindi, national news
    +2और स्लाइड देखें
    12 जनवरी को मीडिया के सामने सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों ने जस्टिस लोया का केस जस्टिस अरुण मिश्रा की बेंच को सौंपे जाने पर सवाल उठाया था। - फाइल
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: SC Asks Maharashtra Government To Give Justice B H Loya Report To Petitioners
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×