Hindi News »National »Latest News »National» Supreme Court Hears Petitions SIT Probe Justice Loya Death News And Updates

जस्टिस लोया मौत केस: SC ने HC से 2 पिटीशन अपने पास ट्रांसफर कीं, 2 फरवरी को होगी सुनवाई

जस्टिस लोया सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस की सुनवाई कर रहे थे। उनकी मौत पर उनकी बहन ने शक जाहिर किया था।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 22, 2018, 03:50 PM IST

  • जस्टिस लोया मौत केस: SC ने HC से 2 पिटीशन अपने पास ट्रांसफर कीं, 2 फरवरी को होगी सुनवाई, national news in hindi, national news
    +3और स्लाइड देखें
    जस्टिस लोया सीबीआई स्पेशल कोर्ट के जज थे। वे सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस की सुनवाई कर रहे थे। -फाइल

    नई दिल्ली.सुप्रीम कोर्ट ने जस्टिस बीएच लोया की मौत के मामले में हाईकोर्ट में चल रही सुनवाई पर रोक लगा दी है। बॉम्बे हाईकोर्ट में दायर 2 पिटीशंस अपने पास ट्रांसफर कर ली हैं। अपने आदेश में कहा है कि अब इस केस से जुड़े सभी मामलों की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में ही होगी। केस की अगली सुनवाई 2 फरवरी को होगी। सुप्रीम कोर्ट में मामले में एसआईटी जांच की मांग को लेकर दायर की गईं दो पिटीशंस पर सुनवाई कर रहा था। जस्टिस लोया गुजरात के सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस की सुनवाई कर रहे थे। 2014 में उनकी मौत हो गई थी। पिछले साल उनकी बहन ने अपने भाई की मौत पर शक जाहिर किया था।

    अमित शाह पर आरोप न लगाएं

    कोर्ट ने वकीलों से कहा है कि वे इस मामले में बीजेपी प्रेसिडेंट अमित शाह पर आरोप न लगाएं, वे इसमें पार्टी नहीं हैं।

    'पिटीशन में उठाए मुद्दे गंभीर'

    - सुप्रीम कोर्ट ने इस केस में दायर पिटीशंन में उठाए गए मुद्दों को गंभीर बताया। साथ ही कहा, "हमें इन सभी दस्तावेजों को बेहद गंभीरता से देखना ही होगा।"

    - सुप्रीम कोर्ट ने सभी पक्षों से इस केस से जुड़े डाक्युमेंट्स पेश करने को कहा है। इन्हें 2 फरवरी को जांचा जाएगा।

    महाराष्ट्र सरकार का दावा- हार्ट अटैक से ही हुई थी मौत

    इस दौरान महाराष्ट्र सरकार ने कहा कि मीडिया रिपोर्ट्स के बाद 4 ज्यूडिशियल अफसरों की निगरानी में केस की बड़ी सावधानी से जांच कराई गई। कोई गड़बड़ी सामने नहीं आई। तीन जजों की बेंच ने बयान दर्ज किए और कहा कि जस्टिस लोया की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई थी।

    महिला वकील पर नाराज हुए CJI
    इस केस की सुनवाई के दौरान वकील इंदिरा जयसिंह ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट मीडिया के बोलने पर बंदिशें लगा रहा है। इस पर चीफ जस्टिस नाराज हो गए। उन्होंने वकील को अपने शब्द वापस लेने और माफी मांगने को कहा।

    SC में किसने दायर की हैं पिटीशंस?

    - बीआर लोन, जर्नलिस्ट: उनका कहना है कि लोया की रहस्यमयी मौत की जांच कराने की जरूरत है, ताकि सच दुनिया के सामने आ सके।

    - तहसीन पूनावाला, कांग्रेस लीडर: उनका कहना है कि जज की मौत "सवालों के घेरे में, संदेहास्पद और विरोधाभासी है।" इसकी जांच कराई जानी चाहिए।

    कैसे हुई थी जस्टिस लोया की मौत?

    - लोया 1 दिसंबर 2014 को नागपुर में अपने कलीग की बेटी की शादी में जा रहे थे, तभी हार्ट अटैक से उनकी मौत हो गई थी।

    जज की मौत पर संदेह क्यों?
    - पिछले साल नवंबर में लोया की मौत के हालात पर उनकी बहन ने शक जाहिर किया। इसके तार सोहराबुद्दीन एनकाउंटर से जोड़े गए। इसके बाद यह केस मीडिया की सुर्खियां बना।

    क्या है सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस?
    - सीबीआई के मुताबिक गुजरात के आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) ने सोहराबुद्दीन शेख और उसकी पत्नी कौसर बी को उस वक्त अगवा कर लिया था जब वे हैदराबाद से महाराष्ट्र के सांगली जा रहे थे।

    - नवंबर 2005 में गांधीनगर के करीब उसकी कथित फर्जी एनकाउंटर में हत्या कर दी गई। यह दावा किया गया कि शेख के पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के साथ संबंध थे।

    - पुलिस ने दिसंबर 2006 में मुठभेड़ के चश्मदीद गवाह और शेख के साथी तुलसीराम प्रजापति की भी कथित तौर पर गुजरात के बनासकांठा जिले के चपरी गांव में हत्या कर दी। अमित शाह तब गुजरात के गृह राज्यमंत्री थे। उन पर दोनों घटनाओं में शामिल होने का आरोप था।

    अमित शाह समेत कई आरोपी हो चुके बरी?
    - सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस को 2012 में सुप्रीम कोर्ट ने महाराष्ट्र की ट्रायल कोर्ट में ट्रांसफर कर दिया था। 2013 में सुप्रीम कोर्ट ने प्रजापति और सोहराबुद्दीन शेख के केस को एक साथ जोड़ दिया।

    - पहले इस केस की सुनवाई जज जेटी उत्पत कर रहे थे, लेकिन 2014 में अचानक उनका तबादला कर दिया गया था और फिर केस की सुनवाई जज बीएच लोया ने की।

    - सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस में बीजेपी के प्रेसिडेंट अमित शाह, राजस्थान के गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया, राजस्थान के बिजनेसमैन विमल पाटनी, गुजरात पुलिस के पूर्व चीफ पीसी पांडे, एडीजीपी गीता जौहरी, गुजरात पुलिस के ऑफिसर अभय चूडासम्मा और एनके अमीन को बरी किया जा चुका है। पुलिस अफसरों समेत कुल 23 आरोपी के खिलाफ अभी भी जांच चल रही है।

  • जस्टिस लोया मौत केस: SC ने HC से 2 पिटीशन अपने पास ट्रांसफर कीं, 2 फरवरी को होगी सुनवाई, national news in hindi, national news
    +3और स्लाइड देखें
    सुप्रीम कोर्ट में दायर की गईं पिटीशंस में जस्टिस लोया की मौत की जांच एसआईटी से कराने की मांग की गई है।
  • जस्टिस लोया मौत केस: SC ने HC से 2 पिटीशन अपने पास ट्रांसफर कीं, 2 फरवरी को होगी सुनवाई, national news in hindi, national news
    +3और स्लाइड देखें
    जस्टिस लोया की मौत मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अगुआई वाली बेंच कर रही है।
  • जस्टिस लोया मौत केस: SC ने HC से 2 पिटीशन अपने पास ट्रांसफर कीं, 2 फरवरी को होगी सुनवाई, national news in hindi, national news
    +3और स्लाइड देखें
    14 जनवरी को जस्टिस लोया के बेटे अनुज ने कहा था कि उनके पिता की मौत संदिग्ध नहीं थी, कृपया हमें परेशान ना करें।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए India News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Supreme Court Hears Petitions SIT Probe Justice Loya Death News And Updates
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From National

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×