Home | National | Latest News | National | We are not garbage collectors, SC tells Centre

हम कूड़ा बटोरने वाले नहीं: सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर केंद्र के 845 पेज के एफिडेविट पर SC

सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को केंद्र सरकार को सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर अधूरी जानकारी देने पर फटकार लगाई।

DainikBhaskar.com| Last Modified - Feb 06, 2018, 04:23 PM IST

1 of
We are not garbage collectors, SC tells Centre
SC ने ये एफिडेविट ऑन रिकॉर्ड लेने से मना कर दिया।

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को केंद्र सरकार को सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर अधूरी जानकारी देने पर फटकार लगाई। केंद्र ने देशभर में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट की जानकारी 845 पेज के एफिडेविट में फाइल की, लेकिन ये भी अधूरी थी। SC ने ये एफिडेविट ऑन रिकॉर्ड लेने से मना कर दिया और कहा कि सरकार उनके सामने कचरा नहीं फेंक सकती। 

 

सुप्रीम कोर्ट ने और क्या कहा?


1) हम इसे स्वीकार नहीं करेंगे
- जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस दीपक गुप्ता की बेंच ने कहा, "आप क्या करने की कोशिश कर रहे हैं? क्या आप हमें प्रभावित करने की कोशिश कर रहे हैं? हम प्रभावित नहीं हुए। आप सबकुछ हमारे सामने पटक देना चाहते हैं। हम इसे स्वीकार नहीं करेंगे।"

 

2) हमारे सामने कूड़ा ना पटकें
- बेंच ने कहा, "ऐसा ना करें। आपके पास जो भी कचरा होता है, आप उसे हमारे सामने पटक देते हैं। हम कूड़ा बटोरने वाले नहीं। इस बारे में कोई संशय मत रखिएगा।"

 

3) जब एफिडेविट में कुछ है नहीं, तो फाइल करने का क्या मतलब?
- "अगर एफिडेविट में कुछ नहीं है तो उसे फाइल करने का कोई मतलब नहीं है। हम इसे ऑन रिकॉर्ड नहीं ले रहे हैं। आपने इसे देखा नहीं और आप चाहते हैं कि हम इसे देखें।"


SC ने केंद्र को क्या निर्देश दिए थे?

- बेंच ने केंद्र से कहा था, "सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट रूल 2016 के प्रॉविजंस के आधार पर राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों ने स्टेट लेवल एडवाइजरी बोर्ड स्थापित किए हैं या नहीं, इसकी जानकारी का चार्ट तीन हफ्ते के भीतर फाइल करें। इसमें बोर्ड गठित किए जाने की तारीख, बोर्ड मेंबर्स के नाम और अगर कोई मीटिंग ली गई हो तो उसकी डिटेल भी दी जाए।"

 

केंद्र के एफिडेविट पर ऐसी टिप्पणी क्यों?
- केंद्र के वकील ने 845 पेज का एफिडेविट तो फाइल किया, लेकिन जब बेंच ने कुछ सवाल किए तो उनका जवाब नहीं दे पाए। 
- केंद्र के वकील ने कहा, "हमने 22 राज्यों से इन्फर्मेशन जुटाई हैं और उसे इकट्ठा किया है।" इसके बाद कोर्ट ने अपनी टिप्पणी की। 

 

वेस्ट मैनेजमेंट का रिकॉर्ड क्यों मांगा?
- 12 दिसंबर को बेंच ने डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों के चलते देश में होने वाली मौतों पर चिंता जाहिर की थी और कहा था कि वेस्ट मैनेजमेंट की कमी के चलते देश में कई लोगों की जान गई। इसके बाद केंद्र को सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर डिटेल देने के निर्देश दिए गए थे। 
- 2015 में 7 साल के बच्चे की डेंगू से मौत के मामले को बेंच ने खुद संज्ञान में लिया था। कथित तौर पर इस बच्चे के इलाज से 5 प्राइवेट हॉस्पिटल्स ने मना कर दिया था। इसके बाद बच्चे के माता-पिता ने खुदकुशी कर ली थी।

We are not garbage collectors, SC tells Centre
SC ने केंद्र को सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट पर डिटेल देने के निर्देश दिए थे। - फाइल
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now